JNU हिंसा से गुस्से में खिलाड़ी; ज्वाला गुट्टा ने पूछा- क्या हम अब भी चुप रहेंगे, गंभीर बोले...

JNU परिसर में रविवार को हुई हिंसा का देशभर में विरोध हो रहा है. राजनीति से लेकर खेल जगत ने हमले की निंदा की है.

JNU हिंसा से गुस्से में खिलाड़ी; ज्वाला गुट्टा ने पूछा- क्या हम अब भी चुप रहेंगे, गंभीर बोले...
बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: JNU परिसर में रविवार को हुई हिंसा का देशभर में विरोध हो रहा है. इस हमले के विरोध में सोमवार को कई शहरों में छात्रों ने प्रदर्शन किया. राजनीति से लेकर खेल जगत ने हमले की निंदा की है. पूर्व क्रिकेटर और सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने इस हिंसा के आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है. वहीं, बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा (Jwala Gutta) ने हमले की निंदा करने के साथ-साथ सवाल भी उठाए हैं. उन्होंने इस मसले पर तीन ट्वीट किए. 

गौतम गंभीर और ज्वाला गुट्टा उन खिलाड़ियों में से हैं, जो सामाजिक और राजनीतिक मसलों पर भी अपनी राय खुलकर रखते रहे हैं. गंभीर तो अब नेता भी बन चुके हैं. भाजपा के इस सांसद ने जेएनयू में हुई हिंसा (JNU Violence) के बाद ट्वीट किया, ‘यूनिवर्सिटी कैंपस में ऐसी हिंसा भारतीय राष्ट्र की सोच के बिलकुल विपरीत है. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि विचारधारा क्या है, छात्रों को इस तरह से निशाना नहीं बनाया जा सकता. उन गुंडों पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए, जिन्होंने यूनिवर्सिटी कैंपस में प्रवेश कर ऐसा दुस्साहस किया है.’ 

यह भी पढ़ें: KL राहुल और धवन में चल रही रेस, तूफानी ओपनर ने कहा- मेरी टीम में शिखर की कोई जगह नहीं 

ज्वाला गुट्टा भी हमेशा की तरह सजग नजर आईं. उन्होंने रविवार को रात में ही दो ट्वीट किए. ज्वाला ने अपनी पहली पोस्ट में लिखा, ‘JNU में हिंसा. ये क्या हो रहा है... ये क्या है!!’ उन्होंने कुछ देर बाद एक और ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, ‘क्या हम सब अब भी ऐसे ही चुप रहेंगे? देखो हमारे छात्रों के साथ क्या हो रहा है? 

ज्वाला गुट्टा यहीं नहीं रुकीं. उन्होंने सोमवार को भी इस मसले पर चिंता जताई और ट्वीट किया, ‘आखिर वे लोग जो दोषी पाए गए थे, वे क्यों नहीं पकड़े गए और उन पर मामला दर्ज क्यों नहीं किया गया? आखिर सुरक्षाकर्मी यूनिवर्सिटी के बाहर कर क्या रहे हैं?’ 

यह भी पढ़ें: पाकिस्तानी दिग्गज ने कहा- 4 दिन का टेस्ट बकवास आइडिया, BCCI कभी नहीं देगा मंजूरी

ज्वाला गुट्टा ने इससे पहले हैदराबाद में बलात्कार के 4 आरोपियों के एनकाउंटर पर भी सवाल उठाए थे. उन्होंने पुलिस पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया था, ‘क्या यह भविष्य के बलात्कारियों को रोक सकेगा? और एक महत्वपूर्ण सवाल, क्या अब हर रेपिस्ट से ऐसा ही बर्ताव किया जाएगा... उनकी सामाजिक प्रतिष्ठा के बावजूद.’