IPL 2018: राहुल तेवतिया को पाने के लिए मची होड़, मिनटों में बोली पहुंची करोड़ों पर

राहुल तेवतिया वीरेंद्र सहवाग, राहुल द्रविड़ और शेन वॉर्न को अपना आदर्श मानते हैं. 

IPL 2018:  राहुल तेवतिया को पाने के लिए मची होड़, मिनटों में बोली पहुंची करोड़ों पर
राहुल तेवतिया को दिल्ली ने 3 करोड़ में खरीदा है (PIC : IPLT20.com)

नई दिल्ली: भारत के क्रिकेटर राहुल तेवतिया ऐसे अनकैप्ड खिलाड़ी हैं, जिनके ऊपर आईपीएल ऑक्शन में बोली लगाने वालों के बीच कड़ी प्रतियोगिता हुई. 24 वर्षीय इस लेग स्पिनर का बेस प्राइस केवल दस लाख रुपए था, लेकिन वह कुछ मिनटों में ही उनकी कीमत 2.5 करोड़ रुपए तक पहुंच गई. कई फ्रैंजाइजीज ने उनके लिए बोली लगाई. दिल्ली डेयरडेविल्स, किंग्स इलेवन पंजाब और सनराइजर्स हैदराबाद तेवतिया को अपनी टीम में लेना चाहते थे. लेकिन आखिरकार दिल्ली डेयरडेविल्स ने राहुल तेवतिया को तीन करोड़ रुपए में खरीद लिया. 

पिछले कुछ सालों में आईपीएल युवाओं को लॉन्च करने का एक भव्य माध्यम बन गया है. जहां तक तेवतिया का सवाल है तो वह खुश होंगे कि वह ऐसी टीम के साथ हैं, जिसके कोच रिकी पोन्टिंग हैं. तेवतिया के अंकल भी स्पोर्ट्समैन रहे हैं. वह टेनिस स्टार रोजर फेडरर के जबरदस्त प्रशंसक हैं. राहुल अपने अंकल से प्रेरित होकर ही क्रिकेट में आए हैं. 

IPL Auction 2018 : एक कान से सुनता है यह बॉलर, इसकी गेंदों पर बैट्समैन खा जाते हैं गच्चा

राहुल तेवतिया ने बहुत छोटी उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था. उन्होंने 2013 में हरियाणा बनाम कर्नाटक के बीच हुए मैच में रोहतक में फर्स्ट क्लास डेब्यू किया था. इस मैच में उनकी यादगार पारी को क्रिकेट वर्ल्ड ने देखा और सराहा. तब से लगातार राहुल एक मैच्योर खिलाड़ी बने हैं, लेकिन टी-20 में किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से डेब्यू ने उन्हें एक खास पहचान दिलवाई.

सबसे पहले राजस्थान रॉयल्स ने खरीदा था 
राहुल को 2014 में राजस्थान रॉयल्स की ओर से आईपीएल में खेलने का मौका मिला था, तब उन्हें 20-25 लाख रुपए में खरीदा गया था. राहुल के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए 2015 में राजस्थान रॉयल्स ने उन्हें अपनी टीम में शामिल किया. उस दौरान राजस्थान रॉयल्स के कप्तान शैन वॉर्न ने भी उनके खेल की तारीफ की थी. हालांकि 2016 में वह किसी कारण खेल नहीं सके थे. 2017 में उन्हें पंजाब किंग्स इलेवन की ओर से खेलने का मौका मिला था. 

राशिद खान हाथ से फिसले तो वीरू ने 21वीं सदी के पहले इंटरनेशनल क्रिकेटर पर खेला दांव

हालांकि, किंग्स इलेवन पंजाब के लिए डेब्यू करने से पहले राहुल चार मैच राजस्थान रॉयल्स के लिए भी खेल चुके थे, लेकिन इन मैचों में वह अपनी कोई पहचान नहीं बना पाए . अब तक राहुल छह फर्स्ट क्लास और छह लिस्ट ए के मैच खेल चुके हैं. हाल ही में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में तेवतिया ने तीन मैचों में 12 पर एक विकेट, 15 पर 2 विकेट और 34 पर एक विकेट लिए. 

11 मैच के बाद मिला था मौका
पिछले साल आईपीएल में राहुल को 25 लाख रुपए में पंजाब किंग्स इलेवन ने खरीदा था, लेकिन शुरुआती 11 मैचों में टीम मैनेजमेंट ने राहुल को टीम में शामिल नहीं किया. राहुल को 11 मैचों के बाद बारहवें मैच में कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ मौका दिया गया. 'करो या मरो' वाले एक मैच में राहुल ने गौतम गंभीर और रोबिन उथप्पा की विकेट लेकर यादगार प्रदर्शन किया था. उन्होंने चार ओवरों में 18 रन देकर 2 विकेट लिए थे. इसी मैच में राहुल ने 8 गेंदों पर 15 रन बनाकर बल्लेबाजी की झलक भी दिखाई थी. 

IPL : अफगान के बाद नेपाली क्रिकेटर का 'वेलकम', भारतीय रेल से रहा पिता का नाता

दादा चाहते थे पहलवान बने राहुल 
बता दें कि राहुल तेवतिया के दादाजी करण सिंह तेवतिया एक पहलवान थे. वह राहुल को भी अपने जैसा बनाना चाहते थे. जबकि उनके चाचा धर्मबीर तेवतिया नेशनल हॉकी खिलाड़ी रह चुके हैं. राहुल के चाचा उन्हें हॉकी ग्राउंड में ले जाना चाहते थे, लेकिन टेनिस गेंद से टर्न कराने के हुनर ने उन्हें राहुल को क्रिकेटर बना दिया.

सहवाग, द्रविड़ और शेन वॉर्न हैं रोल मॉडल 
राहुल तेवतिया वीरेंद्र सहवाग, राहुल द्रविड़ और शेन वॉर्न को अपना आदर्श मानते हैं. लेग स्पिन गेंदबाजी के अलावा विस्फोटक बल्लेबाजी करना भी राहुल तेवतिया को बहुत पसंद है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.