IPL 10 : तीन बार पुणे से हारने वाले कप्तान रोहित बोले, फाइनल में बदल देंगे इतिहास

मुंबई इंडियंस टीम की निगाह तीसरी बार आईपीएल ट्रॉफी जीतकर विजयी हैट्रिक करने पर है. आईपीएल 10 के रविवार को होने वाले फाइनल में उसके सामने राइजिंग पुणे सुपरजाइंट की टीम है जिसने इस सीजन में उसे तीन बार मात दी है. मुंबई की टीम चौथी बार फाइनल खेलेगी और तीसरी बार टूर्नामेंट जीतने की कोशिश करेगी, वहीं पुणे टीम अपना पहला खिताब जीतना चाहेगी. 

IPL 10 : तीन बार पुणे से हारने वाले कप्तान रोहित बोले, फाइनल में बदल देंगे इतिहास
आईपीएल फाइनल से पहले बोले रोहित शर्मा, इस बार हम इतिहास बदलेंगे और ट्रॉफी अपने नाम करेंगे (PIC : IPL/BCCI)

नई दिल्ली : मुंबई इंडियंस टीम की निगाह तीसरी बार आईपीएल ट्रॉफी जीतकर विजयी हैट्रिक करने पर है. आईपीएल 10 के रविवार को होने वाले फाइनल में उसके सामने राइजिंग पुणे सुपरजाइंट की टीम है जिसने इस सीजन में उसे तीन बार मात दी है. मुंबई की टीम चौथी बार फाइनल खेलेगी और तीसरी बार टूर्नामेंट जीतने की कोशिश करेगी, वहीं पुणे टीम अपना पहला खिताब जीतना चाहेगी. 

आईपीएल के दूसरे क्वालीफायर में कोलकाता नाइट राइडर्स को छह विकेट से हराकर फाइनल में पहुंची मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि उनकी टीम किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं है बल्कि टीम प्रयासों से यह जीत मिली है.

रोहित ने मैच के बाद कहा कि पिछले मैच में मिली हार के बाद हमने काफी मेहनत की है. कोलकाता से मिली जीत के बाद उत्साहित कप्तान ने कहा, 'इस जीत से हमें काफी आत्मविश्वास मिला है और अब हम फाइनल में भी इसी प्रदर्शन को बरकरार रखना चाहते हैं. पुणे के खिलाफ हमारा रिकॉर्ड थोड़ा अलग है. इस बार हम इतिहास बदलेंगे और ट्रॉफी अपने नाम करेंगे.'

बता दें कि मुंबई की टीम ने 2013 और 2015 में 2 बार खिताब अपने नाम किया है. वहीं, 2010 में उप विजेता बनकर संतोष करना पड़ा था. मुंबई की टीम चौथी बार फाइनल में पहुंची है. मुंबई और पुणे टी 20 का इतिहास में अब तक 4 बार आमने सामने हो चुके हैं जिसमें से पुणे ने 3 बार मुंबई को हराया है. तीनों जीत पुणे को इसी सीजन में मिली है.

रोहित ने मैच के बाद कहा, "हम काफी मेहनत कर रहे थे और इस तरह मुश्किल रास्ते से फाइनल में पहुंचने से भी घबराए नहीं थे. आज हमारा दिन था और गेंदबाज़ों ने जीत के सूत्रधार की भूमिका निभाई. यही एक अच्छी टीम की निशानी है कि वह किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं रहती."

उन्होंने कहा, "हमारा कोई बल्लेबाज़ शीर्ष पांच में नहीं है जिससे साबित होता है कि टीम प्रयासों से हमें जीत मिली है. मैं जाकर मैदान पर रणनीति पर अमल करता हूं और मेरे सभी खिलाड़ी ऐसा करते हैं."

उन्होंने पुणे के खिलाफ फाइनल में जीत का यकीन जताते हुए कहा, "राइजिंग पुणे सुपरजाइंट के खिलाफ हमारा इतिहास अच्छा नहीं रहा है. बस खिताब के बीच एक ही बाधा बची है." वहीं केकेआर के कप्तान गौतम गंभीर ने कहा कि इस हार के बावजूद उन्हें अपने खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर फख्र है.

उन्होंने कहा, "पिछले मैच में हम 160-170 रन नहीं बना सके. यहां भी 107 बहुत अच्छा स्कोर नहीं था. हमारे पास विकेट होते तो एक दो गेंदबाज़ों को निशाना बना सकते थे. हार के बावजूद मैं टीम के प्रदर्शन से खुश हूं. हमने दो मौके गंवाए लेकिन पूरे सीज़न में पेशेवर प्रदर्शन रहा."

(भाषा के इनपुट के साथ)