टीम इंडिया में आते ही चली गई थी इन खिलाड़ियों की IPL में चल रही धमाकेदार फॉर्म

इंग्लैंड दौरे के लिए टीम इंडिया में अंबाती रायडू और सिद्धार्थ कौल का चयन हुआ जो चयन के समय आईपीएल में धमाकेदार प्रदर्शन कर रहे थे. लेकिन उसके बाद उनका प्रदर्शन खास नहीं रहा.

टीम इंडिया में आते ही चली गई थी इन खिलाड़ियों की IPL में चल रही धमाकेदार फॉर्म
टीम इंडिया पर दक्षिण अफ्रीका में बढ़िया प्रदर्शन करने बाद इंग्लैंड में दबाव होगा. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : टीम इंडिया में जगह पाने का सपना हर भारतीय क्रिकेटर का होता है. इसके लिए सभी खिलाड़ियों की कोशिश रहती है कि वे घरेलु क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन करें. इनमें सबसे लोकप्रिय घरेलू टूर्नामेंट होता है इंडियन प्रीमयर लीग जिसमें विदेशी खिलाड़ी भी अपना जोर लगाते हैं. और अपनी बेहतर प्रदर्शन के दम पर अगले साल टीम में बने रहने या ऊंची बोली के साथ बिकने कोशिश में रहते हैं. आईपीएल में प्रदर्शन के दम पर आईपीएल के दौरान ही हाल ही में चेन्नई सुपर किंग्स के अंबाती रायडू और सनराइजर्स हैदराबाद के सिद्धार्थ कौल की चयन इंग्लैंड दौरे के लिए हुआ. लेकिन जैसे ही उनका चयन हुआ दोनों के ही प्रदर्शन में जबर्दस्त फर्क आ गया.

दरअसल इंग्लैंड दौरे के लिए टीम इंडिया का चयन पिछले महीने की 8 तारीख को हुआ था. तब तक आईपीएल के करीब आधे से ज्यादा मैच हो चुके थे. इस दिन इंग्लैंड दौरे के लिए वनडे टीम इंडिया का ऐलान हुआ था. विराट कोहली की कप्तानी में इस टीम में जहां श्रेयस अय्यर के साथ अंबाती रायडू और सिद्धार्थ कौल को भी जगह दी गई थी. इनके अलावा लगभग सभी खिलाड़ी वहीं हैं जो दक्षिण अफ्रीका दौरे पर थे.

अंबाती रायडू का नाम उस समय आईपीएल में खूब धूम मचा रहा था. 10 मैच खेलने के बाद वे ऑरेंज कैप की दौड़ में सबसे आगे थे. वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम में वापसी करने वाले रायडू ने अपना पिछला वनडे मैच 15 जून, 2016 में जिम्बाब्वे के खिलाफ खेला था. इसके बाद से उन्हें टीम में वापसी का मौका नहीं मिला. आईपीएल 2018 में अंबाती रायडू 10 मैचों में 423 रन बनाकर मुख्य स्कोरर थे. अंबाती रायडू चेन्नई टीम के ओपनिंग कर रहे थे और कभी उन्होंने अपनी टीम को निराश नहीं किया. उस वक्त उन्होंने 151.61 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए थे.

दो साल बाद टीम इंडिया में चेन्नई के इस खिलाड़ी की हुई वापसी, कुछ यूं हुआ 'स्वागत'
अंबाती रायडू को भारतीय वनडे टीम में मिली जगह (PIC : IANS)

उसी दिन आयरलैंड और इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 मैचों के लिए विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया का ऐलान किया गया था.  इस टीम में वाशिंगटन सुंदर और सिद्धार्थ कौल ऐसे खास चेहरे थे जिन्हें को मौका दिया गया है. क्योंकि उनका टीम में स्थान पक्का नहीं था. सिद्धार्थ कौल को वनडे टीम में भी लिया गया था. सिद्धार्थ कौल आईपीएल 2018 में हैदराबाद टीम की तरफ से खेल रहे थे. सिद्धार्थ उस समय आईपीएल में बेहतरीन फॉर्म में चल रहे थे. वे आईपीएल के 11वें सीजन में तबतक 10 मैच खेलकर 40 ओवर फेंकी चुके थे. उन्होंने 282 रन देकर 13 विकेट हासिल किए थे और आईपीएल में पर्पल कैप के एक मजबूत दावेदार माने जा रहे थे. 

'बाज' की तेजी से आए राशिद खान और लपक लिया रहाणे का कैच, सिद्धार्थ कौल ने ऐसे मनाया जश्न
सिद्धार्थ कौल ने चार ओवरों में महज 17 रन देकर दो विकेट लिए (PIC : IANS)

लेकिन इसके बाद रायडू और सिद्धार्थ दोनों के ही प्रदर्शन कुछ बदल सा गया. रायडू की बात करें तो टीम की घोषणा होने के बाद 11 मई को राजस्थान के खिलाफ रायडू केवल 9 गेंदों पर 11 रन बना सके. 13 मई को हैदराबाद के खिलाफ 62 गेंदों पर 100 रन, 18 मई को दिल्ली के खिलाफ 29 गेंदों पर 50 रन, 20 मई को पंजाब के खिलाफ 3 गेंद पर 1 रन, 22 मई को प्लेऑफ मैच में हैदराबाद के खिलाफ 1 गेंद पर 0 रन, और 27 मई को फाइनल में हैदराबाद के खिलाफ 19 गेंदों में नाबाद 16 रन बनाए. इस तरह से रायडू ने आखिरी पांच मैचों में 167 रन बनाए. रायडू के केवल एक शतक की बदौलत 146 का स्ट्राइक रेट आ गया था. जबकि इससे पहले करीबन हर दूसरे मैच में उनका प्रदर्शन शानदार रहा था. 

अब बात करें सिद्धार्थ कौल की सिद्धार्थ ने 10 मई को 4 ओवर में बिना विकेट लिए 48 रन दिए, 13 मई को चेन्नई के खिलाफ 3 ओवर में बिना विकेट लिए 40 रन, 17 मई को बेंगलुरु के खिलाफ 4 ओवर में 2 विकेट लेकर 44 रन, 19 मई को कोलकाता के खिलाफ 4 ओवर  में 26 रन देकर 2 विकेट, 22 मई को प्लेऑफ के पहले क्वालिफायर में चेन्नई के खिलाफ 4 ओवर में दो विकेट लेकर 32 रन दिए, 25 मई को कोलकाता के खिलाफ 4 ओवर में दो विकेट लेकर 32 रन, और 27 मई को फाइनल में चेन्नई के खिलाफ 3 ओवर में बिना विकेट लिए 43 रन दिए. इस तरह अंतिम सात मैचों में  26 ओवर में 265 देकर 8 ही विकेट लिए. 

कमी आ गई थी दोनों के प्रदर्शन मेंं 
इस तरह से दोनों ही खिलाड़ियों का प्रदर्शन प्रभावित हुआ. रायडू के एक दो मैच छोड़ दें तो उनके भी प्रदर्शन में उल्लेखीय गिरावट रही खास तौर पर जिस तरह से वे शुरुआती मैचों में उठे थे. यही हाल कुछ सिद्धार्थ कौल का रहा. उनकी भी खूब हवा बनी जो उनके चयन के बाद हवा हो गई. 

प्रदर्शन में निरंतरना न रहना कोई बड़ी बात नहीं है खेल तो जाना ही उतार चढ़ाव के लिए हैं. लेकिन यह महज इत्तेफाक ही रहे तो अच्छा है. बहराल टीम इंडिया के सभी खिलाड़ियों के लिए इंग्लैंड दौरा आसान नहीं होने वाला. उन्हें आईपीएल को भूल कर ही वहा के हालातों में ढलते हुए अपना बेस्ट देना होगा.

ऐसा रहेगा कार्यक्रम भारत का 
भारत आयरलैंड के साथ 27 और 29 जून को दो टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगा. इसके बाद वह इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना होगा. इंग्लैंड में पहला टी-20 मैच तीन जुलाई को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड, दूसरा टी-20 छह जुलाई को कार्डिफ और तीसरा टी-20 मैच ब्रिस्टल में आठ जुलाई को खेलेगा. दोनों सीरीज के लिए एक ही टीम चुनी गई है. 

वहीं भारत और इंग्लैंड के बीच वनडे सीरीज की शुरुआत 12 जुलाई से हो रही है. इसमें पहला मैच नोटिंघम के ट्रेंट ब्रिज स्टेडियम में खेला जाएगा. इसके अलावा, 14 जुलाई को दूसरा मैच लंदन के लॉर्ड्स में और तीसरा मैच 17 जुलाई को लीड्स के हेडिंग्ले मैदान पर खेला जाएगा.