चयन समिति पर भड़के भज्जी, कहा- धोनी फॉर्म में ना भी हो, तो भी होता है सलेक्शन

चयन समिति पर भड़के भज्जी, कहा- धोनी फॉर्म में ना भी हो, तो भी होता है सलेक्शन
चयन समिति पर भड़के भज्जी, कहा- धोनी फॉर्म में ना भी हो, तो भी होता है सलेक्शन (file photo)

नई दिल्लीः  लंबे अरसे से टीम इंडिया से बाहर चल रहे टर्बनेटर हरभजन सिंह आखिरकार फूट पड़े. एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में हरभजन सिंह ने बीसीसीआई चयन समिति पर सवाल उठाए है. चैंपियंस ट्रॉफी में सेलेक्शन नहीं होने पर हरभजन सिंह ने चयन समिति पर दोहरा रवैया अपनाने का आरोप लगाया है. हरभजन ने कहा है कि टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पिछले कई मैचों से फॉर्म में नहीं है. लेकिन उनका चयन किया जाता है? यही नहीं हरभजन सिंह ने आईपीएल 10 के फाइनल मुकाबले में प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं होने पर मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा को भी सवालों के घेरे में खड़ा किया. 

धोनी फॉर्म में न भी हो, तो भी होता सलेक्शन

टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर निशाना साधते हुए हरभजन सिंह ने कहा 'महेन्द्र सिंह धोनी ने अपनी बल्लेबाजी के अलावा टीम को बहुत कुछ दिया है, भले ही वो फॉर्म में न हो वैसी बल्लेबाजी न कर पा रहे हों लेकिन उनके प्रति चयनकर्ता अलग रवैया रखते हैं दूसरे के लिए अलग.  हम भी 19 सालों से खेल रहे हैं और भारत के लिए जीत-हार देख चुके हैं. मैंने भी दो विश्व कप जीते हैं. तो ऐसी तवज्जो केवल कुछ खिलाड़ियों के लिए हैं और दूसरों के लिए नहीं. हरभजन ने कहा- मेरा सवाल हैं क्यों और यह चयनकर्ताओं से पूछा जाना चाहिए. मैं अपनी तारीफ खुद नहीं करना चाहता लेकिन जितना क्रिकेट उन लोगों ने खेला है मैं भी उतना ही खेल को समझता हूं और मैं भी उनकी तरह अपने अनुभव बांट सकता हूं. हम भी अपने देश के लिए उसी तरह खेलना चाहते हैं. 

चैंपियंस ट्रॉफी में गंभीर को नहीं चुने जाने पर भी उठाए सवाल

ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर के को लेकर हरभजन का मानना है कि आईपीएल में गंभीर ने बल्ले से जिस तरह का प्रर्दशन किया उसे देखकर ऐसा लगा की उसे चैंपियंस ट्रॉफी की टीम में जगह मिल सकती है लेकिन ऐसा नहीं हो सका. उन्होंने कहा कि गंभीर लगातार घरेलू सत्र में रन बना रहे हैं, लेकिन उन्हें भी मौका नहीं दिया जा रहा है. यदि मेरी बात करें तो मैं जानता था कि यदि अश्विन फिट नहीं हुए तो मेरे नाम पर विचार हो सकता है. लेकिन उन्हें आइपीएल के दौरान विश्राम दिया गया और वह खेले तक नहीं. मैंने इसमें अच्छा प्रदर्शन किया. यहां तो मेरे नाम पर विचार तक नहीं किया गया. 

आईपीएल-10 के फाइनल में न खिलाए जाने का भी है मलाल

हरभजन ने चैनल से बात करते हुए कहा कि राइजिंग पुणे सुपरजाइंट के खिलाफ फाइनल मैच में उन्हें टीम की ओर से खेलने का मौका मिलना चाहिए था.  भज्जी ने प्लेइंग इलेवन पर न सिर्फ टीम मैनेजमेंट पर सवाल उठाए बल्कि कप्तान रोहित शर्मा पर भी निशाना साधा, भज्जी ने  सवाल उठाते हुए कहा, 'मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने कहा था कि मुंबई की ओर से आईपीएल में हरभजन की इकोनॉमी रेट 6.48 सबसे बेहतर है. ऐसे गेंदबाज को फाइनल मैच से बाहर रखने की रणनीति समझ से परे है.' इस फैसले पर सवाल उठाते हुए भज्जी ने कहा, 'स्वभाविक है कि यह फैसला मुझे निराश करने वाला था, मैं बेंच पर बैठकर मैच देख रहा था और इस फैसले पर कुछ भी नहीं कह पा रहा था.'

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.