टेबल टेनिस: जूनियर और कैडेट ओपन में भारतीयों ने जीते 15 पदक

प्रतियोगिता में टीम स्पर्धा के मुकाबले जारी हैं और इसका समापन रविवार को होगा.

टेबल टेनिस: जूनियर और कैडेट ओपन में भारतीयों ने जीते 15 पदक
प्रतियोगिता में टीम स्पर्धा के मुकाबले जारी हैं और इसका समापन रविवार को होगा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली. भारतीय युवा टेबल टेनिस खिलाड़ियों ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शानदर प्रदर्शन जारी रखते हुए जॉर्डन में जूनियर एवं कैडेट ओपन में दो स्वर्ण सहित कुल 15 पदक अपने नाम किए. शुक्रवार को ही भारतीय खिलाड़ियों ने दो स्वर्ण, तीन रजत और 10 कांस्य पदक जीते.

लड़कियों की मिनी कैडेट एकल वर्ग में सुहाना सैनी ने साइप्रस की फोतिनी मेलेटी को 3-0 से मात देकर भारत के लिए पहला स्वर्ण पदक जीता. वहीं, लड़कों के युगल वर्ग में दीपित पाटिल और देव श्रौफ की जोड़ी ने ताइपे के सिन यु ली और गुआन रू वांग को 3-2 से हराकर देश को दूसरा स्वर्ण दिलाया.

लड़कों के एकल वर्ग के फाइनल में मानुष शाह को चीनी ताइपे के सिन सांग ली से 2-4 से हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा. शाह युगल वर्ग में भी जीत चंद्रा के साथ ईरान के एमिरेज अबासी और अमीन अहमदियन से हार गए.

लड़कों के मिनी कैडेट एकल वर्ग में ईरान के नाविद शम्स ने फाइनल में राजवीर शाह को 3-1 से पराजित किया और स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. लड़कियों के जूनियर वर्ग में प्राप्ति सेन और सेलेना सेल्वाकुमार की जोड़ी को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा. लड़कियों के कैडेट वर्ग में सवास्तिका घोष और निथ्या मणी को सेमीफाइनल में चीन की खिलाड़ी से शिकस्त झेलनी पड़ी और उन्हें कांस्य ही मिल पाया. प्रतियोगिता में टीम स्पर्धा के मुकाबले जारी हैं और इसका समापन रविवार को होगा.