तीन साल बाद फिर खिताब जीते महेश भूपति, माइनेनी ने दिखाया शानदार खेल

चोट के बाद प्रतिस्पर्धी टेनिस में वापसी कर रहे महेश भूपति ने शनिवार को यहां युकी भांबरी के साथ मिलकर दिल्ली ओपन जीता जो उनका तीन साल में पहला खिताब भी है जबकि साकेत माइनेनी ने पुरुष एकल फाइनल में जगह बनाई।

तीन साल बाद फिर खिताब जीते महेश भूपति, माइनेनी ने दिखाया शानदार खेल

नई दिल्ली : चोट के बाद प्रतिस्पर्धी टेनिस में वापसी कर रहे महेश भूपति ने शनिवार को यहां युकी भांबरी के साथ मिलकर दिल्ली ओपन जीता जो उनका तीन साल में पहला खिताब भी है जबकि साकेत माइनेनी ने पुरुष एकल फाइनल में जगह बनाई।

माइनेनी ने किया शानदार प्रदर्शन

उच्च स्तरीय टेनिस खेलते हुए भूपति और भांबरी ने गत चैम्पियन साकेत माइनेनी और सनम सिंह के खिलाफ युगल फाइनल 6-3, 4-6, 10-5 से जीत लिया। माइनेनी भले ही युगल खिताब नहीं जीत सके हों लेकिन इससे पहले दिन में उन्होंने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया। मैच के दौरान लगातार सर्विस में सुधार करने वाले दुनिया के 166वें नंबर के खिलाड़ी माइनेनी ने बेल्जियम के दूसरे वरीय किमेर कोपेयांस की चुनौती को तोड़ते हुए को डीएलटीए परिसर में 50 हजार डॉलर इनामी एटीपी चैलेंजर प्रतियोगिता के सेमीफाइनल में 6-3 6-2 से हराया।

माइनेनी के पास दूसरा मौका

इस शानदार प्रदर्शन के बाद माइनेनी के पास अपने करियर का दूसरा चैलेंजर स्तर का एकल खिताब जीतने का मौका है। उन्होंने पहला खिताब इंदौर में अक्टूबर 2014 में जीता था। माइनेनी सुबह के मैच में बेहतरीन सर्विस कर रहे थे लेकिन भूपति और भांबरी ने युगल मैच में दो बार (पांचवें और नौंवे) उनकी सर्विस तोड़कर पहला सेट हासिल किया। दोनों ही बार माइनेनी ने ब्रेकप्वाइंट पर डबल फाल्ट की।

भूपति की सर्विस में पुराना जोश

भूपति अभी 41 वर्ष के हैं लेकिन उनकी सर्विस में वही तेजी मौजूद है और उनके ग्राउंड स्ट्रोक्स हर मैच के बाद बेहतरीन ही होते जा रहे हैं। रिटर्न्‍स के मामले में सनम सिंह चारों खिलाड़ियों में बेहतरीन थे। वह बेहद मुश्किल कोण से विनर लगाते हैं, जिस पर भूपति और भांबरी कभी-कभार सिर्फ गेंद को आगे बढ़ते ही देखते रहे। भूपति ने कहा कि उन्होंने युकी के साथ खेल का लुत्फ उठाया जबकि इस युवा भारतीय ने कहा कि इस स्टार के साथ खेलना उसके लिये सम्मान की बात थी।