Zee Rozgar Samachar

2021 तक के लिए टल सकता है ओलंपिक; जानें भारत, अमेरिका और ब्रिटेन ने क्या कहा

Tokyo Olympics: कनाडा बायकॉट की घोषणा कर चुका है. अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड के खेल संगठन गेम्स स्थगित करने की मांग कर रहे हैं. भारत वेट एंड वॉच की स्थिति में है. 

2021 तक के लिए टल सकता है ओलंपिक; जानें भारत, अमेरिका और ब्रिटेन ने क्या कहा

नई दिल्ली/लंदन/लॉस एंजलिस: मेजबान जापान भले ही लगातार कह रहा हो कि टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) अपने तय समय पर होंगे, लेकिन ऐसा होने की संभावना कम होती जा रही है. इंटरेनशनल ओलंपिक कमेटी (आईओसी) ने कहा है कि वह ओलंपिक के बारे में कोई भी फैसला चार सप्ताह में लेगा. इस बीच कनाडा (Canada) ने कोरोना वायरस (coronavirus) के खतरे तो देखते हुए टोक्यो गेम्स के बायकॉट की घोषणा कर दी है. अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड के कई संगठन ओलंपिक गेम्स को आगे बढ़ाने की मांग कर रहे हैं. भारत (India) वेट एंड वॉच की स्थिति में है. हालात ऐसे बन रहे हैं कि ओलंपिक गेम्स कुछ समय के लिए आगे बढ़ सकते हैं.  

आईओसी के सदस्य डिक पाउंड (Dick Pound) ने संकेत दिए कि ओलंपिक टल सकता है. उन्होंने कहा, "जहां तक मेरी समझ है कि आईओसी (IOC) ओलंपिक रद्द नहीं करना चाहता और वह इसके 24 जुलाई से शुरू होने के पक्ष में भी नहीं है. इसलिए मुझे लगता है कि वह अगले 4 हफ्ते में प्लान बी के साथ सामने आएगा, जो गेम्स को आगे बढ़ाने का हो सकता है." ओलंपिक गेम्स (Olympics 2020) 24 जुलाई से 9 अगस्त तक होने हैं.
 
डिक पाउंड ने यूएसए टुडे से कहा कि अगर आईओसी को ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) रद करने का फैसला लेना होता तो यह आसान था. इसकी घोषणा आसान थी. लेकिन वह इसे कुछ समय या शायद 2021 तक के लिए टाल सकता है. आईओए इसी के लिए प्लान बी बनाना चाहता है. उसने इसीलिए 4 हफ्ते का वक्त लिया है ताकि वह आयोजन से जुड़े सभी पक्षों से बात कर सके. 

कनाडा ऐसा पहला देश है, जिसने यह साफ कर दिया है कि वह 24 जुलाई से होने वाले टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा नहीं लेगा. उसने कहा कि उसके खिलाड़ियों की सुरक्षा किसी भी अन्य चीज से ज्यादा अहम है. 

अमेरिका की स्वीमिंग, ट्रैक एंड फील्ड समेत अलग-अलग संस्थाएं ओलंपिक को स्थगित करने की मांग कर चुकी हैं. हालांकि, अमेरिका बतौर देश मेजबान जापान और आईओसी के समर्थन की बात कर रहा है. 

ऑस्ट्रेलिया ने बायकॉट की घोषणा नहीं की है, लेकिन इसके संकेत जरूर दिए हैं. उसने अपने खिलाड़ियों से कहा है कि वे अपनी तैयारी इस हिसाब से करें कि ओलंपिक अगले साल होने हैं. 

ब्रिटेन भी ओलंपिक के बहिष्कार का संकेत दे चुका है. ब्रिटिश ओलिंपिक एसोसिएशन (BOA) के चेयरमैन ह्यूज रॉबर्टसन ने कहा, "यदि वायरस का असर कायम रहता है तो मुझे नहीं लगता कि ब्रिटेन वहां अपने खिलाड़ी भेजने को तैयार होगा."

भारत वेट और वॉच करने की स्थिति में दिख रहा है. इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन ( IOA)  प्रमुख नरेंद्र बत्रा ने कहा, "आईओए कोई भी निर्णय खिलाड़ियों की भलाई को ध्यान में रखकर लेगा. फिलहाल हम हालात पर नजर बनाए हुए हैं. हम रोज अपडेट ले रहे हैं. हम अभी देखो और इंतजार करो की नीति पर चल रहे हैं."  

नॉर्वे और न्यूजीलैंड ने कहा है कि जब तक कोरोना वायरस पर नियंत्रण नहीं हो जाता, तब तक खिलाड़ियों को ओलंपिक में हिस्सा लेने के लिए नहीं भेजा जाना चाहिए. 

इंडोनेशिया ने कहा है कि वह आयोजकों और आईओसी के फैसले का समर्थन करेगा. उसे भरोसा है कि किसी भी फैसले पर पहुंचने से पहले खिलाड़ियों की सेहत और सुरक्षा का ध्यान रखा जाएगा. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.