अंडर 19 वर्ल्डकप में पाकिस्तान की कमर तोड़ने वाले ईशान इस टूर्नामेंट से रहेंगे दूर

अंडर 19 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य इशान पोरेल के पैर की चोट के कारण मौजूदा विजय हजारे ट्राफी टूर्नामेंट से बाहर होने की संभावना है. उन्हें एहतियाती तौर पर उसे आराम की सलाह दी गई है.

अंडर 19 वर्ल्डकप में पाकिस्तान की कमर तोड़ने वाले ईशान इस टूर्नामेंट से रहेंगे दूर
ईशान पोरेल ने अंडर 19 वर्ल्डकप के फाइनल और सेमीफाइनल में भारत के लिए छह विकेट लिए (फोटो : फाइल)

कोलकाता : टीम इंडिया के अंडर 19 वर्ल्डकप जीतने के बाद चारों तरफ उसके खिलाड़ियों और उनके शानदार प्रदर्शन की तारीफ हो रही हैं वहीं ये खिलाड़ी जिन टीमों के लिए खेलते हैं, उनकी उम्मीदें भी बढ़ गईं हैं. लेकिन विजय हजारे ट्राफी में बंगाल के अभियान को झटका लगा क्योंकि भारत की अंडर 19 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य इशान पोरेल के पैर की चोट के कारण मौजूदा टूर्नामेंट से बाहर होने की संभावना है. एक अधिकारी ने बताया, ‘‘एहतियाती तौर पर उसे आराम की सलाह दी गई है. हम उसकी चोट को बढ़ाना नहीं चाहते.’’

पोरेल बुधवार को कोलकाता पहुंचेंगे और बायें पैर की चोट से उबरने की प्रक्रिया शुरू करेंगे. पोरेल के कोच बिभास दास के अनुसार इस तरह की चोट से उबरने में तीन हफ्ते का समय लगता है. विभाष पहले भी बता चुके हैं कि पैर की चोट के कारण ईशान का अंडर 19 विश्व कप में खेलना खटाई में पड़ गया था, लेकिन इस तेज गेंदबाज ने दर्द से जूझते हुए भी टीम की जीत में योगदान दिया. पोरेल के बायें पैर में चोट लगी थी और इस तरह की चोट से उबरने में तीन सप्ताह लगते हैं लेकिन उसने 12 दिन में वापसी की और पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में छह ओवर में 17 रन देकर चार विकेट लिए.

युवराज सिंह ने दी ट्रेनिंग और पंजाबी मुंडा बन गया अंडर 19 वर्ल्डकप का हीरो

दास ने बताते हुए कहा ,'वह पूरी तरह से फिट नहीं हुआ है. उसने दर्द के बावजूद गेंदबाजी की. इस तरह की चोट ठीक होने में तीन सप्ताह लगते हैं.' उन्होंने कहा, 'उसके बायें पैर में चोट लगी थी और उसने पट्टियां बांधकर गेंदबाजी की ताकि चोट बिगड़ ना जाये.' लेकिन विजय हजारे ट्रॉफी में न खेल पाने बारे में विभाष ने कोई टिप्पणी नहीं की थी.

 गौरतलब है कि ईशान पोरेल सेमीफाइनल से पहले कोई खास प्रदर्शन नहीं कर पाए थे. कहा जा रहा है की शायद यही वजह रही कि आईपीएल नीलामी में उन्हें खरीदने में किसी भी फ्रेंजायजी टीम ने दिलचस्पी नहीं दिखाई और वे अनबिके ही रह गए जबकी उनके कई साथी खिलाड़ियों को ऊंची बोली लगा कर खरीद लिया गया. सभी खिलाड़ियों की बेस प्राइस 20 लाख रुपये थी. सोशल मीडिया पर भी ईशान पोरेल की आईपीएल नीलामी में न बिकने पर अफसोस जताया था. 

ईशान के आईपीएल में न बिका जाना तुरंत चर्चा में नहीं आया था लेकिन जब अंडर 19 वर्ल्डकप में जब सेमीफाइनल मैच में उन्होंने 6 ओवरों में 17 रन देकर 4 विकेट झटक कर तहलका मचा दिया था. इस मैच में पहले खेलते हुए टीम इंडिया ने जहां 272 रन बनाए, वहीं इसके जवाब में पाकिस्तान की पूरी टीम 69 रनों पर आउट हो गई. सेमीफाइनल में जब सबकी  निगाहें टीम इंडिया की ओर से कमलेश नागरकोटी और शिवम मावी पर लगी हुई थीं, लेकिन इनके बीच ईशान पोरेल ने आकर पाकिस्तान के होश उड़ा दिए. 28 रन तक पहुंचते पहुंचते पाकिस्तान ने अपने 4 विकेट गंवा दिए. पोरेल के दिए ये 4 झटकों का ही कमाल था कि पाकिस्तान की टीम अंत तक उबर नहीं सकी.

अंडर-19 खिलाड़ियों की कहानी : वर्तमान शानदार, लेकिन भविष्य नहीं हैं निश्चित

बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) के अध्यक्ष गांगुली भी ईशान पोरेल के बारे में कह चुके हैं, "मुझे उम्मीद है कि वह भारत के लिए खेलेंगे. विराट कोहली सबसे बड़ा उदहारण हैं. जब हम अंडर-19 खेला करते थे तब विश्व कप नहीं होता था. मुझे याद है मुंबई में हमने पाकिस्तान के खिलाफ मैच खेला था तब राहुल द्रविड़ मेरी कप्तानी में खेले थे." द्रविड़ इस टीम के मुख्य कोच हैं. उनके मार्गदर्शन में भारत ने इस टूर्नामेंट में एक भी मैच नहीं गंवाया.

गांगुली ने कहा, "मैंने पहले दिन से कहा था कि हमारे तेज गेंदबाज, हमारे स्पिनर हर कोई शानदार हैं." बंगाल के तेज गेंदबाज ईशान पोरेल के बारे में गांगुली ने कहा कि उन्हें फिट रहने की जरूरत है. पोरेल ने इस मैच में दो विकेट लिए.

Sourav Ganguly

गांगुली ने कहा, "अब अंतर ज्यादा है. अब उन्हें लगातार कड़ी मेहनत करनी होगी और सीएबी में अपना ख्याल रखना होगा. हम इस बात को सुनिश्चित करेंगे की वह अच्छे से रहें." उन्होंने कहा, "ईशान की वापसी उनके बारे में बताती है. वह पहले मैच के बाद चोटिल हो गए थे, लेकिन इसके बाद उन्होंने शानदार वापसी की." पोरेल को आस्ट्रेलिया के खिलाफ ग्रुप दौर के पहले मैच में चोट लग गई थी. उन्होंने आखिरी के तीन मैच चोट में रहते हुए खेले थे. 
(इनपुट भाषा)