close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IPL 10 : जानें, क्यों विराट के लिए 23 अप्रैल बनी 'कभी खुशी कभी गम'

 23 अप्रैल की तारीख आईपीएल के इतिहास से एक शानदार और एक शर्मनाक दोनों ही तरह की पारियों के लिए दर्ज हो गई है. 23 अप्रैल 2017 ने आरसीबी को सबसे बड़ा गम दिया है तो 23 अप्रैल 2013 ने सबसे बड़ी खुशी दी थी. 

IPL 10 : जानें, क्यों विराट के लिए 23 अप्रैल बनी 'कभी खुशी कभी गम'
विराट कोहली की टीम शर्मनाक तरीके से 49 रन पर सिमटी (PIC : IPL/BCCI)

नई दिल्ली :  23 अप्रैल की तारीख आईपीएल के इतिहास से एक शानदार और एक शर्मनाक दोनों ही तरह की पारियों के लिए दर्ज हो गई है. 23 अप्रैल 2017 ने आरसीबी को सबसे बड़ा गम दिया है तो 23 अप्रैल 2013 ने सबसे बड़ी खुशी दी थी. 

आईपीएल इतिहास और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की टीम के लिए ये तारीख खुशी और गम दोनों का ही सबब बन चुकी हैं. बता दें कि कोलकाता नाइट राइडर्स ने रविवार को ईडन गार्डेंस स्टेडियम में खेले गए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 10वें संस्करण के 27वें मैच में मजबूत बल्लेबाजों से लैस रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की टीम को 82 रनों से हरा दिया.

कोलकाता ने बेंगलुरु के सामने 132 रनों का लक्ष्य रखा था. ऐसा लग रहा था कि बेंगलुरु की टीम इस स्कोर को आसानी से हासिल कर लेगी, लेकिन हुआ इसके उलट. बेंगलुरु टीम महज 9.4 ओवरों में सभी विकेट गंवाकर 49 रन ही बना सकी. बेंगलुरु ने आईपीएल इतिहास का न्यूनतम स्कोर हासिल किया. 

क्रिस गेल, विराट कोहली और एबी डिविलियर्स जैसे शानदार बल्लेबाजों से लैस आरसीबी की टीम महज 9.4 ओवरों में 49 पर ढह गई. आरसीबी के लिए ईडन गार्डेंस में खेला ये मैच किसी बुरे सपने जैसा साबित हुआ.  हैरानी की बात यह है कि उसका कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं छू पाया. कप्तान विराट कोहली पहली ही बॉल पर शून्य पर आउट हो गए. स्कोरकार्ड देखकर ऐसा लगा मानो ये कोई मोबाइल नंबर हो. पूरी पारी में एक भी छक्का नहीं और 82 रनों से करारी हार.

चार साल पहले 23 अप्रैल को ही आरसीबी ने खड़ा किया था सबसे बड़ा स्कोर 

4 साल पहले 2013 में आरसीबी ने इसी दिन आईपीएल का सर्वोच्च स्कोर बनाया था, जो अब तक बरकरार है. जी हां 23 अप्रैल, 2013 को आरबीसी ने पुणे वॉरियर्स के खिलाफ 20 ओवरों में पांच विकेट खोकर 263 रन ठोंक दिए थे. यह मैच बेंगलुरु में खेला गया था. इस मैच में क्रिस गेल ने महज 102 गेंदों में नाबाद 175 रन जड़ने के अलावा दो विकेट भी चटकाए थे. इस पारी के दौरान गेल ने टी-20 के सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड बनाया था.

साथ ही टी-20 में व्यक्तिगत उच्चतम स्कोर का रिकॉर्ड और एक पारी में सबसे ज्यादा छक्का जड़ने का रिकॉर्ड बनाया था. इसके अलावा डिविलियर्स ने 12 गेंदों में 31 रन और दिलशान ने गेल के साथ खेलते हुए 33 रन 36 गेंदों में बनाये थे. इसी मैच में सबसे ज्यादा छक्कों का रिकॉर्ड और टी-20 का सबसे तेज शतक भी बना था. जवाब में पुणे की टीम 133 रन पर ऑलआउट हो गई थी.