IPL 2020: इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के 21 प्लेयर्स के लिए क्वारंटाइन अवधि को कम करने की उठी मांग

आगामी आईपीएल 13 से पहले इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों की क्वारंटाइन अवधि को कम करने के लिए बीसीसीआई से अपील की गई है.   

IPL 2020: इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के 21 प्लेयर्स के लिए क्वारंटाइन अवधि को कम करने की उठी मांग
इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों की क्वारंटाइन अवधि को कम करने की BCCI में लगी अर्जी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आईपीएल 2020 (IPL 2020) में शामिल होने वाले इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया (ENG-AUS) के क्रिकेटरों ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड बीसीसीआई से यह गुहार लगाई है. कि टूर्नामेंट के लिए यूएई (UAE) में पहुंचने के बाद इन टीमों के खिलाड़ियों की क्वारंटाइन अवधि को कम करके आधा किया जाए, ताकि ये सभी खिलाड़ी आईपीएल के शुरुआती मुकाबलों में टीम में चयन के लिए उपलब्ध रह सकें. दरअसल इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच जारी मौजूदा सीरीज में इन दोनों देशों के कुल 21 खिलाड़ी चार्टर्ड विमान से 17 सितंबर को संयुक्त अरब अमीरात ला जाएंगे उसके बाद उन्हें 6 दिन क्वारंटाइन में रखा जाएगा. उसके बाद 23 सितंबर को ये प्लेयर्स चयन प्रक्रिया के लिए मौजूद रहेंगे. जबकि आईपीएल 13 (IPL 13) का पहला मैच 19 सितंबर को खेला जाना है. 

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को लिखा पत्र
दरअसल खबरों के अनुसार बड़े शॉट लगाने के लिए मशहूर एक बल्लेबाज ने इन खिलाड़ियों की तरफ से बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) से अनुरोध किया है कि पृथकवास अवधि को तीन दिनों का किया जाए. टूर्नामेंट की तैयारियों की देखरेख के लिए गांगुली बोर्ड के अन्य पदाधिकारियों के साथ यूएई में है. उनसे इस मामले में प्रतिक्रिया नहीं मिल पायी लेकिन बोर्ड के एक सूत्र ने बताया कि ऐसी मांग की गयी है. सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर कहा है कि हां, बीसीसीआई अध्यक्ष को एक अनुरोध प्राप्त हुआ है. यह एक खिलाड़ी के जरिए लिखा हो सकता है, लेकिन इससे इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के सभी खिलाड़ी इत्तेफाक रखते हैं. इन खिलाड़ियों को लगता है कि वे पहले से ही ऑस्ट्रेलिया और फिर ब्रिटेन में बायो-बबल (जैव-सुरक्षित माहौल) में हैं. ऐसे में यह तर्कसंगत होगा कि उन्हें एक बायो-बबल से दूसरे में प्रवेश करने की अनुमति दी जाए.  वे सभी बायो-बबल के बाहर किसी के संपर्क में नहीं आये हैं. 

ईसीबी ऐसे कर रहा इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों की देख रेख
सूत्र के मुताबिक, ये खिलाड़ी साउथैम्पटन और मैनचेस्टर, दोनों जगह हिल्टन होटल में रुके थे, जो स्टेडियम का एक हिस्सा है.  उनका हर पांचवें दिन परीक्षण हो रहा है और यहां तक कि ब्रिटेन से उनके प्रस्थान के दिन भी परीक्षण किया जाएगा. यहां पहुंचने के पहले और तीसरे दिन भी जांच होगी. उन्होंने बताया कि अगर आप इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) की सुरक्षा इंतजाम को देखेंगे, तो खिलाड़ियों के कमरों में सफाईकर्मियों को भी जाने की अनुमति नहीं है. इसके अलावा वे वाणिज्यिक नहीं बल्कि एक चार्टर्ड विमान से आयेंगे. उन्होंने यह नहीं बताया कि इस अनुरोध को स्वीकार किया जाएगा या नहीं लेकिन कहा कि उनका यह तथ्य मजबूत है कि वे एक बायो-बबल से दूसरे में प्रवेश करना चाहते हैं.

इन आईपीएल टीमों पर पड़ेगा प्रभाव
कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) को छोड़कर सभी टीमों पर छह दिनों के इस पृथकवास नियम का असर पड़ेगा. केकेआर का पहला मैच 23 सितंबर को मुंबई इंडियन्स (MI) के खिलाफ है. इसका सबसे ज्यादा नुकसान राजस्थान रॉयल्स (RR) को होगा, जिसे पहले से ही बेन स्टोक्स की कमी महसूस हो रही है. नियमों में अगर बदलाव नहीं हुआ तो जोफ्रा आर्चर, जोस बटलर और स्टीव स्मिथ शुरुआती मुकाबले के लिए टीम का हिस्सा नहीं होंगे. सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) को कप्तान डेविड वार्नर के अलावा सलामी बल्लेबाजी में उनके जोड़ीदार जॉनी बेयरस्टो के बिना पहला मैच खेलना होगा. चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) को पहले दो मैचों में जोश हेजलवुड और सैम कुरेन की सेवाएं नहीं मिलेंगी.

इनपुट: भाषा