Sourav Ganguly ने बताया, 'Rishabh Pant और Hardik Pandya जैसे युवा क्रिकेटर क्यों हैं इतने बेखौफ?'

  टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का मानना है कि जिंदगी के अलग-अलग पहलुओं से मिला तजुर्बा ऋषभ पंत (Rishabh Pant) और हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) जैसे मौजूदा दौर के क्रिकेटर्स को बेखौफ बना रहा है. 'हमेशा तैयार रहते हैं यंग क्रिकेटर' बीसीसीआई

Sourav Ganguly ने बताया, 'Rishabh Pant और Hardik Pandya जैसे युवा क्रिकेटर क्यों हैं इतने बेखौफ?'
सौरव गांगुली (फाइल फोटो)

कोलकाता:  टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का मानना है कि जिंदगी के अलग-अलग पहलुओं से मिला तजुर्बा ऋषभ पंत (Rishabh Pant) और हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) जैसे मौजूदा दौर के क्रिकेटर्स को बेखौफ बना रहा है.

'हमेशा तैयार रहते हैं यंग क्रिकेटर'

बीसीसीआई (BCCI) के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने कहा कि ऐसे कई खिलाड़ी हैं जो इंटरनेशनल क्रिकेट में आने से पहले ही ‘पूरी तरह तैयार’ दिखे और ऐसा अनुभव के साथ होता है.

यह भी देखें- VIDEO: इस तमिल सॉन्ग पर दिल्ली कैपिटल्स के स्टीव स्मिथ ने जमकर लगाए ठुमके

'मौजूदा क्रिकेटर्स को ज्यादा मौके'

सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ‘हीरो विरेड’ के संस्थापक एवं सीईओ (CEO) अक्षय मुंजाल (Akshay Munjal) के साथ यू-ट्यूब कार्यक्रम ‘यू द फ्यूचर’ में कहा, ‘मुझे लगता है कि मौजूदा दौर के खिलाड़ियों को अधिक मौके मिल रहे हैं.'

'बेखौफ हैं नए क्रिकेटर्स'

सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने आगे कहा, ये उन्हें निडर बनने में मदद करता है, क्योंकि इससे उन्हें एहसास होता है कि चीजें उनके पास मौजूद हैं. अगर वो कोशिश करते हैं और सफल होने के लिए जुझारूपन दिखाते हैं तो वे सफल होंगे. इसलिए वे बेखौफ हैं.’

पंत और पांड्या के मुरीद हैं गांगुली

उन्होंने कहा, ‘आप इस मौजूदा भारतीय क्रिकेट टीम को ही देखिए ऋषभ पंत (Rishabh Pant), हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) और कुछ युवा तेज गेंदबाज जो इस स्तर पर आए हैं, वो इंटरनेशनल मैच में उतरने के साथ ही उसकी चुनौती के लिए तैयार रहते हैं.’
 

'नए खिलाड़ी मेंटली मजबूत हैं'

गांगुली ने कहा, ‘वो सिर्फ प्रतिभा के मामले में ही नहीं बल्कि मानसिक तौर पर भी तैयार रहते हैं जो काफी जरूरी है.’ देश के बेस्ट कप्तानों में से एक रहे गांगुली ने कहा कि खिलाड़ी के लिए कई बार नर्वस होना अच्छा है क्योंकि इससे वह बेहतर क्रिकेटर बनकर उभरता है.
 

 

'नर्वस होना अच्छा है'

सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने कहा, ‘नर्वसनेस अच्छा है, यह असल में आपको बेहतर बनने और बेहतर खेलने में मदद करता है. इसलिए खेल से पहले नर्वसनेस को स्वीकार करें और उसका सकारात्मक उपयोग कर अपने प्रदर्शन में सुधार करने पर ध्यान दे.’

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.