Zee Rozgar Samachar

देखिए, धोनी ने दिखाई बिजली सी तेजी, ऐसे कर दिया दो बल्लेबाजों का काम तमाम

36 साल की उम्र में भी महेंद्र सिंह धोनी विकेट के पीछे चीते की तरह तेज हैं. जब वह विकेट के पीछे हों तो गलती की गुंजाइश नहीं होती.

देखिए, धोनी ने दिखाई बिजली सी तेजी, ऐसे कर दिया दो बल्लेबाजों का काम तमाम
विलियमसन ने फाइनल में 36 गेंद में 47 रनों की पारी खेली. IANS

नई दिल्ली : आईपीएल के इतिहास में सबसे कामयाब कप्तानों की श्रेणी में महेंद्र सिंह धोनी अगर सबसे ऊपर आते हैं तो इसके पीछे न सिर्फ उनकी चतुर कप्तानी चालें हैं, बल्कि उनका खुद का शानदार खेल भी है. फिर चाहे वह बल्ले के साथ हो या विकेट के पीछे. 36 साल की उम्र में भी वह विकेट के पीछे चीते की तरह तेज हैं. जब वह विकेट के पीछे हों तो गलती की गुंजाइश नहीं होती.

आईपीएल के फाइनल में हैदराबाद के खिलाफ एक बार फिर से उन्होंने अपनी शानदार विकेटकीपिंग से बता दिया कि दुनिया में आज भी उन्हें सबसे शानदार विकेटकीपर माना जाता है. फाइनल में धोनी ने एक नहीं बल्कि विकेट के पीछे दो-दो शिकार किए. सबसे पहले उन्होंने सलामी बल्लेबाज श्रीवत्स गोस्वामी को अपनी तेजी से चौंकाया. इसके बाद उन्होंने चेन्नई के लिए खतरनाक हो चुके हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन को वापस भेज दिया.

IPL फाइनल में 8 साल बाद इस गेंदबाज ने फेंका मेडन ओवर, ऐसा करने वाला चौथा खिलाड़ी

हैदराबाद की पारी का जब दूसरा ओवर ही चल रहा था, उसी समय श्रीवत्स गोस्वामी ने एक शॉट खेलकर दो रन लेने की कोशिश की. एक रन पूरा कर लिया. लेकिन दूसरा रन वह पूरा करते उससे पहले ही धोनी ने कर्ण शर्मा के थ्रेा को लपकते हुए उन्हें रन आउट कर दिया.

इसके बाद जब  13वें ओवर तक हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन खतरनाक रूप लेते जा रहे थे. वह 35 बॉल में 47 रन बना चुके थे. लग रहा था कि यहां से हैदराबाद बड़ा स्कोर बनाएगा, क्योंकि टीम 101 रन बना चुकी थी, लेकिन उसी समय कर्ण शर्मा ने एक गेंद ऑफ स्टंप के काफी बाहर फेंकी, विलियमसन उसे खेलने के लिए बाहर निकले, लेकिन चूक गए. धोनी ने बॉल लपकते हुए चीते सी फुर्ती दिखाई और गिल्लियां बिखेर दीं.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.