VIDEO : जब झूलन गोस्वामी ने नंबर 1 बल्लेबाज की ऐसे उड़ाई गिल्लियां

भारत ने आईसीसी महिला विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल मैच में गुरुवार को मौजूदा विजेता ऑस्ट्रेलिया को 36 रनों से हराते हुए फाइनल में प्रवेश कर लिया है. भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 42 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 281 रन बनाए थे. आस्ट्रेलिया की पूरी टीम 40.1 ओवरों में 245 रनों पर ही सिमट गई. इस मैच का 'सुपरहीरो' 171 रनों की नाबाद पारी खेलने वाली हरमनप्रीत कौर रहीं, लेकिन हरमन के साथ ही इस मैच में झूलन ने एक ऐसा विकेट भी झटका जिसकी जमकर तारीफ हुई. 

VIDEO : जब झूलन गोस्वामी ने नंबर 1 बल्लेबाज की ऐसे उड़ाई गिल्लियां
झूलन गोस्वामी ने कप्तान मेग लेनिंग को डक पर पवेलियन लौटाया (PIC Courtesy: ICC)

नई दिल्ली : भारत ने आईसीसी महिला विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल मैच में गुरुवार को मौजूदा विजेता ऑस्ट्रेलिया को 36 रनों से हराते हुए फाइनल में प्रवेश कर लिया है. भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 42 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 281 रन बनाए थे. आस्ट्रेलिया की पूरी टीम 40.1 ओवरों में 245 रनों पर ही सिमट गई. इस मैच का 'सुपरहीरो' 171 रनों की नाबाद पारी खेलने वाली हरमनप्रीत कौर रहीं, लेकिन हरमन के साथ ही इस मैच में झूलन ने एक ऐसा विकेट भी झटका जिसकी जमकर तारीफ हुई. 

भारत के विशाल स्‍कोर के जवाब में ऑस्‍ट्रेलिया को मजबूत शुरुआत की जरूरत थी, लेकिन शिखा पांडे ने पारी के दूसरे ही ओवर में बेथ मूनी (1) को आउट करके यह नहीं होने दिया. मूनी को शिखा ने बोल्‍ड किया. ऑस्‍ट्रेलिया का दूसरा और तीसरा विकेट भी जल्‍द ही गिर गया. कप्‍तान मेग लेनिंग (0) को झूलन गोस्‍वामी ने बोल्‍ड कर दिया जबकि निकोल बोल्‍टन (14) दीप्ति शर्मा का शिकार बन गई. दस ओवर के पहले ही ऑस्‍ट्रेलिया टीम तीन विकेट गंवाकर मुश्किल में फंस गई. 

लक्ष्य का पीछा करने उतरी मौजूदा विजेता कहीं भी भारतीय गेंदबाजों के सामने नहीं टिकीं. उसने 21 रनों पर ही अपने तीन विकेट खो दिए थे. निकोले बोल्टन (14), बेथ मूनी (1) और कप्तान मेग लेनिंग बिना खाता खोले पवेलियन लौट गई थीं. 

झूलन गोस्वामी की शानदार गेंदबाजी के आगे कप्तान मेग लेनिंग की एक ना चली और वे 'डक' पर पवेलियन लौट गईं. ऑस्ट्रेलियाई पारी के 4.4 ओवर में झूलन ने कप्तान को पवेलियन लौटाया. इस वक्त बोल्टन 7 रन पर और कप्तान मेग 0 पर बल्लेबाजी कर रही थीं. ऑस्ट्रेलिया 9 रन पर एक विकेट के नुकसान पर खेल रही थी. 

तभी झूलन ने एक शानदार गेंद डाली और कप्तान मेग 'डक' पर क्लीन बोल्ड हो गईं. 

बारिश के कारण मैच देरी से शुरू हुआ था इसलिए अंपायरों ने मैच के ओवरों की संख्या 50 ओवरों से घटाकर 42 कर दी थी. फाइनल में भारत का सामना रविवार को मेजबान इंग्लैंड से लॉर्ड्स मैदान पर होगा. भारत दूसरी बार विश्व कप के फाइनल में पहुंचा है. पहली बार उसने 2005 में विश्व कप के फाइनल में जगह बनाई थी, जहां ऑस्ट्रेलिया ने उसे खिताब जीतने से रोक दिया था. 

हरमनप्रीत ने खराब शुरुआत से टीम को निकालते हुए 115 गेंदों में 20 चौके और सात छक्कों की मदद से तूफानी पारी खेली. धीमी शुरुआत करने वाली इस खिलाड़ी ने कप्तान मिताली राज (36) और दीप्ति शर्मा (25) के साथ दो अहम साझेदारी करते हुए टीम को विशाल स्कोर तक पहुंचाया. 

हरमनप्रीत द्वारा बनाए गया स्कोर महिला विश्व कप के नॉकआउट मैचों में सर्वाधिक स्कोर है.