अब 2032 ओलंपिक खेलों के लिए दावेदारी पेश करेगा भारत

भारत 2026 युवा ओलंपिक खेलों, 2030 एशियाई खेलों और 2032 ओलंपिक खेलों की मेजबानी के लिए दावेदार पेश करेगा.

अब 2032 ओलंपिक खेलों के लिए दावेदारी पेश करेगा भारत

नई दिल्ली : भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा ने कहा है कि भारत 2026 युवा ओलंपिक खेलों, 2030 एशियाई खेलों और 2032 ओलंपिक की मेजबानी के लिए दावेदारी पेश करेगा. बत्रा ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष थामस बाक और एशियाई ओलंपिक परिषद के अध्यक्ष और प्रभावशाली राष्ट्रीय ओलंपिक समितियों के संघ के प्रमुख शेख अहमद अल सबाह के साथ बैठक की और माना जा रहा है कि इस बैठक में इन खेलों की मेजबानी पर भी चर्चा हुई.

बत्रा ने कहा, ‘‘भारत 2026 युवा ओलंपिक खेलों, 2030 एशियाई खेलों और 2032 ओलंपिक खेलों की मेजबानी के लिए दावेदार पेश करेगा. हमें मेजबानी मिले या नहीं, हम इन खेलों के लिए दावेदारी पेश करेंगे.’ गौरतलब है कि भारत इससे पहले राष्ट्रमंडल खेलों, एशियाई खेलों और फीफा अंडर 17 विश्व कप जैसी बड़ी खेल प्रतियोगिताओं की मेजबानी सफलतापूर्वक कर चुका है.

योगी सरकार कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने वाले खिलाड़ियों को देगी 50 लाख

आईओए अध्यक्ष बाक ने हालांकि भारत की दावेदारी पर किसी भी तरह का आश्वासन देने से इनकार कर दिया. बाक ने कहा, ‘‘मैं सिर्फ इतना कहना चाहता हूं कि भारत में काफी क्षमता है और एक ना एक दिन भारत ओलंपिक की मेजबानी करेगा. लेकिन फिलहाल युवा ओलंपिक खेलों या ओलंपिक खेलों की दावेदारी के लिए कोई प्रक्रिया खुली नहीं है इसलिए इस बारे में कुछ भी कहना सही नहीं होगा.’

जिम्नास्टिक खिलाड़ी का टीम के डॉक्टर पर आरोप, 'कई बार किया उसने मेरा यौन शोषण'

ओलंपिक की मेजबानी के संदर्भ में उन्होंने कहा, ‘2028 ओलंपिक तक के मेजबान तय हो चुके हैं और किसी भी देश को मेजबानी का अगला मौका 2032 में ही मिल पाएगा जिसकी प्रक्रिया शुरू होने के अभी काफी समय है.’ उन्होंने कहा, ‘शीतकालीन ओलंपिक 2026 की मेजबानी की प्रक्रिया चल रही है, लेकिन मुझे नहीं लगता कि इसकी मेजबानी में भारत की कोई रुची होगी। दुनिया भर के कुछ ही देशों में इन खेलों का आयोजन किया जा सकता है और इन खेलों के लिए सात शहर/राष्ट्रीय ओलंपिक समितियों ने दावेदारी पेश की है और काफी अच्छा संकेत है.’