आधे बंद स्टेडियम में मैच खेलेगा इंग्लैंड, कहा- कुछ गड़बड़ हुई तो बीच में छोड़ देंगे मुकाबला

इंग्लैंड के स्ट्राइकर टैमी अब्राहम ने कहा कि अगर उनकी टीम को नस्लीय टिप्पणी का शिकार होना पड़ा तो वह मैदान छोड़ देगी.

आधे बंद स्टेडियम में मैच खेलेगा इंग्लैंड, कहा- कुछ गड़बड़ हुई तो बीच में छोड़ देंगे मुकाबला
इंग्लैंड के मैनेजर साउथगेट ने कहा था कि नस्लीय भेदभाव चिंता का विषय है और इससे निपटने के लिए रणनीति की जरूरत है. (फोटो: Reuters)

लंदन: फीफा और फुटबॉल टीमों की लगातार कोशिशों के बावजूद फुटबॉलरों पर नस्लीय टिप्पणी रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. इससे परेशान इंग्लैंड (England) की फुटबॉल टीम ने अनोखा निर्णय लिया है. इंग्लैंड के स्ट्राइकर टैमी अब्राहम (Tammy Abraham) ने साफ कर दिया है कि यूरो 2020 क्वालीफायर (Euro 2020 qualifiers) में अगर उनकी टीम को नस्लीय टिप्पणी का शिकार होना पड़ा तो वह मैदान छोड़ देगी. इंग्लैंड की टीम शुक्रवार को चेक गणराज्य और सोमवार को बुल्गारिया के खिलाफ आधे बंद स्टेडियम में मैच खेलेगी. ये मैच बुल्गारिया नेशनल स्टेडियम में होने हैं. 

बुल्गारिया के इस स्टेडियम को आधा बंद करने के आदेश यूईएफए (UEFA) ने दिए हैं. बुल्गारिया (Bulgaria) के प्रशंसकों ने जून में चेक गणराज्य और कोसोवो के खिलाफ खेले गए मैचों में नस्लीय टिप्पिणयां की थीं. इसी के बाद यूईएफए ने यह आदेश दिया है. 

यह भी पढ़ें: INDvsSA: पुणे में ‘कर्नल’ दिलीप और इंजी को पीछे छोड़ सकते हैं विराट कोहली

टैमी अब्राहम के हवाले से बीबीसी ने लिखा है, ‘अगर यह हममें से किसी एक के साथ भी होता है तो यह हम सभी के साथ होगा. हैरी केन ने यहां तक कह दिया है कि अगर हम खुश नहीं होंगे और हमारे खिलाड़ी खुश नहीं होंगे, तो हम एक साथ मैदान से बाहर आ जाएंगे.’
 

Tammy Abraham
इंग्लैंड के टैमी अब्राहम ईपीएल में चेल्सी के लिए खेलते हैं. (फोटो: Reuters) 

पिछले महीने इंग्लैंड के मैनेजर साउथगेट ने कहा था कि नस्लीय भेदभाव चिंता का विषय है और इससे निपटने के लिए रणनीति की जरूरत है. नस्लवाद को लेकर यूईएफए के तीन चरणों वाले प्रोटोकॉल के मुताबिक, अगर रैफरी के चेतावनी देने पर भी प्रशंसक खिलाड़ियों पर नस्लभेदी टिप्पणियां करना बंद नहीं करते तो रैफरी मैच को रद्द कर सकता है. 

अब्राहम ने कहा, ‘हमने इसे लेकर बात की है. हैरी केन ने कहा कि इस तीन चरणों वाले प्रोटोकॉल को इस्तेमाल करने के बजाए हम अपना फैसला ले सकते हैं. हम फैसला ले सकते हैं कि हम मैच नहीं खेलेंगे, चाहे जो भी स्कोर हो. अगर हम इससे खुश नहीं हों, तो एक टीम के तौर पर हम फैसला लेंगे कि हमें मैदान पर रहना है या नहीं.’

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.