Breaking News
  • कोलकाता से आज से घरेलू उड़ानें शुरू, एयरपोर्ट पर 10 उड़ानें आएंगी और इतनी ही जाएंगी

लिएंडर पेस रचेंगे इतिहास, बोपन्ना ने साथ खेलने पर जतायी सहमति

अनुभवी खिलाड़ी लिएंडर पेस के लिये रिकार्ड सातवें ओलंपिक खेलों में भाग लेने का रास्ता साफ हो गया क्योंकि रोहन बोपन्ना ने एआईटीए के अनुरोध पर उन्हें अपने पुरूष युगल जोड़ीदार के रूप में स्वीकार किया, जिससे रियो खेलों के लिये भारतीय टीम को लेकर चल रही अटकलों का दौर भी खत्म हो गया।बोपन्ना हालांकि साकेत मायनेनी के साथ जोड़ी बनाने के इच्छुक थे लेकिन अखिल भारतीय टेनिस संघ की चयन समिति को लगता है कि पेस और बोपन्ना पदक के लिये ‘सर्वश्रेष्ठ विकल्प’ है।

लिएंडर पेस रचेंगे इतिहास, बोपन्ना ने साथ खेलने पर जतायी सहमति

नयी दिल्ली: अनुभवी खिलाड़ी लिएंडर पेस के लिये रिकार्ड सातवें ओलंपिक खेलों में भाग लेने का रास्ता साफ हो गया क्योंकि रोहन बोपन्ना ने एआईटीए के अनुरोध पर उन्हें अपने पुरूष युगल जोड़ीदार के रूप में स्वीकार किया, जिससे रियो खेलों के लिये भारतीय टीम को लेकर चल रही अटकलों का दौर भी खत्म हो गया।बोपन्ना हालांकि साकेत मायनेनी के साथ जोड़ी बनाने के इच्छुक थे लेकिन अखिल भारतीय टेनिस संघ की चयन समिति को लगता है कि पेस और बोपन्ना पदक के लिये ‘सर्वश्रेष्ठ विकल्प’ है।

बोपन्ना के पास ओलंपिक पदक हासिल करने के दो मौके होंगे क्योंकि उन्हें मिश्रित युगल स्पर्धा में सानिया मिर्जा के साथ चुना गया है, जो खुद उनके साथ खेलना चाहती थीं।सानिया महिला युगल स्पर्धा में प्रार्थना थोम्बरे के साथ खेलेंगी जो उनके पिता और कोच इमरान मिर्जा के मार्गदर्शन में उनकी अकादमी में ट्रेनिंग करती हैं।

यह सुनिश्चित करने के लिये कि बोपन्ना और पेस अपने मतभेद और ‘असहजता’ सुलझा लें, एआईटीए ने उन्हें अगले महीने कोरिया के खिलाफ होने वाले मुकाबले के लिये डेविस कप टीम में भी शामिल किया है।एआईटीए ने नियमों से हटकर सात सदस्यीय टीम का चयन किया है क्योंकि पेस ने खुद को इसके लिये उपलब्ध करार किया था। एआईटीए को लगता है कि रियो खेलों से एक हफ्ते पहले एक साथ समय बिताने से उन्हें आपसी तालमेल बिठाने का मौका मिलेगा।

लेकिन सबसे बड़ी बात है कि ओलंपिक टीम चयन से पहले हर बार की तरह होने वाला संकट इस बार टल गया है क्योंकि बोपन्ना ने इस बार एआईटीए के फैसले का विरोध नहीं किया।एआईटीए के अध्यक्ष और आईटीएफ के उपाध्यक्ष अनिल खन्ना ने टीम घोषित करने के बाद कहा, ‘हम सभी खिलाड़ियों का सम्मान करते हैं। हम चाहते हैं कि वे देश का प्रतिनिधित्व करते हुए सहजता से खेलें।’ खन्ना ने कहा कि चयन समिति बोपन्ना के पेस और मायनेनी के साथ खेले गये डेविस कप के परिणाम देखे और पाया कि बोपन्ना और पेस की जोड़ी पदक की सर्वश्रेष्ठ दावेदार है।

बोपन्ना ने एआईटीए को लिखा था कि वह और पेस अच्छा संयोजन नहीं बन पायेंगे। उन्होंने कल पत्र में लिखा था, ‘मैं लिएंडर पेस और उनकी उपलब्धियों का बहुत सम्मान करता हूं लेकिन मैं नहीं मानता कि हमारा खेलने का तरीका एक दूसरे का पूरक है। यह एक टीम स्पर्धा है जिसमें दो खिलाड़ियों को एक साथ तालमेल बिठाना होता है, भले ही व्यक्तिगत उपलब्धियां कुछ भी हों, यह टीम है और इसमें संयोजन मायने रखता है।’

हालांकि इस 36 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा कि उन्होंने एआईटीए के फैसले को स्वीकार कर लिया है। उन्होंने कहा, ‘‘एआईटीए की चयन समिति ने अपना फैसला कर लिया है और ओलंपिक के लिये टीम चुनी है। मैं उनके इस फैसले का सम्मान करता हूं और रियो में भाग लेने के लिये तैयार हूं। ’’ एआईटीए ने डेविस कप के कोच जीशान अली को ओलंपिक टीम का कप्तान चुना है।

जीशान ने कहा, ‘‘अब आगे बढ़ने का समय है। लिएंडर और रोहन में पदक के लिये चुनौती देने की कुव्वत है। यह कठिन होगा, इसमें कोई शक नहीं है लेकिन वे अब काफी समय से शीर्ष स्तर पर रहे हैं। मतभेदों को एक तरफ रख दें तो यह एक अच्छी जोड़ी है।’’एआईटीए ने अगले महीने चंडीगढ़ में कोरिया के खिलाफ होने वाले एशिया-ओसनिया ग्रुप एक मुकाबले के लिये भी सात सदस्यीय टीम की घोषणा की लेकिन अंतिम घोषणा पांच जुलाई को की जायेगी।

यह पूछने पर कि पेस और बोपन्ना के बीच मतभेदों को दूर करने के लिये एक हफ्ते का समय बहुत होगा जो कई सालों से बन रहे हैं तो डेविस कप कोच जीशान ने कहा, ‘‘कम से कम एक हफ्ते के लिये एक साथ होना बेहतर है। यह कम से कम एक साथ बिलकुल नहीं खेलने से तो अच्छा है। बातचीत महत्वपूर्ण है। अब सब चीज का निपटारा हो गया है और खेलों के लिये तैयार हैं। ’’ युकी भांबरी 147 से देश के सबसे उंची के एकल खिलाड़ी हैं, उन्हें मायनेनी :एकल में 150वें और युगल में 125वें नंबर:, बोपन्ना :युगल में 10वीं रैंकिंग:, पेस :युगल में 46वीं रैंकिंग:, रामकुमार रामनाथन :एकल में 224:, विष्णु वर्धन और सुमित नागल के साथ टीम में शामिल किया गया है।वर्धन और नागल रिजर्व खिलाड़ी होंगे जबकि खेलने वाले चार खिलाड़ियों के नाम पांच जुलाई को घोषित होंगे।