इस मामले में महान कपिल देव से भी आगे निकलीं 'हरिकेन' हरमन

इस मामले में महान कपिल देव से भी आगे निकलीं 'हरिकेन' हरमन
कपिल देव के साथ हरमनप्रीत कौर (फोटोः इंस्टाग्राम)

नई दिल्लीः  आईसीसी महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप के दूसरे सेमीफाइलन मुकाबले में गुरुवार को भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया. पंजाब की हरमनप्रीत कौर ने भारतीय टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई. हरमनप्रीत ने नाबाद 171 रनों की पारी खेली. हरमनप्रीत कौर की शानदार पारी ने साल 1983 विश्व कप के उस मैच की याद दिला दी जिसे किसी ने भी टीवी पर नहीं देखा था.

ऑस्ट्रेलिया के 3 डरावने सपने : तेंदुलकर, लक्ष्मण और अब हरमनप्रीत कौर

गुरुवार को जिसने भी भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच डर्बी में हुई सेमीफाइनल मुकाबला देखा होगा, उसे एक पल के लिए ये एहसास जरूर हुआ होगा कि साल 1983 विश्वकप में जिंबाब्वे के खिलाफ खेली गई कपिल देव की नाबाद 175 रनों की पारी भी कुछ ऐसी ही होगी.

जानिए, सेमीफाइनल मैच की 'रॉकस्टार' हरमनप्रीत कौर का क्या है शाहरुख कनेक्शन...

आपको बता दें कि भारत-जिंबाब्वे विश्व कप 1983 का मैच बीबीसी की हड़ताल की वजह से टीवी पर प्रसारित नहीं हो सका था और ना ही इस मैच का अभी तक कोई वीडियो सामने आया है. इसलिए गुरुवार को हरमनप्रीत कौर की पारी ने कपिल की उस ऐतिहासिक पारी की याद दी लेकिन क्रिकेट के जानकारों की मानें तो कई मायने में हरमनप्रीत कौर की ये पारी कपिल देव की पारी से ज्यादा बेहतरीन थी. बल्कि स्ट्राइक रेट के मामले में तो हरमनप्रीत ने कपिल को पीछे छोड़ दिया. 

सचिन-विराट भी नहीं कर सके जो कमाल, हरमनप्रीत ने कर दिखाया

- कपिल देव ने नाबाद 175 रन 138 गेंदों पर बनाए थे, जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 126.81 रहा था. जबकि हरमनप्रीत कौर ने मात्र 115 गेंदों पर 171 रन बनाए वो भी 148.69 के स्ट्राइक रेट से

- कपिल देव ने अपनी पारी में 16 चौके और 6 छक्के लगाए, जबकि हरमनप्रीत कौर ने 20 चौके और 7 छक्के लगाए

- कपिल देव ने जिंबाब्वे के खिलाफ नाबाद 175 रन बनाए थे, जबकि हरमनप्रीत कौर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नाबाद 171 रन बनाए