close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IPL 2019: राजस्थान प्लेऑफ की लड़ाई में कायम, निचली टीमों की साथ जंग में आया हैदराबाद

आईपीएल में राजस्थान और हैदराबाद के बीच हुए मुकाबले में राजस्थान की जीत ने प्वाइंट टेबल को और दिलचस्प कर दिया है. अब हैदराबाद के भी नीचे की टीमों के साथ उलझने की संभावना बढ़ गई है. वहीं राजस्थान अब भी प्लेऑफ की दौड़ में बना हुआ है. 

IPL 2019: राजस्थान प्लेऑफ की लड़ाई में कायम, निचली टीमों की साथ जंग में आया हैदराबाद
राजस्थान हैदराबाद मैच के बाद प्वाइंट टेबल में रोमांच बढ़ गया है. अब हैदराबाद की मुश्किलें भी बढ़ सकती हैं.(फोटो फाइल )

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में 12वें सीजन के 45वें मैच में राजस्थान और हैदराबाद के बीच हुए मुकाबले के नतीजे ने प्वाइंट टेबल का गणित दिलचस्प कर दिया है. राजस्थान की टीम ने इस मैच में जीत से खुद को प्लेऑफ की दौड़ में बकरार रखा है, वहीं हैदराबाद के लिए अब अगर मगर का खेल शुरू होता दिख रहा है. हैदराबाद की हार से चेन्नई को भी फायदा पहुंचता दिख रहा है, लेकिन अभी हैदाबाद की हार ने प्वाइट टेबल में समीकरणों को काफी हद तक बदल दिया है. 

क्या हैदराबाद नीचे आती दिख रही है
इस मैच से पहले हाल यह था कि अगर राजस्थान यह मैच हार जाती तो प्वाइट टेबल का गणित आसान हो जाता. हैदराबाद की टीम मजबूत पहले से ही थी. वहीं राजस्थान पर भी हर हाल में जीतने का दबाव था. लेकिन ऐसा हुआ नहीं उल्टे हैदराबाद के लिए प्लेऑफ का रास्ता मुश्किल हुआ जा रहा है. नेट रनरेट के कारण वह अभी चौथे स्थान पर जरूर है, लेकिन उसके पांचवे, छठे, स्थान वाली टीमों के साथ बराबर के 10 अंक हैं. 

यह भी पढ़े: VIDEO: मनीष पांडे हुए एक ही गेंद पर दो बार आउट, जानिए कैसे हुआ यह

राजस्थान हुई है कुछ मजबूत
पहले राजस्थान की बात करें. राजस्थान के अब 12 मैचों में 10 अंक हो गए हैं. अब उसके दो मैच शेष हैं. अब उसे बेंगलुरू और दिल्ली के खिलाफ खेलना है. बेंगलुरू के खिलाफ उसका मैच एक तरह से प्लेऑफ एलिमिनेटर का हो सकता है अगर बेंगलुरू दिल्ली से नहीं हारी तो. ऐसे में राजस्थान और बेंगलुरू के बीच होने वाले मैच में  हारने वाली टीम प्लेऑफ से बाहर हो जाएगी.

तो अब हैदराबाद का क्या  
हैदराबाद को अब पंजाब, मुंबई और बेंगलुरू के खिलाफ मैच खेलने हैं. नेट रन रेट में अब वह मुंबई से आगे ही है, लेकिन अंकों में चार अंक पीछे है. टीम के इस मैच के प्रदर्शन को देखते हुए और विदेशी खिलाड़ियों के बाहर जाने से उसके लिए प्लेऑफ में पहुंचना ही बड़ी बात हो जाए तो हैरानी नहीं होनी चाहिए. ऐसे में उसके और पंजाब के बीच का मैच अहम होगा. विलियमसन जाने से पहले (अगर वे इस मैच से पहले नहीं न्यूजीलैंड न लौटे तो) अपनी टीम को जीत दिलाकर जाना चाहेंगे. उसके बाद मुंबई और बेंगलुरू तक से जीतना मुश्किल हो जाएगा. अब भी उसे कम से कम दो जीत तो चाहिए ही. वह अब उतनी मजबूत टीम नहीं रही. 

यह भी पढ़ें: VIDEO: यकीन नहीं होता, हैदराबाद की पारी में मुश्किल से लगा एक ही छक्का, वह भी आखिरी गेंद पर

इस तरह नीचे की टीमों से मुकाबले में आ रही है हैदराबाद 
अंक तालिका में अभी हैदराबाद, पंजाब के 11 मैचों के साथ 10 अंक जबकि राजस्थान के 12 मैचों के साथ 10 अंक हैं. सोमवार को इन तीनों टीमों के ही 12 मैच हो चुके होंगे, लेकिन हैदराबाद और पंजाब में से एक टीम के 12 अंक हो जाएंगे जबकि दूसरी टीम राजस्थान के साथ 10 अंकों पर आ जाएगी. ऐसे में उसका राजस्थान, कोलकता और बेंगलुरू से मुकाबला होगा. जीतने वाली टीम बाकी के दो मैच जीतकर प्लेऑफ में जगह बनाना चाहेगी. बाकी तीनों ही टीमों को बाहर करने की कोशिश करेगी. 

SRH captain

इस मैच से क्या चेन्नई को फायदा हुआ है
इस हार से हैदराबाद की टीम चेन्नई को चुनौती देने के काबिल कितनी बनी हुई है यह देखने वाली बात है. अगर चेन्नई टीम अपने बाकी दो मैच हार जाती है और हैदराबाद टीम बाकी सारे मैच जीत जाती है तो वह चेन्नई से नेट रनरेट के कारण आगे हो जाएगी. ऐसे में देखने वाली बात यही होगी कि चेन्नई की टीम दूसरे स्थान पर रहती है या कि तीसरे या चौथे. इस मैच से पहले हैदराबाद चेन्नई को चुनौती देने की स्थिति में तो था, लेकिन अब उसकी राह कठिन हो गई है.  बाकी टीमों के गणित में रविवार को होने वाले मैचों के बाद बदलाव होगा.