युवा खिलाड़ियों के बीच मैरी कॉम और सरिता का कमाल, एशियाई चैम्पियनशिप अब दिखाएंगी दम

मैरी कॉम और ए सरिता देवी अगले महीने होने वाली एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के लिये भारतीय टीम में जगह बनाने में कामयाब रही हैं.

युवा खिलाड़ियों के बीच मैरी कॉम और सरिता का कमाल, एशियाई चैम्पियनशिप अब दिखाएंगी दम
मेरी कॉम अौर सरिता देवी. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : महिला मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम (48 किलोग्राम वर्ग) और ए सरिता देवी (64 किलोग्राम) अगले महीने होने वाली एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के लिये भारतीय टीम में जगह बनाने में कामयाब रही हैं. तीन दिनों तक हुये ट्रायल में भार वर्ग बदल कर भी दोनों अनुभवी खिलाड़ी युवा मुक्केबाजों की चुनौती पार पाने में सफल रहे. चीन के हो ची मिन्ह शहर में दो से 11 नवंबर तक ये मुकाबले होंगे. पांच बार की विश्व चैम्पियन मैरी काम ने एशियाई और ओलंपिक खेलों में 51 किलोग्राम भार वार्ग को शामिल करने के बाद 2010 से इस वर्ग में खेल रही हैं. यह छठी बार है, जब वह एशियाई चैम्पियनशिप में भाग ले रही हैं. राज्यसभा सांसद मैरी काम ने ट्रायल में छह बाउट खेल सभी में जीत हासिल की.  इस दौरान उन्होंने विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक विजेता सरजूबाला देवी को भी पटखनी दी.

ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली इस 34 वर्षीय खिलाड़ी ने पिछले साल कहा था कि वह टूर्नामेंट के हिसाब से 48 और 51 किलोग्राम के भार वर्ग के बीच बदलाव करती रहेंगी. सरिता (35) ने एशियाई चैम्पियनशिप में 4 स्वर्ण सहित 5 पदक अपने नाम किए हैं. हाल ही में वह पेशेवर बनी थीं, जहां उन्होंने अपना पहला बाउट जीता, लेकिन उन्होंने फिर से अमेच्योर वापसी की है और 60 की जगह 64 किलोग्राम वर्ग में दावेदारी पेश करेंगी.

यह भी देखें : ज़ी मीडिया के साथ मेरी कॉम का एक्‍सक्‍लूसिव इंटरव्‍यू

इस साल सर्बिया में नेशन कप जीतने वाली हरियाणा की मुक्केबाज नीरज (51 किलोग्राम) एशियाई चैम्पियनशिप में डेब्यू कर रही है. विश्व चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता सोनिया लाथर (57 किग्रा) भी टीम में जगह बनाने में कामयाब रही है.

गत एशियाई चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता सावेती बोरा (81 किग्रा) भी इस साल अपने पदक के रंग को बेहतर बनाने के लक्ष्य के साथ उतरेंगी. पूजा रानी (75 किग्रा) और सीमा पुनया (+ 81 किग्रा) 2015 में कांस्य पदक विजेता रही हैं और ट्रायल के बाद दोनों इस बार भी टीम में जगह बनाने में कामयाब रही. एशियाई चैम्पियनशिप में 60 पदकों (19 स्वर्ण, 21 रजत और 20 कांस्य ) के साथ भारतीय टीम तीसरे स्थान पर है.

एशियाई  चैंपियनशिप के लिये भारत की टीम
एम.सी. मैरी कॉम (48 किग्रा), नीरज (51 किग्रा), शिक्षा (54 किलो), सोनिया लाथेर (57 किग्रा), पवित्रा (60 किग्रा), एल सरिता देवी (64 किग्रा), लवलीना (69 किग्रा), पूजा रानी (75 किग्रा), सावेती बोरा (81 किग्रा) और सीमा पूनिया (+ 81 किग्रा)