close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IPL 2018: मोहित शर्मा की गेंदबाजी के आगे हार गए धोनी, पंजाब 4 रन से जीता

धोनी ने अंतिम गेंद पर छक्का भी जड़ा लेकिन वह टीम को हार को टाल न सके. 

IPL 2018: मोहित शर्मा की गेंदबाजी के आगे हार गए धोनी, पंजाब 4 रन से जीता
पंजाब के 197 रन के जवाब में चेन्नई 193 रन ही बना सकी....

नई दिल्ली: अंतिम ओवर में मोहित शर्मा की चतुराईपूर्ण गेंदबाजी के आगे महेंद्र सिंह धोनी की एक न चली. हालांकि धोनी ने अंतिम गेंद पर छक्का भी जड़ा लेकिन वह टीम को हार को टाल न सके. पंजाब ने आईपीएल टी20 मैच में चेन्नई को चार रन से शिकस्त दी. अंतिम दो गेंदों पर चेन्नई को जीत के लिए 11 रनों की दरकार थी. चेन्नई के फैंस को उम्मीद थी कि धोनी 2 छक्के लगाकर मैच को जीत लेंगे लेकिन ऐसा मोहित शर्मा की उम्दा गेंदबाजी के चलते ऐसा नहीं हो सका. धोनी केवल 2 रन बना सके. किंग्स इलेवन पंजाब ने चेन्नई को अपने घर में इस संस्करण में हार का पहला स्वाद चखाया है. चेन्नई ने अब तक अपने दोनों मैच जीते थे, लेकिन तीसरे मैच में उसे हार मिली है. 

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी पंजाब ने सात विकेट खोकर निर्धारित 20 ओवरों में 197 रन बनाए, जिसे चेन्नई हासिल नहीं कर पाई और 193 रन ही बना सकी. लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई के सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन (11) और मुरली विजय (12) टीम को अच्छी शुरूआत नहीं दे पाए. चेन्नई का पहला विकेट 17 के ही कुल स्कोर पर गिरा. वॉटसन को मोहित शर्मा ने बरिंदर सरन के हाथों कैच आउट कर पवेलियन भेजा. इसके बाद एंड्रयू टाए ने विजय को पिच पर टिकने का मौका नहीं दिया. वह भी बरिंदर के हाथों लपके गए. 

विजय के पवेलियन लौटने के बाद टीम की पारी संभालने उतरे सैम बिलिंग्स (9) औ? अंबाती रायडू (49) ने तीसरे विकेट के लिए 17 ही रन जोड़े थे कि यहां पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने बिलिंग्स को पगबाधा आउट कर चेन्नई को तीसरा झटका दिया. आईपीएल के इस संस्करण में अब तक खेले गए अपने दोनों मैच जीतने वाली चेन्नई पर पहली हार का साया मंडरा रहा था. यहां कप्तान धोनी ने अंबाती के साथ 57 रनों की शानदार अर्धशतकीय साझेदारी कर टीम को 100 के आंकड़े के पार पहुंचाया. दोनो ने अच्छी लय हासिल कर ली थी, लेकिन यहां अश्विन एक बार फिर चेन्नई की परेशानी बनकर खड़े हो गए. 

अश्विन ने 113 के कुलयोग पर अंबाती को रन आउट कर पवेलियन भेज दिया. वह अपना अर्धशतक पूरा करने से केवल एक रन दूर रह गए. उन्होंने 35 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्का लगाया. एक बार फिर चेन्नई पर दबाव बन गया. उसे जीत के लिए अब भी 85 रनों की जरूरत थी और टीम के पास केवल 36 गेंदें बाकी थी. अंबाती के पवेलियन लौटने के बाद रवींद्र जड़ेजा (19) धोनी के साथ पिच पर टीम की पारी को आगे बढ़ाने उतरे. जड़ेजा अपने बल्ले से रन नहीं निकाल पा रहे थे और ऐसे में चेन्नई हार का मुहाने पर आ खड़ी थी. उसके पास 24 गेंदें बाकी थी और उसे अब भी जीत के लिए 67 रनों की जरुरत थी. ऐसे में दोनों बल्लेबाजों को एक चौके और छक्के लगाने जरूरी थे. 

चेन्नई को यहां एंड्रयू ने एक और झटका दिया. उन्होंने जड़ेजा को अश्विन के हाथों कैच आउट कर पांचवां विकेट गिराया. यहां से चेन्नई के लिए टीम में वापसी नामुमकिन थी और इस कारण उसे चार रनों से हार का सामन करना पड़ा. चेन्नई की टीम 193 रन ही बना पाई. 

इससे पहले, विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल (63) के बेहतरीन अर्धशतक और लोकेश राहुल (37) तथा मयंक अग्रवाल (30) की उपयोगी पारियों की मदद से किंग्स इलेवन पंजाब ने चेन्नई के खिलाफ सात विकेट पर 197 रन का मजबूत स्कोर बनाया था. इस पारी में चेन्नई की तरफ से ताहिर ने 34 रन पर दो विकेट, ठाकुर ने 33 रन पर दो विकेट, हरभजन सिंह ने 41 रन पर एक विकेट, शेन वाटसन ने 15 रन पर एक विकेट और ब्रावो ने 37 रन पर एक विकेट हासिल किया.