IPL 10 : जिस खिलाड़ी को धोनी-गंभीर-कोहली ने किया था 'रिजेक्ट', स्मिथ के लिए बना ट्रंप कार्ड

आईपीएल 10 आज अपने अंजाम पर आ पहुंचा है. ऐसे में कई खिलाड़ी उभर का सामने आए हैं, जिनसे आजतक सभी अंजान थे. ऐसे ही एक खिलाड़ी हैं राइजिंग पुणे सुपरजाइंट के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट. 

IPL 10 : जिस खिलाड़ी को धोनी-गंभीर-कोहली ने किया था 'रिजेक्ट', स्मिथ के लिए बना ट्रंप कार्ड
पिछले कप्तानों ने पूरा समर्थन नहीं दिया : जयदेव उनादकट (PIC : IPL/BCCI)

नई दिल्ली : आईपीएल 10 आज अपने अंजाम पर आ पहुंचा है. ऐसे में कई खिलाड़ी उभर का सामने आए हैं, जिनसे आजतक सभी अंजान थे. ऐसे ही एक खिलाड़ी हैं राइजिंग पुणे सुपरजाइंट के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट. 

आईपीएल 10 की नीलामी में 25 साल के जयदेव उनादकट सबसे सस्ते बिके थे, तो सभी को लगा था कि ये खिलाड़ी कुछ ज्यादा नहीं कर पाएगा. लेकिन अपने प्रदर्शन से उन्होंने सभी की जुबान पर ताले जड़ दिए हैं. 30 लाख में बिके उनादकट आईपीएल में तीन फ्रेंचाइजी के हिस्सा रहे. इससे पहले वह रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु, दिल्ली डेयरडेविल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स में रह चुके थे.

जयदेव की पहचान पुणे टीम में बनी. पुणे की टीम ने असफल हो रहे अशोक डिंडा के बदले जयदेव को प्राथमिकता दी. जयदेव को न केवल फर्स्ट 11 में जगह मिली बल्कि पुणे के सभी मैचों में उन्होंने अहम भूमिका भी अदा की.

अपनी इस सफलता पर बात करते हुए उनादकट का कहना है कि आईपीएल के पिछले कई सीजन में वो इसलिए सफल नहीं हो सके क्योंकि उन्हें कप्तानों से पर्याप्त समर्थन नहीं मिल रहा था. जयदेव ने साफ कहा कि अब तक उन्हें एक-दो मैच के खराब प्रदर्शन के बाद ही टीम से ड्रॉप कर दिया जाता था. इसके कारण उन्हें प्रतिभा दिखाने का पर्याप्त मौका ही नहीं मिल सका. लेकिन इस बार स्टीव स्मिथ ने उनपर भरोसा दिखाया और यही भरोसा अच्छे प्रदर्शन के रूप में सामने आया. 

मिड डे से बात करते हुए जयदेव ने कहा, 'मुझे अब तक कप्तानों से पूरा समर्थन नहीं मिला. लेकिन इस बार मैंने सोच लिया था कि मुझे जो भी मौका मिलेगा, उसे पूरी तरह भुनाना है.'

उनादकट पिछले सीजन में पुणे टीम आए थे, तब टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी थे. इससे पहले वे कोलकाता नाइट राइडर्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का हिस्सा रहे. इन दोनों टीमों के कप्तान गौतम गंभीर और विराट कोहली हैं. आईपीएल के इस सीजन में पुणे के कप्तान स्टीव स्मिथ हैं. स्मिथ ने उनादकट को लगातार मौके दिए तो उन्होंने भी विकेट लेकर उनके भरोसे को कायम रखा है.

हैदराबाद के खिलाफ हैट्रिक झटकने वाले बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट के पास लीग का अंत सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज के तौर पर करने का मौका है. इस समय आईपीएल के इस संस्करण में सबसे ज्यादा विकेट सनराइजर्स हैदराबाद के भुवनेश्वर कुमार के नाम हैं. वह 14 मैचों में 26 विकेट लेकर पर्पल कैप अपने पास रखे हुए हैं. 

वसीम अकरम से सीखे गेंदबाजी के गुर 

जयदेव उनादकट ने एक इंटरव्यू में बताया था कि जब वे केकेआर टीम में शामिल थे, तब उन्होंने टीम के बॉलिंग कोच रहे वसीम अकरम से ही बॉलिंग बेसिक्स सीखे थे

उनादकट के मुताबिक, अकरम से ही उन्होंने बॉल को स्विंग करना सीखा था. साथ ही अलग-अलग तरीकों से बॉल को ग्रिप करना भी उन्हें अकरम ने ही सिखाया था. इस वजह से वे अकरम को ही अपनी सक्सेस का क्रेडिट भी देते हैं.

सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज 

राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स को फाइनल तक पहुंचाने में टीम के फास्ट बॉलर जयदेव उनादकट का भी बड़ा रोल है. वे इस सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज की लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं. उनादकट गुजरात के पोरबंदर के रहने वाले हैं और सौराष्ट्र की टीम के लिए घरेलू क्रिकेट खेलते हैं. 

(भाषा के इनपुट के साथ)