एमएस धोनी चाहते हैं इस खिलाड़ी को खरीदना, अनिल कुंबले बोले नहीं खरीद पाएंगे

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच अनिल कुंबले ने नीलामी से पहले रविचंद्रन अश्विन को लेकर बड़ा बयान दिया है. कुंबले के मुताबिक चेन्नई सुपर किंग्स रविचंद्रन अश्विन को इस साल नहीं खरीद पाएगी. जबकि धोनी उन्हें अपनी आईपीएल की टीम में लेने की प्राथमिकता जाहिर कर चुके हैं. 

एमएस धोनी चाहते हैं इस खिलाड़ी को खरीदना, अनिल कुंबले बोले नहीं खरीद पाएंगे
अनिल कुंबले ने धोनी की उस इच्छा को पूरी होना नामुमकिन बताया है जिसमें वे अश्विन को अपनी टीम में लेना चाहते हैं (फाइल फोटो)

नई दिल्ली आईपीएल 2018 की नीलामी में अब कुछ ही समय बचा है. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच अनिल कुंबले ने नीलामी से पहले रविचंद्रन अश्विन को लेकर बड़ा बयान दिया है. कुंबले के मुताबिक चेन्नई सुपर किंग्स रविचंद्रन अश्विन को इस साल नहीं खरीद पाएगी. कुंबले ने कहा, ”चेन्नई की टीम अश्विन को खरीदने की कोशिश करेगी, लेकिन वह उन्हें खरीदने में सफल नहीं रहेंगे. ज्यादातर फ्रेंचाइजी नीलामी के दौरान अश्विन को खरीदने की कोशिश करेगी, वह टीम के लिए एक लीडर की भूमिका निभा सकते हैं और कुछ टीमों को अभी ऐसे खिलाड़ियों की सख्त जरूरत है. 

चेन्नई ने महेंद्र सिंह धोनी, सुरैश रैना और रविंद्र जडेजा को पहले ही रिटेन कर लिया है, ऐसे में अब वह अश्विन पर आरटीएम का इस्तेमाल भी नहीं कर पाएगी”. बता दें कि चेन्नई ने पहले ही तीन भारतीय खिलाड़ी को टीम में रिटेन कर लिया है, नियम के मुताबिक नीलामी के दौरान वह केवल दो विदेशी खिलाड़ियों पर आरटीएम का प्रयोग कर सकती है. कुंबले ने कहा, ”चेन्नई की कोशिश होगी कि पहले की तरह अश्विन और जडेजा की जोड़ी इस साल भी साथ रहे, लेकिन इस बार ऐसा होता काफी मुश्किल नजर आ रहा है”.

आईपीएल में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले रैना ने बताया, कब बने असली क्रिकेटर

कुंबले ने कहा, ”चेन्नई की टीम धोनी, रैना और जडेजा पर पहले ही काफी पैसे खर्च कर चुकी है. अब वो एक स्पिनर के लिए 4 या 5 करोड़ से ज्यादा खर्च करने की कोशिश नहीं करेगी. अश्विन की वैल्यू नीलामी में काफी ज्यादा होगी, उन पर हर फ्रेंचाइजी बली लगाएगी. ऐसे में चेन्नई के लिए उन्हें खरीदना आसान नहीं होगा”. 

महेंद्र सिंह धोनी ने यह साफ कर दिया है कि चेन्नई सुपर किंग्स स्टार स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को अपनी टीम में लाने की भरपूर कोशिश करेंगे. अश्विन नीलामी के पूल में शामिल होंगे चूंकि चेन्नई टीम ने धोनी, सुरेश रैना और रविंद्र जडेजा को रिटेन करने का फैसला किया है. बता दें कि चेन्नई सुपर किंग्स 2013 के स्पाट फिक्सिंग प्रकरण के चलते लगे दो साल के प्रतिबंध के बाद आईपीएल में वापसी कर रही है. खिलाड़ियों की नीलामी 27 और 28 जनवरी को बेंगलुरू में होनी है. अश्विन 2009 से से चेन्नई के साथ जुड़े थे. चेन्नई सुपर किंग्स के निलंबित होने के बाद 2016-17 के दो सीजन में अश्विन राइजिंग सुपरजाइंट के साथ जु़ड़े गए. धोनी ने इस बात पर जोर दिया कि वह स्थानीय खिलाड़ियों को टीम में लेने पर जोर देंगे. 

MS Dhoni wants R Ashwin in his IPL team

हालांकि, उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि वह चाहेंगे कि ड्वेन ब्रावो, फाफ डु प्लेसिस और ब्रैंडन मैकुलम को भी टीम में शामिल करना चाहेंगे. चेन्नई में एक प्रमोशनल ईवेंट के दौरान धोनी ने कहा, ''हालांकि किसी विशेष खिलाड़ी के खरीदना आसान नहीं होता. लेकिन हम निश्चित रूप से नीलामी में अश्विन पर दांव लगाएंगे.''

धोनी ने कहा, ''अश्विन स्थानीय खिलाड़ी हैं, हमारी कोशिश होगी कि अधिक से अधिक स्थानीय खिलाड़ियों को टीम में लिया जाए. लेकिन हम चाहेंगे कि टीम में ब्रावो, डु प्लेसिस और ब्रेंडन मैकुलम जैसी खिलाड़ी भी हों.''

CSK अश्विन की टीम में वापसी के लिए हर संभव प्रयास करेगा
आईपीएल नियमों के अनुसार, चेन्नई सुपर किंग्स अश्विन के लिए राइट टू मैच (आरटीएम) कार्ड का भी इस्तेमाल कर सकती है. क्योंकि सीके ने पहले ही तीन कैप्ड इंडियन प्लेयर्स धोनी, सुरेश रैना और रविंद्र जडेजा को रिटेन किया है. उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास दो राइट टू मैच विकल्प हैं लेकिन हम तीन भारतीय खिलाड़ियों को रिटेन कर चुके हैं. लिहाजा इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. हमें उसे नीलामी में खरीदना होगा.’’ 

धोनी ने कहा, ''27-28 जनवरी को होने वाली नीलामी में अंततः खिलाड़ियों की कीमत ही महत्वपूर्ण होगी और चेन्नई सुपर किंग्स के लिए अश्विन पहली प्राथमिकता होगी.'' धोनी ने आगे बताया कि भावनाओं को दरकिनार रखा जाएगा और यदि कोई खिलाड़ी टीम की रेंज से बाहर चला जाता है, तो टीम इसकी परवाह नहीं करेगी. हमारी कोशिश होगी टीम को मजबूत बनाना. चेन्नई सुपर किंग्स के पास नीलामी के लिए 47करोड़ रुपए हैं. 

नीलामी में भावनाओं को दरकिनार रखा जाएगा
धोनी ने कहा, ''निजी रूप से किस खिलाड़ी पर कितना रुपया खर्च होगा, यह मजबूत टीम की कुंजी होगी. इसलिए मैंने कहा कि नीलामी में भावनाओं को दरकिनार रखा जाएगा.'' चेन्नई सुपर किंग्स ने पिछले आठ साल में टीम के खिलाड़ियों को एक साथ रखा है और उनकी लगातार सफलता का यही सूत्र रहा है. यही वजह है कि अन्य फ्रैंचाइजी भी पुराने खिलाड़ियों को अपने साथ बनाए रखना चाहेंगे. धोनी ने कहा, ''हमारी यह रणनीति है कि हमारी टीम में अच्छे खिलाड़ियों का मिश्रण हो. टीम में ऐसे खिलाड़ी होने चाहिए जो एक दूसरे के पूरक साबित हो सकें. जिन जगहों पर टीम थोड़ी कमजोर है, हम ऐसे खिलाड़ी खरीदना चाहेंगे जो उन कमजोरियों को दूर कर सकें, लेकिन हमारा कोर ग्रुप मजबूत रहेगा. 

R Ashwin will on high demand in IPL

धोनी ने इस बात की भी वकालत की कि लंबे समय तक खिलाड़ियों का एक फ्रैंचाइजी के साथ जुड़े रहना फैन्स को भी अच्छा लगता है. धोनी ने कहा, ''हम यह चाहते हैं कि स्थानीय खिलाड़ियों से हमारा अच्छा संपर्क बना रहे और साथ ही उन खिलाड़ियों से भी जो पहले हमारे लिए खेलते रहे हैं.'' धोनी ने 2008 से 2015 तक चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी की है. उन्होंने कभी यह नहीं सोचा कि किसी और टीम से खेलना है. धोनी ने कहा, ''कप्तान के रूप में, मेरे लिए टीम प्रबंधन से तालमेल बिठाना आसान रहा है.'' 

धोनी ने कहा, फैन्स हमारी ताकत हैं 
धोनी ने कहा, ‘‘नीलामी में अश्विन हमारे लिए पहला विकल्प होगा. हमें इंतजार करना होगा. हम पूरी कोशिश करेंगे कि वह चेन्नई टीम का हिस्सा हो.’’ उन्होंने चेन्नई टीम का साथ देने के लिए प्रशंसकों को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा, ‘‘हमारी सबसे बड़ी ताकत हमारे प्रशंसक है. हम जहां भी गए, चेन्नई को अपार समर्थन मिला. हमने पिछले दो साल आईपीएल नहीं खेला, इसके बावजूद प्रशंसकों की संख्या बढती रही.’’