बैन हटने के बावजूद रूसी खिलाड़ी नहीं खेल सकेंगे विंटर ओलंपिक, IOC से नहीं मिला ग्रीन सिग्नल

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने कहा है कि पिछले सप्ताह जिन 15 रूसी खिलाड़ियों के प्रतिबंध हटाये गए हैं, उन्हें प्योंगचांग शीतकालीन खेलों में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

बैन हटने के बावजूद रूसी खिलाड़ी नहीं खेल सकेंगे विंटर ओलंपिक, IOC से नहीं मिला ग्रीन सिग्नल
2014 में आयोजित सोच्चि विंटर ओलम्पिक समापन समारोह के दौरान रूस और ओलंपिक का झंडा. (Reuters File)

प्योंगचांग: अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने कहा है कि पिछले सप्ताह जिन 15 रूसी खिलाड़ियों के प्रतिबंध हटाये गए हैं, उन्हें प्योंगचांग शीतकालीन खेलों में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी. एक बयान में कहा गया,‘‘यह सर्वसम्मति से तय किया गया कि आईओसी शीतकालीन ओलंपिक के लिये इन खिलाड़ियों को न्यौता नहीं देगा.’ ये 15 खिलाड़ी उन 28 खिलाड़ियों में शामिल थे जिन पर डोपिंग के कारण आजीवन प्रतिबंध लगा था, लेकिन खेल पंचाट ने पिछले सप्ताह इन पर से प्रतिबंध हटा दिया. 

रूस के 28 खिलाड़ियों पर लगा ओलंपिक प्रतिबंध हटा
रूस के 28 खिलाड़ियों पर डोपिंग के कारण ओलंपिक में खेलने को लेकर लगा प्रतिबंध बीते 1 फरवरी को हटा दिया गया था, जिससे रूस में डोपिंग को लेकर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति की नीति विवादों के घेरे में आ गई. अंतरराष्ट्रीय खेल पंचाट ने कहा था कि इस बात के पुख्ता सबूत नहीं है कि रूस के 28 पदकधारियों ने सोच्चि में 2014 खेलों में डोपिंग विरोधी नियम तोड़े. अब ये खिलाड़ी नौ फरवरी से यहां हो रहे खेलों में भाग ले सकेंगे.  आईओसी रूस के 169 खिलाड़ियों को तटस्थ झंडे तले खेलने का न्यौता पहले ही दे चुका ह. अब उसे इन खिलाड़ियों को भी भागीदारी की अनुमति देनी होगी.

शीतकालीन ओलंपिक : सियोल ने आईओसी को सराहा

पुतिन ने डोपिंग से नहीं बचा पाने पर खिलाड़ियों से मांगी माफी
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने डोपिंग स्कैंडल से खिलाड़ियों को बचा पाने में असमर्थ रहने पर बीते 31 जनवरी को उनसे माफी मांगी थी. दक्षिण कोरिया में होने वाले शीतकालीन ओलंपिक में भाग ले रहे खिलाड़ियों से मुलाकात के दौरान पुतिन ने बड़ी संख्या में रूसी खिलाड़ियों को अयोग्य करार देने को ‘अजीब’ करार दिया था.  उन्होंने कहा, ‘आपको इससे बचा पाने में असमर्थता के लिये हमें माफ करें.’

IOC की चेतावनी, Boxing को ओलंपिक से किया जा सकता है बाहर

उन्होंने कहा था कि स्कैंडल के कारण खिलाड़ियों लिए ‘हालात काफी मुश्किल’ हो गए है. अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ ने पिछले शीतकालीन ओलंपिक खेलों में रूसी सरकार द्वारा प्रायोजित डोपिंग के आरोपों के बाद 2018 शीतकालीन ओलंपिक से रूस पर प्रतिबंध लगा दिया था. हालांकि इस नौ फरवरी से शुरू हो रहे 23वें शीतकालीन ओलंपिक में रूस के 169 खिलाड़ी भाग ले रहे है जो तटस्थ झंडे के तले खेलेंगे.

(इनपुट एजेंसी से भी)