वॉटसन ने किया खुलासा, क्या थी हैदराबाद की गेंदबाजी से निपटने की रणनीति

मैच के बाद शेन वॉटसन ने अपनी रणनीति का खुलासा किया. 

वॉटसन ने किया खुलासा, क्या थी हैदराबाद की गेंदबाजी से निपटने की रणनीति
शेन वॉटसन के 57 गेंदों में नाबाद 117 रन की मैच जिताऊ पारी खेली....

मुंबई: शेन वॉटसन के 57 गेंदों में नाबाद 117 रन की बदौलत चेन्नई के सिर पर तीसरी बार आईपीएल का ताज सजा है. चेन्नई ने फाइनल हैदराबाद को आठ विकेट से हरा उसके दूसरे खिताब जीतने के सपने को तोड़ को चकनाचूर कर दिया. हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 178 रनों का मजबूत स्कोर बनाया था. हैदराबाद के गेंदबाजों ने इस सीजन में जिस तरह का प्रदर्शन किया था उसे देखकर लग रहा था कि चेन्नई के लिए यह जीत बेहद मुश्किल होगी, लेकिन वॉटसन ने एक छोर पर अकेले खड़े होकर हैदराबाद के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की और चेन्नई को 18.3 ओवरों में ही लक्ष्य तक पहुंचा दिया. चेन्नई ने सिर्फ दो विकेट खोए. 

मैच के बाद शेन वॉटसन ने अपनी रणनीति का खुलासा किया. उन्होंने बताया, "मेरे लिए यह बेहतरीन सीजन रहा है. आज रात चीजें मेरे पक्ष में रहीं लेकिन इतने बड़े गेम में अच्छा प्रदर्शन करके बहुत खुशी हुई. यह मेरी बहुत ही स्पेशल पारी है. पहली 10 गेंद खेलने के बाद, मैं रनगति बढ़ाने की सोच रहा था. मैं हर बॉल एक रन बनाना चाहता था. भुवी बेहतरीन गेंदबाजी कर रहा था इसलिए हम पहले 6 ओवर बिना कोई विकेट खोए खेलना चाहते थे. जैसे ही गेंद ने स्विंग करना बंद किया, उसके बाद सब कुछ आसान हो गया."

मैच के बाद अंबाती रायडू ने कहा, "इतना शानदार सीजन खेलना खुशनसीबी समझता हूं. मैंने वास्तव में बहुत मेहनत की और विजयी चौका लगाकर खुश हूं. शुरुआत में विकेट बहुत धीमा था लेकिन मैंने सोचा कि यह नमीयुक्त था. विकेट को अच्छी तरह परखा इसलिए मुझे भरोसा था कि लक्ष्य का पीछा कर लेंगे." 

उम्र नहीं फिटनेस मायने रखती है : धोनी

चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम में कई उम्रदराज खिलाड़ी थे लेकिन इसके बावजूद वह आईपीएल-11 की चैंपियन बनने में सफल रही और उसके कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी कहा कि उम्र नहीं बल्कि फिटनेस मायने रखती है. धोनी से मैच के बाद टीम में अधिक उम्र के खिलाड़ियों की मौजूदगी के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि उम्र केवल नंबर है लेकिन खिलाड़ी का पूरी तरह फिट होना जरूरी है. धोनी ने कहा, "हम उम्र के बारे में बात करते हैं लेकिन फिटनेस अधिक महत्वपूर्ण है. रायुडु 33 साल का है लेकिन यह वास्तव में मायने नहीं रखती. अगर आप किसी भी कप्तान से पूछोगे तो वे ऐसा खिलाड़ी चाहते हैं जो चपल हो." 

chennai team

उन्होंने कहा, "हम अपनी कमजोरियों से वाकिफ थे. अगर वाटसन डाइव लगाने की कोशिश करता तो वह चोटिल हो सकता था इसलिए हमने उसे ऐसा नहीं करने के लिये कहा. उम्र केवल नंबर है लेकिन आपको पूरी तरह फिट होना चाहिए." धोनी ने कहा, "जब आप फाइनल में पहुंचते हो तो हर कोई अपनी भूमिका जानता है. जब आप क्षेत्ररक्षण करते हो तो आपको अपनी रणनीति के अनुसार सामंजस्य बिठाना पड़ता है. हमारे बल्लेबाज अपनी शैली से परिचित हैं. अगर किसी को यह मुश्किल लगती तो अगले बल्लेबाज के लिये भी आसान नहीं होता." उन्होंने कहा, "हमें पता था कि उनकी टीम में भुवनेश्वर कुमार और राशिद खान दो अच्छे गेंदबाज हैं जो हम पर दबाव बना सकते हैं. इसलिए मैं मानता हूं कि हमारी बल्लेबाजी बहुत अच्छी रही. लेकिन हमें विश्वास था कि बीच के ओवरों में हम अच्छे रन जुटा सकते हैं."