श्रीलंका को हराकर टीम इंडिया 5वीं बार अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में

भारतीय टीम अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंच गई है। श्रीलंका को सेमीफाइनल में 97 रनों से हराकर भारतीय टीम फाइनल में पहुंची। भारतीय टीम ने 50 ओवर में 270 रनों की पारी खेली जबकि श्रीलंका की पूरी टीम 170 रन पर ढेर हो गई। भारत की तरफ से मयंक डागर ने तीन विकेट लिए।  

श्रीलंका को हराकर टीम इंडिया 5वीं बार अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में

नई दिल्ली: भारतीय टीम अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंच गई है। श्रीलंका को सेमीफाइनल में 97 रनों से हराकर भारतीय टीम फाइनल में पहुंची। भारतीय टीम ने 50 ओवर में 270 रनों की पारी खेली जबकि श्रीलंका की पूरी टीम 170 रन पर ढेर हो गई। भारत की तरफ से मयंक डागर ने तीन विकेट लिए।

तीन बार के चैम्पियन भारत आईसीसी अंडर 19 विश्व कप में अपना विजयी अभियान जारी रखते हुए आज यहां सेमीफाइनल में श्रीलंका को 97 रन से हराकर 5वीं बार फाइनल में जगह बनाई। भारत ने खराब शुरुआत से उबरते हुए नौ विकेट पर 267 रन बनाए और फिर गेंद से शानदार प्रदर्शन करते हुए श्रीलंका को 42.4 ओवर में 170 रन पर ढेर कर दिया। बल्लेबाजी में भारत के स्टार अनमोलप्रीत सिंह (92 गेंद में 72 रन) और सरफराज खान (70 गेंद में 59 रन) रहे। सरफराज ने टूर्नामेंट की 5 पारियों में अपना चौथा अर्धशतक जड़ा।

तीन बार का चैम्पियन भारत अब 14 फरवरी को होने वाले फाइनल में बांग्लादेश और वेस्टइंडीज के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से भिड़ेगा। टॉस हारने के बाद बल्लेबाजी करने उतरी भारत की शुरुआत खराब रही। रिषभ पंत (14) और कप्तान इशान किशन (07) की सलामी जोड़ी जल्द पवेलियन लौट गई जिससे 10वें ओवर में भारत का स्कोर दो विकेट पर 27 रन हो गया।

आसमान में छाए बादलों के बीच बल्लेबाजी आसान नहीं थी लेकिन अनमोलप्रीत और बेहतरीन फार्म में चल रहे सरफराज ने तीसरे विकेट के लिए 126 गेंद में 96 रन की साझेदारी करके पारी को संभाला। आईपीएल में खेल चुके सरफराज ने मोर्चा संभालते हुए अपनी पारी में छह चौके और एक छक्का जड़ा। इससे पहले वह टूर्नामेंट में 76, नाबाद 21, 74 और 74 रन की पारी खेल चुके हैं।

अनमोलप्रीत ने अपनी पारी में छह चौके और एक छक्का जड़ा। उन्होंेने सरफराज के आउट होने के बाद वाशिंगटन सुंदर :45 गेंद में 43 रन: के साथ भी 70 रन की साझेदारी की। अंतिम 10 ओवर में भारत ने तेजी से रन जुटाए। सुंदर के अलावा अरमान जाफर ने 16 गेंद में 29 जबकि मयंक डागर ने 10 गेंद में 17 रन की पारी खेलकर टीम को प्रतिस्पर्धी स्कोर तक पहुंचाया।

भारतीय गेंदबाजों ने इसके बाद श्रीलंका के बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दिया। भारत ने क्षेत्ररक्षण में कुछ मौके गंवाए लेकिन इसके बावजूद गेंदबाजों ने विरोधी टीम पर दबदबा बनाए रखा। बायें हाथ के स्पिनर डागर भारत के सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 21 रन देकर तीन विकेट हासिल किए।

टूर्नामेंट में भारत के सबसे सफल गेंदबाज अवेश खान (41 रन पर दो विकेट) ने पहले ही ओवर में अविषका फर्नांडो को पगबाधा आउट किया। कवीन बंदारा भी इसके बाद रन आउट हो गए जिससे चौथे ओवर में टीम का स्कोर दो विकेट पर 13 रन हो गया।

श्रीलंका के बल्लेबाज स्ट्राइक रोटेट करने में नाकाम रहे और नियमित अंतराल पर विकेट गिरने से रन गति बढ़ती चली गई। श्रीलंका ने 35वें ओवर में 133 रन तक छह विकेट गंवा दिए थे जिससे दूसरी बार फाइनल में जगह बनाने की उसकी उम्मीदें लगभग खत्म हो गई। कामिंदु मेंडिस (39) और शम्मू अशान (38) अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे।

स्कोर जानने के लिए क्लिक करें