जूनियर एंड कैडेट ओपन: भारतीय जूनियर्स ने जीते दो सिल्वर, तीन ब्रॉन्ज

जूनियर एंड कैडेट ओपन में अपना शानदार प्रदर्शन करते हुए भारत के युवा टेबल टेनिस खिलाड़ियों ने दो सिल्वर सहित पांच मेडल अपने नाम किए

जूनियर एंड कैडेट ओपन: भारतीय जूनियर्स ने जीते दो सिल्वर, तीन ब्रॉन्ज
भारतीय जूनियर खिलाड़ियों ने जूनियर एंड कैडेट ओपन में शानदार प्रदर्शन किया. (फाइल फोटो)

कोवीलोवो (सर्बिया): भारत के युवा टेबल टेनिस खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते यहां जूनियर एंड कैडेट ओपन में गुरुवार को दो सिल्वर सहित पांच मेडल अपने नाम किए. दीप्ति पाटिल और अंकुराम जैन तथा राधाप्रिया गोयल और अनुशा कुटुम्बाले की जोड़ियों ने जूनियर बालक एवं बालिका युगल वर्ग में सिल्वर मेडल जीते. 

जूनियर बालिका युगल वर्ग में दिया चिटाले और स्वास्तिका घोष ने ब्रॉन्ज मेडल जीते. मानुष शाह इकलौते ऐसे खिलाड़ी रहे जिन्होंने दो मेडल अपने नाम किए. उन्होंने जूनियर बालक वर्ग में राएगान अल्बुक्लेक्वे के साथ ब्रॉन्ज मेडल जीतने के अलावा एकल वर्ग में भी कांसा का तमगा हासिल किया. 

भारतीय जोड़ियों ने किया शानदार प्रदर्शन
दीप्ति-अंकुराम और राएगान-मानुष ने आसानी से सेमीफाइनल में जगह बनायी. अंतिम चार में राएगान-मानुष की जोड़ी को थाईलैंड-इंडोनेशिया के यानापोंग पानागिटगुन और जेराल्ड जुन यु जोंग की जोड़ी से 2-3 से मात खानी पड़ी. दीप्ति-अंकुराम की जोड़ी को सिंगापुर के जोश शाओ हान चुआ तथा येव एन कोएन पांग की जोड़ी को 3-2 से पराजित किया.

फाइनल में दीप्ति-अंकुराम की जोड़ी ने विजयी शुरुआत की, लेकिन वह अपने अगले दो मैच हार गई. हालांकि अगला गेम जीत उन्होंने वापसी की कोशिश की लेकिन निर्णायक गेम में वह 8-11 से हार कर मैच भी गंवा बैठीं. 

जू्नियर बालिका वर्ग में तीन भारतीय जोड़ियों ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई. हालांकि दिया-स्वास्तिक और राधाप्रिया-अनुशा ने जीत हासिल की की लेकिन पोयमांटी बायसा-प्राप्ती सेन को टूर्नामेंट से बाहर जाना पड़ा. 

राधाप्रिया-अनुशा ने सेमीफाइनल में 3-0 से जीत हासिल करते हुए फाइनल में जगह पक्की की, लेकिन दिया-स्वास्तिक को थाईलैंड की जिन्नीपा सावेटावुट और सिंगापुर की यूनिसे लिम की जोड़ी से हारकर ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा. 

इस वर्ग के फाइनल में रोचक मुकाबला देखने को मिला. दोनों टीमों ने एक दूसरे को कड़ी टक्कर दी लेकिन आखिरी गेम में जिन्नीपा और यूनिसे ने बाजी मारी और निर्णायक गेम 11-9 से अपने नाम करते हुए स्वर्ण मेडल पर कब्जा किया.