IPL 2020: जीत के बाद श्रेयस अय्यर का बयान, कहा ‘हमारी टीम दबाव में नहीं आती’

आईपीएल के दूसरे मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को दी शिकस्त, जीत के बाद कप्तान अय्यर ने कहा, ‘दबाव की परिस्थितियों में खेलने के अभ्यस्त हैं’

IPL 2020: जीत के बाद श्रेयस अय्यर का बयान, कहा ‘हमारी टीम दबाव में नहीं आती’
श्रेयस अय्यर (फोटो-twitter/@ShreyasIyer15)

दुबई: दिल्ली कैपिटल्स (DC) की टीम ने किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) को हराकर सीजन की अपनी पहली जीत दर्ज की है. सुपर ओवर तक पहुंचे इस मुकाबले को अपने नाम करने के बाद कप्तान श्रेयस अय्यर ने कहा कि उनकी टीम ऐसी परिस्थितियों में दबाव में नहीं आती है और इस तरह के मैचों की अभ्यस्त है.

अय्यर ने कहा, ‘मैच में इस तरह के उतार चढ़ाव देखना मुश्किल था लेकिन हमारी टीम इसकी अभ्यस्त है. यहां तक कि पिछले सत्र में भी हमने ऐसी परिस्थितियों का सामना किया था’.

दिल्ली कैपिटल्स की जीत के नायक मार्कस स्टोइनिस और कैगिसो रबाडा रहे. रबाडा ने सुपर ओवर में महज दो रन देकर दो विकेट हासिल किए. अय्यर ने कहा, ‘रबाडा मैच विजेता खिलाड़ी और जिस तरह से स्टोइनिस ने बल्लेबाजी की उससे मैच का पासा ही पलट गया. रोशनी आंखों पर पड़ने के कारण कैच लेना मुश्किल था लेकिन यह कोई बहाना नहीं है. हमें इस विभाग में सुधार करना होगा’.

वहीं स्टार गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन मुकाबले में सिर्फ एक ही ओवर कर पाए जिसमें उन्होंने दो विकेट लिए. इसके बाद वह चोटिल होकर मैदान छोड़कर बाहर चले गए लेकिन अय्यर ने संकेत दिए कि वह अगले मैच में खेल सकते हैं.

उन्होंने कहा है कि, ‘अश्विन ने कहा कि वह अगले मैच तक फिट हो जाएगा लेकिन आखिर में फैसला फिजियो को करना है. अक्षर पटेल ने उनके चोटिल होने के बाद बीच के ओवरों में शानदार गेंदबाजी की’.

इसके अलावा किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान केएल राहुल ने मयंक अग्रवाल की जमकर प्रशंसा की और साथ ही अपनी टीम की गलतियों पर भी बात की.

राहुल ने कहा, ‘यह हमारा पहला मैच था और हमने इससे काफी कुछ सीखा. मयंक ने अविश्वसनीय पारी खेली और मैच को इतना करीब ले गया. वह टेस्ट मैचों में अच्छा कर रहा है और मैच को इतना करीब लाने से टीम का आत्मविश्वास बढ़ेगा’.

उन्होंने कहा, ‘परिणाम जो भी रहा कप्तान होने के नाते मैं उसकी जिम्मेदारी लेता हूं. हम अपनी रणनीति पर कायम रहे लेकिन हमने कुछ गलतियां भी की हैं. जब स्कोर पांच विकेट पर 55 रन था तब भी हम सकारात्मक बने रहे’.

(इनपुट-भाषा)