Coronavirus: आईओसी ने कहा- 2021 में टोक्यो ओलंपिक में मनेगा इंसानियत की जीत का जश्न

Coronavirus: साल 2020 को ओलंपिक ईयर कहा जा रहा था. लेकिन कोरोना वायरस ने सारी तैयारियों पर पानी फेर दिया. अब ये खेल 2021 में होंगे.

 Coronavirus: आईओसी ने कहा- 2021 में टोक्यो ओलंपिक में मनेगा इंसानियत की जीत का जश्न
आईओसी अध्यक्ष थॉमस बाक और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे. (फोटो: Reuters)

नई दिल्ली: साल 2020 को ओलंपिक ईयर कहा जा रहा था. जापान की राजधानी में 24 जुलाई से ओलंपिक गेम्स (Tokyo Olympics) होने थे. लेकिन कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर ने सारी तैयारियों पर पानी फेर दिया है. अब टोक्यो में इस साल नहीं, अगले साल होंगे. इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी (आईओसी) के अध्यक्ष थॉमस बाक (Thomas Bach) टोक्यो ओलंपिक-2020 को टालने के फैसले में इंसानियत की जीत देखते हैं. उनका मानना है कि हो सकता है कि स्थगन कोई सटीक समाधान न हो, लेकिन एक बार जब पूरा विश्व कोरोना वायरस जैसी बीमारी से बाहर निकल आएग तब ये ओलंपिक गेम्स इंसानियत की जीत के जश्न की तरह होंगे. 

थॉमस बाक ने मंगलवार को जापान (Japan) के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से फोन पर बात की. इसके बाद दोनों ओलंपिक गेम्स एक साल के लिए स्थगित करने पर राजी हो गए. बाक ने कहा, "ओलंपिक से जो लोग जुड़े हैं, खिलाड़ियों की सुरक्षा और कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए हम ओलंपिक गेम्स को 2021 (Tokyo Olympics 2021) तक टालने को तैयार हुए हैं."

उन्होंने कहा, "इस समय पूरी इंसानियत पर एक अजीब तरह की अनिश्चित्ता है. हम एक अंधकार के समय में साथ हैं. हम नहीं जानते कि कल क्या होने वाला है. हम इस अंधकार के समय के अंत में ओलंपिक मशाल को चाहते हैं. इसलिए हमने ओलंपिक को स्थगित करने की मुश्किल चुनौती उठाई."

बाक ने कहा, "इसके लिए हमारे पास कोई ब्लूप्रिंट नहीं हैं. हमें इसे हकीकत बनाने के लिए किसी के सहयोग की जरूरत है क्योंकि इस धरती पर ओलंपिक सबसे मुश्किल आयोजन है. हम आप सभी को सर्वश्रेष्ठ स्थिति और सुरक्षित माहौल देना चाहते हैं. इसलिए हमें थोड़ा समय दीजिए कि हम इस मुश्किल स्थिति में से कैसे निकलें."

आईओसी (IOC) अध्यक्ष ने कहा, "आप इस बात को लेकर आश्वस्त हो सकते हैं कि आप अपने ओलंपिक सपने को पूरा करेंगे. जरा सोजिए हम सभी के लिए यह कितनी बड़ी बात होगी. जब हम कोरोना वायरस जैसी महामारी से निपट लेंगे तब यह ओलंपिक (Olympics 2021) खेल अंतत: इंसानियत की जीत के जश्न के तौर पर खेले जाएंगे."