डेविस कप : रामकुमार, युकी ने भारत को दिलाई 2-0 से बढ़त दिलायी

रामकुमार रामनाथन ने युकी भांबरी की सीधे सेटों में जीत के बाद शानदार फतह हासिल की जिससे भारत ने आज यहां एशिया ओसनिया ग्रुप एक डेविस कप मुकाबले के शुरूआती दिन न्यूजीलैंड के खिलाफ 2-0 की बढ़त हासिल कर ली। युकी हालांकि अपनी जीत में इतने चमकदार नहीं रहे लेकिन फिर भी उन्होंने फिन टीयर्ने को पहले एकल में सीधे सेटों में 6-4 6-4 6-3 से पराजित किया। इसके बाद रामकुमार शानदार रहे, उन्होंने दूसरे एकल मैच में जोस स्टाथम पर 6-3 6-4 6-3 से जीत दर्ज की।

डेविस कप : रामकुमार, युकी ने भारत को दिलाई 2-0 से बढ़त दिलायी

पुणे : रामकुमार रामनाथन ने युकी भांबरी की सीधे सेटों में जीत के बाद शानदार फतह हासिल की जिससे भारत ने आज यहां एशिया ओसनिया ग्रुप एक डेविस कप मुकाबले के शुरूआती दिन न्यूजीलैंड के खिलाफ 2-0 की बढ़त हासिल कर ली। युकी हालांकि अपनी जीत में इतने चमकदार नहीं रहे लेकिन फिर भी उन्होंने फिन टीयर्ने को पहले एकल में सीधे सेटों में 6-4 6-4 6-3 से पराजित किया। इसके बाद रामकुमार शानदार रहे, उन्होंने दूसरे एकल मैच में जोस स्टाथम पर 6-3 6-4 6-3 से जीत दर्ज की।

अनुभवी लिएंडर पेस अब राष्ट्रीय हार्डकोर्ट चैम्पियन विष्णु वर्धन के साथ कल मेजबान टीम को जीत दिलाने लिये युगल मैच खेलेंगे। पेस की निगाहें डेविस कप इतिहास में 43 युगल जीत के विश्व रिकार्ड पर लगी हैं। न्यूजीलैंड के दोनों खिलाड़ी टीयर्ने (414 रैंकिंग) और स्टाथम (417 रैंकिंग) शीर्ष 400 रैंकिंग के बाहर के थे लेकिन माइकल वीनस और आर्टेम सिटाक की जोड़ी काफी अनुभवी युगल खिलाड़ी हैं और कल इनके भारतीय जोड़ी के सामने कड़ी चुनौती पेश करने की संभावना है।

रामकुमार पिछले कुछ समय से फार्म से जूझ रहे थे, लेकिन आज उन्होंने बेहतरीन सर्विस दिखायी और लंबी रैलियों में संयम बरता जिससे मैच के परिणाम में काफी बड़ा अंतर आया। उन्होंने शुरूआती सेट महज आधे घंटे में ही अपने नाम कर लिया जिसमें उन्होंने चौथे गेम में एक सर्विस ब्रेक की जिससे वह 3-1 से आगे हो गये। लगातार अच्छी सर्विस और सटीक ग्रांउड स्ट्रोक्स से चेन्नई के इस लंबे कद के खिलाड़ी ने अपने से ज्यादा अनुभवी खिलाड़ी पर शुरूआती सेट से ही दबदबा बना दिया। 

रामकुमार ने इसमें तीन ऐस लगाये और काफी आत्मविश्वास से स्ट्रोक्स लगाये जिसमें उनकी चीखे भी शामिल थीं। उन्होंने कुछ बेहतरीन फोरहैंड क्रास कोर्ट विनर भी जमाये। पहले सेट में 3-1 की बढ़त के बाद वह अपने पहले डबल फाल्ट से अगले गेम में 30-30 से कुछ मुश्किल में थे। लेकिन उन्होंने तुरंत ही ऐस लगाकर 4-1 से बढ़त बना ली। अपनी सर्विस पर वह 5-3 से आगे थे, उन्होंने मैच का अपना तीसरा ऐस लगाकर सेट अपने नाम किया।

दूसरा सेट रामकुमार के लिये थोड़ा मुश्किल रहा, जिसमें उन्हें अपनी बड़ी सर्विस पर मशक्कत करनी पड़ी और कई बार पेचीदा हालात से निपटना पड़ा। लेकिन इस भारतीय ने अपनी सर्विस में 0-40 से पिछड़ने के बाद तीन ब्रेक प्वाइंट बचाये। उन्होंने चौथे गेम में अपनी दूसरा डबल फाल्ट किया और मैच के अपने चौथे ऐस से सर्विस बचायी। पांचवें ऐस से इस युवा ने 3-3 से बराबरी हासिल कर सातवें गेम में सर्विस तोड़कर 4-3 से बढ़त बनायी। इसके बाद कुछ मुश्किल के बाद 5-3 की बढ़त बनाये रखी।

रामकुमार ने 10वें गेम में अपनी सर्विस कायम रखकर 40 मिनट में दूसरा सेट अपने नाम कर 2-0 से बढ़त बना ली। तीसरे सेट में रामकुमार ने शानदार सर्विस रिटर्न और न्यूजीलैंड के खिलाड़ी की गलती से पांचवें गेम में स्टाथम की सर्विस तोड़ी। नौंवे गेम में भी उन्होंने 30-40 पर सर्विस तोड़ी और फिर मैच अपने नाम कर लिया।

इससे पहले दिल्ली के 24 वर्षीय खिलाड़ी भांबरी (368 रैंकिंग) पहले दो सेट में पिछड़ रहे थे लेकिन उन्होंने वापसी करते हुए वेलिंगटन के 26 वर्षीय प्रतिद्वंद्वी टीयर्ने दो घंटे 10 मिनट में हराया। भाबंरी ने पहला सेट 47 मिनट में जीता, वह 1-3 से पिछड़ रहे थे लेकिन फिर उन्होंने लगातार चार गेम अपने नाम करते हुए 5-3 से बढ़त बना ली। सातवें गेम में निर्णायक ब्रेक मिला। 

हालांकि टीयर्ने ने सेट में बने रहने के लिये अपनी सर्विस कायम रखी लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने 10वें गेम में फोरहैंड विनर से पहले सेट पर कब्जा किया। दूसरे सेट में भी भांबरी 0-2 से पिछड़ रहे थे लेकिन तेजी से उबरते हुए उन्होंने सेट जीतकर 2-0 से बढ़त बना ली और तीसरे सेट में दबदबा बनाया। उन्होंने पांचवें गेम में एक सर्विस ब्रेक हासिल किया।

भांबरी ने कई बार गलतियां की लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाड़ी ने लूज प्ले से शुरूआती बढ़त गंवा दी। भांबरी ने अपने मजबूत फोरहैंड से बेहतरीन ग्राउंड स्ट्रोक्स से इसका पूरा फायदा उठाया। बाद में सेट में भांबरी ने अच्छी सर्विस की और कुछ बेहतरीन रिटर्न से अपने प्रतिद्वंद्वी पर दबाव बना दिया। भांबरी का डेविस कप एकल में जीत हार का रिकार्ड 10-5 है जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी का जीत हार का रिकार्ड 2-0 था।