close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO : मनीष पांडेय ने अनहोनी को किया होनी, 2 गेंदों में बनाए 18 रन

आईपीएल में कुछ भी ऐसा नहीं है, जो संभव ना हो. टी-20 फॉर्मेट के इन मैचों में हर कारनामा मुमकिन है. ऐसा ही एक अनोखा कारनामा कोलकाता नाइटराइडर्स के मनीष पांडेय ने किया और अनहोनी को होनी में बदल दिया. केकेआर के मनीष पांडेय ने रविवार को मुंबई इंडियंस के खिलाफ अपनी 47 गेंदों पर 81 रन की धमाकेदार पारी खेली. पांडेय ने अपनी इस पारी में 5 चौके और 5 छक्के जड़े.

VIDEO : मनीष पांडेय ने अनहोनी को किया होनी, 2 गेंदों में बनाए 18 रन
मनीष पांडे ने दो गेदों में बनाए 18 रन (still grab)

नई दिल्ली : आईपीएल में कुछ भी ऐसा नहीं है, जो संभव ना हो. टी-20 फॉर्मेट के इन मैचों में हर कारनामा मुमकिन है. ऐसा ही एक अनोखा कारनामा कोलकाता नाइटराइडर्स के मनीष पांडेय ने किया और अनहोनी को होनी में बदल दिया. केकेआर के मनीष पांडेय ने रविवार को मुंबई इंडियंस के खिलाफ अपनी 47 गेंदों पर 81 रन की धमाकेदार पारी खेली. पांडेय ने अपनी इस पारी में 5 चौके और 5 छक्के जड़े.

मनीष ने केकेआर की पारी के आखिरी ओवर में मैक्लेगन के खिलाफ 21 रन बना डाले। इनमें से 18 रन तो उन्होंने दो गेंदों में ही बना दिए. मैक्लेगन के इस ओवर की पहली गेंद पर मनीष ने छक्का जड़ा, दूसरी गेंद जकि नो बॉल थी पर उन्होंने चौका जड़ा, अगली गेंद मैक्लेगन ने वाइड फेंकी और इसके बाद अगली गेंद पर पांडेय ने एक और छक्का जड़ दिया. इस तरह केकेआर की पारी की दो गेंदों पर पांडेय ने 18 रन बना लिए, जिनमें एक-एक रन नो बॉल और वाइड से मिला था जबकि बाकी के 16 रन पांडेय ने 2 छक्के और एक चौका जड़ते हुए बनाया था.

मनीष पांडेय ने कोलकाता की ओर से सबसे बड़ी पारी खेलते हुए अर्धशतक जमाया। मनीष पांडे जब बल्लेबाज़ी करने आए थे तो कोलकाता की टीम मुश्किलों से घिरी हुई थी, लेकिन पांडेय ने समझदारी से बल्लेबाज़ी करते हुए ना सिर्फ नाइटराइडर्स की पारी को संभाला बल्कि धमाकेदार पारी खेली और नाबाद रहे. इस पारी के दौरान मनीष ने पहली 30 गेंदों में सिर्फ 35 रन बनाए थे और बाद की 17 गेंदों में पांडेय के बल्ले से 46 रन निकले.

डैथ ओवरों में टीम की गेंदबाजी से निराश कोलकाता नाइट राइट राइडर्स के मनीष पांडेय ने मुंबई इंडियंस से मिली हार के बाद कहा कि उन्हें खेल के इस पहलू पर मेहनत करने की जरूरत है. पांडेय ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘गुजरात लायंस के खिलाफ पहले मैच में हमें डैथ ओवरों में गेंदबाजी को लेकर जूझना पड़ा था. मुझे लगा कि हम कुछ सुधार कर सकते हैं. लगातार दो मैच खेलने के बाद अब हमें टीम बैठक में इस बारे में बात करनी होगी.’’ 

मुंबई को आखिरी 30 गेंद में 64 रन चाहिए थे, लेकिन उसने एक गेंद बाकी रहते सनसनीखेज जीत दर्ज की. नीतिश राणा और हार्दिक पंड्या ने टीम को जीत तक पहुंचाया.