IPL Final 2019: रोहित शर्मा ने खोला राज, आखिरी ओवर के लिए उन्होंने मलिंगा को क्यों चुना

आईपीएल में मुंबई की खिताबी जीत में लसिथ मलिंगा का आखिरी ओवर काफी अहम साबित हुआ, लेकिन रोहित शर्मा के लिए उन्हें आखिरी ओवर देना आसान नहीं था. रोहित ने खुद बताया कि उन्होंने ऐसा क्यों किया.

IPL Final 2019: रोहित शर्मा ने खोला राज, आखिरी ओवर के लिए उन्होंने मलिंगा को क्यों चुना
(फोटो: IANS)

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के सीजन 12  में मुंबई और चेन्नई के बीच हुआ फाइनल बहुत ही रोमांचक रहा. मुंबई की टीम 150 के लक्ष्य का बचाव करने में सफल रही. लेकिन रोहित शर्मा के लिए यह बचाव आसान नहीं रहा. इस मैच में कई उतार चढ़ाव रहे. आंतिम पांच ओवरों में जसप्रीत बुमराह हमेशा की ही तरह मुंबई के लिए तुरूप के पत्ते साबित हुए. मैच का आलाम यह रहा कि यह किसी भी तरफ जा सकता था. ऐसे में आखिरी ओवर के लिए रोहित ने लसिथ मलिंगा को ही क्यों चुना, रोहित ने बताया कि इस पर उनकी क्या सोच रही.

तीन में से दो ही विकल्पों पर विचार किया रोहित ने 
आखिरी  ओवर में चेन्नई को जीत के लिए 9 रन चाहिए थे.  बुमराह अपने चार ओवर फेंक चुके थे. यहां रोहित को तय करना था कि वे आखिरी ओवर किसे दें. उसकेपास तीन विकल्प थे, एक हार्दिक पांड्या , दूसरे क्रुणाल पांड्या और तीसरे लसिथ मलिंगा, लेकिन रोहित ने केवल दो ही विकल्पों पर विचार किया. हार्दिक और मलिंगा. अंततः उन्होंने मलिंगा को चुना और मलिंगा ने बेहतरीन ओवर फेंका और उन्होंने केवल सात देकर टीम को एक रन से ऐतिहासिक जीत दिला दी. 

यह भी पढ़ें: IPLFinal2019: सचिन तेंदुलकर बोले- हालात की बेहतर समझ रोहित को विशेष कप्तान बनाती है

इस तनाव भरे रोमांचक क्षणों में मलिंगा ने अपना धैर्य नहीं खोया जबकि इससे पहले वे तीन ओवर में 42 रन दे चुके थे. शेन वॉटसन को उन्होंने खुल कर खेलने नहीं दिया और वॉटसन रनआउट भी हो गए आखिरी गेंद पर चेन्नई को जीत के लिए दो रन चाहिए थे, लेकिन शार्दुल ठाकुर को एलबीडब्ल्यू आउट कर चेन्नई से मैच छीन लिया और टीम को चौथा आईपीएल खिताब दिला दिया. 

मलिंगा को चुनना आसान था
मैच के बाद रोहित ने इस बात पर रोशनी डाली की उन्होंने आखिरी ओवर मलिंगा को देने का फैसला कैसे किया. रोहित ने बताया कि उनके पास हार्दिक पांड्या का विकल्प भी था लेकिन उन्होंने मलिंगा को चुना, बावजूद इसके उनका तीसरा ओवर काफी महंगा रहा था. रोहित ने कहा, “ मैं चाहता था कि ऐसे गेंदबाज को वह ओवर दूं जो हमारे लिए पहले इस तरह का काम कर चुका हो. मलिंगा पहले कई बार इस तरह के मुश्किल हालातों में सफल हो चुके हैं, इसलिए यह फैसला कठिन नहीं था. 

मैच के बारे  में विस्तार से जानने के लिए पढ़ें: IPL-12 Final: मुंबई चौथी बार आईपीएल चैंपियन, आखिरी गेंद पर 1 रन से जीता मैच

अपनी कप्तान के बारे में यह कहा रोहित ने
रोहित ने अपनी टीम के बारे में कहा, “हमने बढ़िया क्रिकेट खेली, हमें खुशी थी की हम टॉप टू में रहकर क्वालिफाई कर सके. टूर्नामेंट के शुरू में हम टूर्नामेंट को दो भागों में बांटना चाहते थे. लेकिन श्रेय पूरी टीम को जाता है, यहां तक कि सपोर्टिंग स्टाफ को भी. बतौर कप्तान मैं हर टूर्नामेंट से सीख रहा हूं. लेकिन टीम को श्रेय तो जाता ही है. पूरी तरह से विश्वास है कि कप्तान टीम का प्रतिनिधित्व करता है, लेकिन खिलाड़ी ही कप्तान को अच्छा बनाते हैं.”