मणिपुर में बनेगा देश का पहला राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय, राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

325 एकड़ में बनने वाले कैंपस की जमीन राज्य सरकार मुफ्त में देगी. विश्वविद्यालय के गठन से संबंधित विधेयक संसद में पेश किया जा चुका है.

मणिपुर में बनेगा देश का पहला राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय, राष्ट्रपति ने दी मंजूरी
राष्ट्रपति ने पहले राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय बनाने के अध्यादेश को मंजूरी दी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मणिपुर में देश के पहले राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय बनाने के केन्द्रीय मंत्रिमंडल के अध्यादेश को मंजूरी दे दी है. आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया गया, ‘राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय अध्यादेश, 2018 को राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद लागू कर दिया गया है. केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 23 मई को इम्फाल में पहले राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय बनाने की मंजूरी दी थी. 

विज्ञप्ति के मुताबिक ‘‘ राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय अध्यादेश , 2018 राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय विधेयक 2017 की तर्ज पर होगा जिसे 10 अगस्त 2017 को लोकसभा में पेश किया गया था. राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय विधेयक-2017 का लक्ष्य थोउबाल में एक राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय स्थापित करते हुए खेल शिक्षा और विज्ञान, खेल तकनीक तथा कोचिंग को प्रमोट करना है. विधेयक में इस बात का जिक्र है कि विशेषज्ञ विश्वविद्यालय अपने तरह का इकलौता होगा और यहां अंतरराष्ट्रीय मानक का प्रशिक्षण दिया जाएगा.

पीएम मोदी ने स्वीकार किया विराट कोहली का चैलेंज, कहा- जल्द देंगे 'जवाब'

बता दें कि 325 एकड़ में बनने वाले कैंपस की जमीन राज्य सरकार मुफ्त में देगी. विश्वविद्यालय के गठन से संबंधित विधेयक संसद में पेश किया जा चुका है. इसके लिए 524 करोड़ रुपये की मंजूरी भी दे दी गई है. 

मंत्रिमंडल के फैसलों के बारे में कानून रविशंकर प्रसाद ने बताया था कि इंफाल (पश्चिम) में विश्वविद्यालय स्थापित करने के लिए एक विधेयक पहले ही संसद में लंबित है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के अध्यादेश पर हस्ताक्षर करने के बाद चीजें तेजी से आगे बढ़ेंगी. अब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मणिपुर में देश के पहले राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय बनाने के केन्द्रीय मंत्रिमंडल के अध्यादेश को मंजूरी दे दी है.

VIDEO: खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने विराट कोहली, साइना नेहवाल को दिया 'पुश अप चैलेंज'!

मणिपुर सरकार ने पहले ही प्रस्तावित विश्वविद्यालय के लिए भूमि आवंटित कर दी है.  फिलहाल देश में कुछ संस्थान हैं जो एथलीट और कोच के लिए विभिन्न तरह के पाठ्यक्रम चलाते हैं. इसमें कहा गया था, ‘खेल विज्ञान, खेल प्रौद्योगिकी, उच्च प्रदर्शन वाले प्रशिक्षण जैसे विभिन्न क्षेत्रों में देश के खेल वातावरण में कमी है.’ इस खेल विश्वविद्यालय से इस कमी के पूरा होने की उम्मीद है.

मणिपुर में राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय स्थापित करने के प्रस्ताव की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी. इसके लिए साल 2014-15 के बजट में 100 करोड़ रुपए आवंटित किए गए थे.