close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IPL 2019: बेंगलुरू से एक रन की हार पर धोनी ने दी अपनी पारी की ‘सफाई’, टीम को दी यह सलाह

आईपीएल में बेंगलुरू और चेन्नई की बीच मैच में एक रन से चेन्नई की एक रन की हार पर कप्तान धोनी ने कहा कि उनकी टीम को शीर्षक्रम पर अच्छी बल्लेबाजी करनी होगी. 

IPL 2019: बेंगलुरू से एक रन की हार पर धोनी ने दी अपनी पारी की ‘सफाई’, टीम को दी यह सलाह
देखा जा रहा है कि चेन्नई की बल्लेबाजी की धोनी पर निर्भरता ज्यादा होती जा रही है. (फोटो: IANS)

बेंगलुरू: इंडियन प्रीमियर लीग ( आईपीएल) के संभवतः सबसे रोमांचक मैच में चेन्नई की बेंगलुरू के हाथों केवल एक रन से हार पर टीम के कप्तान एमएस धोनी  ने अपनी टीम को सलाह दी है. धोनी ने अपने शीर्षक्रम के बल्लेबाजों से बेहतर प्रदर्शन करके आईपीएल के आगामी मैचों में फिनिशर की भूमिका निभाने का आग्रह किया है. इसके साथ ही धोनी  ने इस बात पर भी सफाई दी की उन्होंने क्यों अंतिम ओवरों में सिंगल लेना बंद कर दिए थे. 

धोनी पर आ रहा है ज्यादा दबाव
धोनी के 48 गेंद में 84 रन के बावजूद बेंगलुरू ने चेन्नई को एक रन से हराकर प्लेआफ की उम्मीदें बरकरार रखी हैं. चेन्नई के शीर्षक्रम के बल्लेबाज अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं. शेन वाटसन ने 147, विश्व कप टीम से बाहर अंबाती रायुडू ने 192 और सुरेश रैना ने 207 रन ही बनाये हैं. ऐसे में सारा दबाव धोनी पर आ जाता है जो 314 रन बना चुके हैं.

यह भी पढ़ें: VIDEO: IPL में बेंगलुरू-चेन्नई मैच के आखिरी ओवर का रोमांच, धोनी कर ही गए थे नामुमकिन

टॉप आर्डर से यह जताई उम्मीद
धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘‘यह अच्छा मैच था. हमने उन्हें कम स्कोर पर रोका लेकिन हमें भी शीर्षक्रम पर अच्छी बल्लेबाजी करनी होगी. एक बार विरोधी आक्रमण को पहचानने पर आपको रणनीति पर अमल करना जरूरी है. हमने कई विकेट गंवाए जिससे दबाव बना और मध्यक्रम खुलकर नहीं खेल सका.’’ उन्होंने कहा ,‘‘ शीर्षक्रम को संभलकर खेलना चाहिए था. बड़े शाट खेलने के प्रयास में विकेट गंवाए और दूसरों पर दबाव बन गया. मेरा मानना है कि शीर्ष तीन खिलाड़ी फिनिशर हो सकते हैं और उन्हें यह जिम्मेदारी निभानी भी चाहिए.’’

MS Dhoni

खुद की पारी पर यह दी सफाई 
धोनी ने अपनी पारी के बारे में कहा, "मैंने कई गेंदें खेली थी और हमें बहुत रन बनाने थे इसलिए मैं जोखिम उठा सकता था. मैं समझता हूं कि 10 या 12 गेंदों पर हमें 40 या 36 के करीब रन चाहिए थे जिसका मतलब है हमें बाउंड्री की जरूरत थी." धोनी ने कहा, "हां, आप अभी गिन सकते हैं कि दो रन वहां, एक रन यहां और हम मैच जीत जाते क्योंकि हम एक रन से मुकाबला हारे, लेकिन उसी समय आपको यह सोचना होगा कि अगर कुछ गेंदे खाली निकल जातीं तो क्या होता. क्या हमें वह अतिरिक्त बाउंड्री मिल पाती या नहीं."

यह भी पढ़ें: IPL 2019: प्लेऑफ में पहुंचने गणित हुआ जटिल, बेंगलुरू अंदर तो चेन्नई हो सकती है बाहर

हैदराबाद के खिलाफ भी यही हाल था
गौरतलब है कि इससे पिछले मैच में हैदराबाद के खिलाफ बिनना धोनी के उतरी चेन्नई की टीम की बल्लेबाजी खास नहीं रही. इस मैच में चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में केवल 132 रन बनाए थे जिनमें से आखिरी 30 रन आखिरी 30 गेदों पर ही आए थे.  इस लक्ष्य को चेन्नई की बढ़िया गेंदबाजी भी रोक न सकी और टीम को करारी हार का सामना करना पड़ा था. 
(इनपुट भाषा/आईएएनएस)