close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ब्रैंड्स की नई फेवरिट बनीं एथलीट हिमा दास, रेस ने कुछ यूं बदल दी जिंदगी

हिमा के साथ करार करने के लिए करीब 10-12 ब्रैंड्स फिलहाल लाइन में मौजूद हैं.

ब्रैंड्स की नई फेवरिट बनीं एथलीट हिमा दास, रेस ने कुछ यूं बदल दी जिंदगी
हिमा दास के नाम के खुद अब अपने जूते भी उपलब्ध होंगे.

नई दिल्ली: वर्ल्ड अंडर-20 में 400 मीटर चैंपियन और एशियन गेम्स में 3 मेडल जीतने वाली हिमा दास आज भारतीय ब्रैंड्स की पंसद बन गई हैं. 18 साल की ही उम्र में हिमा की एक रेस ने पूरी ज़िंदगी बदल दी. हिमा को हाल ही में दुनिया की एक बड़े स्पोर्ट्स ब्रैंड ने अपना ब्रैंड एम्बैसेडर बनाया. खास बात ये है कि हिमा दास के नाम के खुद अब अपने जूते भी उपलब्ध होंगे.
 
हिमा के साथ करार करने के लिए करीब 10-12 ब्रैंड्स फिलहाल लाइन में मौजूद हैं. इससे पहले हिमा ने एक स्पोर्ट्स मैनेजमेंट फर्म के साथ एक बड़ा करार किया था. फ़िनलैंड के टैम्पेयर शहर में हुई रेस ने हिमा को एक नया मोड़ दिया है लेकिन हिमा मानती हैं कि इतने ग्लैमर और शोहरत के बाद भी हिमा में कोई बदलाव नहीं आया है. हिमा आज भी वहीं हैं, जो पहले थीं. हालांकि, पहले उनके पास खुद के लिए वक्त ज्यादा हुआ करता था लेकिन स्टार बनने के बाद वक्त की कमी उन्हें खलने लगी हैं.

किसान हैं माता-पिता
असम राज्य के नगांव जिले के कांधूलिमारी गांव से आने वाली हिमा के माता-पिता चावल की खेती करते हैं. कड़े संघर्ष के बाद हिमा आज इस मुकाम पर पहुंची हैं. ब्रैंड्स का मानना है कि हिमा का एटीट्यूड और पॉज़िटिविटी उन्हें सबसे अलग बनाती हैं. यही वजह है कि ब्रैंड्स को वो काफी आकर्षित कर रही हैं.  

EXCLUSIVE: मम्मी-पापा सो रहे थे और बिटिया हिमा दास ने फिनलैंड में लहरा दिया तिरंगा

असम सरकार ने दिया सम्मान
ब्रैंड्स के अलावा हिमा असम की भी स्पोर्ट्स एम्बैसेडर हैं. असम सरकार ने हिमा के देश वापस लौटने पर उनको सम्मानित करते हुए इसका ऐलान किया था. हिमा दास की हाल ही में अर्जुन अवॉर्ड के लिए सिफारिश भी की गई है. हिमा ने इसे भी अपने लिए एक बड़ा सम्मान बताया है.