close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: लुइस हैमिल्टन के नाम रही F-1 वर्ल्ड चैंपिशनशिप की 1000वीं रेस

हैमिल्टन ने चाइनीज ग्रां प्री रेस जीतकर अपना नाम इस खेल के इतिहास में अमर कर लिया.

VIDEO: लुइस हैमिल्टन के नाम रही F-1 वर्ल्ड चैंपिशनशिप की 1000वीं रेस
लुइस मौजूदा चालकों में सबसे अधिक 75 बार पहला स्थान हासिल कर चुके हैं. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: मर्सिडीज टीम के ब्रिटिश चालक लुइस हैमिल्टन (Lewis Hamilton) ने रविवार को शंघाई इंटरनेशनल सर्किट पर आयोजित चाइनीज ग्रां प्री रेस जीतकर अपना नाम इस खेल के इतिहास में अमर कर लिया. यह एफ-1 विश्व चैम्पियनशिप इतिहास की 1000वीं रेस थी. हैमिल्टन ने 900वीं रेस भी जीती थी और वह अब तक मौजूदा चालकों में सबसे अधिक 75 बार पहला स्थान हासिल कर चुके हैं.

एफ-1 इतिहास में ब्रिटिश चालकों का बोलबाला रहा है. 1000 में से 279 बार ब्रिटेन के चालकों ने रेस में पहला स्थान हासिल किया है. इनमें 75 जीत के साथ हैमिल्टन सबसे आगे हैं. वैसे एफ-1 इतिहास में सबसे अधिक जीत का रिकार्ड जर्मनी के चालक माइकल शूमाकर के नाम है. शूमाकर ने कुल 91 रेस जीती है. जर्मन चालक 178 बार पहला स्थान हासिल करने में सफल रहे हैं.

ब्रिटिश चालकों की बात करें तो हैमिल्टन के बाद निगेल मैंशेल ने 31, जैकी स्टीवार्ट ने 27, जिम क्लार्क ने 25, डेमन हिल ने 22, स्टर्लिग मॉस ने 16, जेनसन बटन ने 15, ग्राहम हिल ने 14, डेविड कोर्टलैंड ने 13, जेम्स हंट ने 10, टोनी ब्रूक्स ने 6, जॉन सर्टीस ने 6, जॉन वॉटसन ने 5, एडी इर्विन ने 4, माइक हॉथॉर्न ने 3, पीटर कोलिंस ने 3, जॉनी हर्बर्ट ने तीन, इनेस आयरलैंड और पीटर गेटहिन ने एक-एक रेस जीती है.

जर्मन चालकों की बात करें तो शूमाकर ने 91, शंघाई में तीसरे स्थान पर रहे सबास्टियन विटेल ने 52, निको रोसबर्ग ने 23, राल्फ शूमाकर ने 6, हेंज फ्रेंटजेन ने 3, वूल्फगैंग ट्रिप्स ने दो और जोचेन मास ने एक रेस जीती है.

एफ-1 इतिहास में सिर्फ ब्रिटेन, जर्मनी और ब्राजील के चालक 100 से अधिक रेसें जीत सके हैं. ब्राजील की बात करें तो उसके एफ-1 आयकन एर्टन सेना ने 41 बार पहला स्थान हासिल किया है जबकि नेल्सन पिग्वेट ने 23, एमर्सन फिट्टीपाल्डी ने 14, रुबेंस बारीचेलो ने 11, फिलिप मासा ने 11 और कार्लोस पेस ने 1 एक रेस जीती है.

इसके बाद फ्रांसीसी चालकों का स्थान आता है. फ्रांस के लिए एलेन प्रॉस्ट ने सबसे अधिक 51 बार पहला स्थान हासिल किया है. इसके बाद रेने एर्नाक्स ने सात, जेक्विस लेफिट ने 6, दिदिर पिरोनी ने 3, मौरिस टिंटिंगनैंट ने दो, पैट्रिक डैपैलियर, जीन जाबोल, पैट्रिक टैम्बे ने दो-दो, फ्रांकोइस केवर्ट, जीन बेल्टोइस, जीन एलीसी और ओलीवर पेनिस ने एक-एक रेस जीती है.

सबसे अधिक रेस जीतने वाले देशों की सूची में पांचवें स्थान पर फिनलैंड का नाम है, जिसके लिए किमी राइकोनेन ने सबसे अधिक 21 रेस जीती है. शंघाई में रविवार को राइकोनेन नौवें स्थान पर रहे. इसके बाद मीका हेकिनेन ने 20, केके रोसबर्ग ने पांच, इस साल मर्सिडीज के चालक वालटेरी बाटोस ने चार (बाटोस शंघाई में दूसरे स्थान पर रहे) और हिक्की कोवालिनेन ने एक रेस जीती है.

इसके बाद इटली का स्थान है, जिसके चालकों ने 43 बार पहला स्थान हासिल किया है. इनमें अल्बटरे अस्करी (13), रिकाडरे पैट्रिस (6), गिउसेप फारिना (5), मिशेल एल्बोरेटो (5), जियानकार्लो फिस्चिला (3), एलियो एंजेलिस (2), लुइगी फागियोली (1), पिएरो तारफी (1) , लुइगी मुस्सो (1), जियानकार्लो बागेटी (1), लोरेंजो बंदिनी (1), लुडोविको स्कारफीटी (1), विटोरियो ब्रांबिला (1), एलेसेंड्रो बारिनी (1), जर्नो ट्रूली (1) विजेता रहे हैं.

सातवें स्थान पर ऑस्ट्रेलिया है, जिसके 42 चालकों ने पोडियम पर पहला स्थान पाया है. इनमें जैक ब्रेहम (14), एलन जोन्स (12), मार्क वेबर (9), डैनियल रिकाडरे (7) प्रमुख हैं.

ऑस्ट्रिया के 41 चालक रेस जीतने में सफल रहे हैं. इनमें निकी लौडा (25), गेरहार्ड बर्जर (10), जोचेन रिंड्ट (6) हैं. इसी तरह अर्जेंटीना के 38 चालकों ने बाजी मारी है. इस सूची में जुआन मैनुअल फांगियो (24), कार्लोस रुटेमैन (12), जोस फ्रिलियन गोंजालेज (2) शामिल हैं. अन्य खेलों में पावरहाउस माने जाने वाले अमेरिका के चालकों ने 33 बार पहला स्थान हासिल किया है. इनमें मारियो एंड्रेती (12), डैन गुर्नी (4), फिल हिल (3), बिल वोविक (2), पीटर रेवसन (2), जॉनी पार्सन्स (1), ली वॉलार्ड (1), ट्रॉय रॉटमैन (1) ), बॉब स्विकर्ट (1), पैट फ्लेहर्टी (1), सैम हैंक्स (1), जिमी ब्रायन (1), रॉजर वार्ड (1), जिम रथमन (1), रिची गिन्थर (1) शामिल हैं.

इस सूची में स्पेन ने 32 बार पोडियम पर पहल स्थान पाया है और हर बार फर्नांडो अलोंसो ने उसका प्रतिनिधित्व किया है. इसी तरह कनाडा के 17 चालकों में जैक्स विलेन्यूव (11), गिल्स विलेन्यूवे (6) शामिल हैं. न्यूजीलैंड के 12 ऐसा करने में सफल रहे हैं. इनमें डेनी हुल्मे (8), ब्रूस मैकलारेन (4) शामिल हैं. स्वीडन को 12 बार पहला स्थान मिला है और उसके लिए रोनी पीटरसन (10), जो बॉनियर (1), गुन्नार निल्सन (1) ने यह मुकाम हासिल किया है.

इस सूची में 15वें स्थान पर बेल्जियम है जिसके 11 चालक पहला स्थान हासिल करने में सफल रहे हैं. इनमें से जैकी आइक्स (8), थियरी बाउटसेन (3) शामिल हैं. इसके बाद दक्षिण अफ्रीका का स्थान आता है. उसके 10 चालक पहले स्थान पर आए हैं और हर बार जोडी स्कैटर ने उसका प्रतिनिधित्व किया है. अन्य देशों में कोलम्बिया (7, जुआन पाब्लो मोंटोया (7), स्विट्जरलैंड (7, क्ले रेजाजोनी (5), जो सिफर्ट (2), नीदरलैंड्स (5, मैक्स वेरस्टापेन (5), मैक्सिको (2 ,प्रेडो रोड्रिगेज (2), पोलैंड (1, रॉबर्ट कुबिका), वेनेजुएला (1, पादरी माल्डोनाडो) शामिल हैं.

चालक के लिहाज से सबसे अधिक जीत का रिकार्ड शूमाकर के नाम रहा है, जो 1991 से 2006 और 2010 से 2012 तक सक्रिय रहे. चाइनीज ग्रां प्री शूमाकर की अंतिम रेस थी. इसके बाद हैमिल्टन (75), विटेल (52), एलेन प्रॉस्ट (51) का स्थान आता है. एफ-1 रेसों का आयोजन भारत सहित कुल 32 देशोें में आयोजित हो चुका है.