close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

समलैंगिक होने का खोला राज, अब दुती चंद के सामने परिवार का हिस्सा बने रहने की चुनौती

23 साल की दुती दुनिया की उन कुछ खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्होंने सार्वजनिक रूप से समलैंगिक रिश्ता स्वीकार किया है.

समलैंगिक होने का खोला राज, अब दुती चंद के सामने परिवार का हिस्सा बने रहने की चुनौती
हैदराबाद में ट्रेनिंग कर रही दुती ने कहा, ‘‘मेरे गांव की 19 साल की महिला से पिछले पांच साल से मेरा रिश्ता है. (फोटो साभार: Facebook)

नई दिल्ली: युवा रिश्तेदार के साथ समलैंगिक रिश्ते का खुलासा करने वाली भारत की सबसे तेज धाविका दुती चंद (Dutee Chand) के सामने अब अपने परिवार द्वारा स्वीकार किए जाने की कड़ी चुनौती है. एशियाई खेल 2018 में दो सिल्वर मेडल जीतने वाली 23 साल की दुती दुनिया की उन कुछ खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्होंने सार्वजनिक रूप से समलैंगिक रिश्ता स्वीकार किया है.

हैदराबाद में ट्रेनिंग कर रही दुती ने कहा, ‘‘मेरे गांव की 19 साल की महिला से पिछले पांच साल से मेरा रिश्ता है. वह भुवनेश्वर के कालेज में बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा है. वह मेरी रिश्तेदार है और मैं जब भी घर आती हूं तो उसके साथ समय बिताती हूं. वह मेरे लिए जीवन साथी की तरह हैं और भविष्य में हैं उसके साथ घर बसाना चाहती हूं.’’

एथलीट दुती चंद ने किया बड़ा खुलासा, ‘हां, मेरे समलैंगिक संबंध हैं’ फैंस ने दिए ऐसे रिएक्शन
सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल एतिहासिक फैसला सुनाते हुए आपसी सहमति से वयस्कों के बीच समलैंगिक रिश्तों को गैर आपराधिक करार दिया था, लेकिन ऐसे लोगों के बीच विवाह अब भी भारत में वैध नहीं है.

100 मीटर दौड़ में 11.24 सेकंड के समय के साथ राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक दुती ने कहा कि उनके माता पिता ने अब तक इस रिश्ते पर कोई आपत्ति नहीं जताई है, लेकिन उनकी सबसे बड़ी बहन ने उन्हें परिवार से बाहर करने के अलावा जेल भेजने की भी धमकी दी है.

बड़ी बहन का दबदबा
दुती ने कहा, ‘‘मेरे परिवार में मेरी बड़ी बहन का काफी दबदबा है. उसने मेरे बड़े भाई को घर से बाहर कर दिया, क्योंकि उसे उसकी पत्नी पसंद नहीं थी. उसने मुझे धमकी दी है कि मेरे साथ भी ऐसा ही होगा. लेकिन मैं भी वयस्क हूं जिसकी निजी स्वतंत्रता है. इसलिए मैंने इस रिश्ते को आगे बढ़ाने और सार्वजनिक करने का फैसला किया.’’

मुझे जेल भिजवा देगी
दुती ने कहा, ‘‘मेरी बड़ी बहन को लगता है कि मेरी जोड़ीदार की रुचि मेरी संपत्ति में है. उसने मुझे कहा कि इस रिश्ते के लिए वह मुझे जेल भिजवा देगी.’’

पार्टनर शादी के आजाद
दुती ने कहा कि अगर उनकी जोड़ीदार चाहे तो भविष्य में किसी के भी साथ विवाह करने के लिए स्वतंत्र है. साथ ही कहा कि वह अगले महीने विश्व विश्वविद्यालय खेलों में हिस्सा लेंगी और उन्हें इस साल होने वाली विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई करने की उम्मीद है. साथ ही उनका लक्ष्य अगले साल होने वाले ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का है.

पार्टनर का नाम नहीं बताया
इस धाविका ने अपनी पार्टनर का नाम नहीं बताया लेकिन कहा कि इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने उन्हें सार्वजनिक रूप से सामने आने का हौसला दिया. दुती ने कहा कि इस रिश्ते को सार्वजनिक करने का एक और कारण यह भी था कि वह नहीं चाहती थी कि धाविका पिंकी प्रमाणिक के साथ जो भी हुआ वह उनके साथ भी हो. पिंकी पर उनकी 'लिव इन पार्टनर' ने बलात्कार का आरोप लगाया था. आपको बता दें कि पिंकी 2006 एशियाई खेलों की चार गुणा 400 मीटर रिले में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय महिला टीम की सदस्य थीं.

(इनपुट-भाषा)