बुरी खबर : कैंसर से जूझ रहे इस एशियन गेम्स विजेता बॉक्सर को कोरोना ने भी दबोचा

दिल्ली में इलाज कराने के बाद वापस इंफाल लौटने के बाद कराए गए टेस्ट में मिली पॉजिटिव होने की जानकारी.

बुरी खबर : कैंसर से जूझ रहे इस एशियन गेम्स विजेता बॉक्सर को कोरोना ने भी दबोचा
भारतीय बॉक्सर डिंको सिंह.

नई दिल्ली. देश के लिए 1998 के बैंकाक एशियन गेम्स (Asian Games)में गोल्ड मेडल जीत चुके बॉक्सर डिंको सिंह (Dngko Singh) की परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. लंबे समय से कैंसर से जूझ रहे डिंको सिंह को अब कोरोना वायरस (Covid-19) संक्रमण ने भी दबोच लिया है. इसके चलते अपने समय के इस सबसे बेहतरीन भारतीय बॉक्सर की जान को भारी खतरा पैदा हो गया है. डिंको सिंह का कोरोना टेस्ट मणिपुर के इंफाल में कराया गया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है.

एंबुलेंस में किया 2400 किमी का सफर
डिंको सिंह को बीमारी के चलते हवाई सफर की इजाजत नहीं मिलने के कारण दिल्ली में इलाज कराने के बाद वापस इंफाल लौटने के लिए 2400 किलोमीटर का सफर सड़क के रास्ते एंबुलेंस में करना पड़ा. करीब दो दिन लंबा सफर करने के बाद डिंको सिंह 22 मई को इंफाल पहुंचे थे, जहां उन्हें होटल याईफाबा में बनाए गए कवारंटीन सेंटर में भेजा गया था. इसी दौरान शनिवार को होटल से डिस्चार्ज करने से पहले उनका अनिवार्य कोरोना टेस्ट कराया गया, जो पॉजिटिव निकला है. हालांकि डिंको के साथ ही सफर करते हुए आने वाली उनकी पत्नी बबई देवी का टेस्ट निगेटिव मिला है.

दिल्ली में इलाज के दौरान संक्रमित होने का शक
माना जा रहा है कि डिंको सिंह दिल्ली में इलाज के दौरान ही संक्रमण की चपेट में आए होंगे. देश की राजधानी में इस जानलेवा महामारी का कहर बुरी तरह फैला हुआ है और रोजाना संक्रमण के सैकड़ों नए मामले सामने आ रहे हैं. इसलिए संभावना है कि डिंको वहीं पर अस्पताल में इलाज के लिए जाने के दौरान संक्रमण की चपेट में आए होंगे.

नहीं छोड़ा है हौसला, बीमारी से जीतने की जताई उम्मीद
कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के चलते शरीर की इम्युनिटी बेहद कमजोर होने के बावजूद डिंको के हौसले कमजोर नहीं हुए हैं. उन्होंने उसी मजबूती के साथ कोरोना का भी सामना करने की बात कही है, जो मजबूती वे कभी रिंग में दिखाते थे. पूर्व नौसैनिक डिंको ने एक अंग्रेजी अखबार से कहा, हम लोगों के होटल से घर चले जाने के बाद टेस्ट पॉजिटिव मिलने की जानकारी मिली. मैं वापस अस्पताल आ गया हूं. डॉक्टरों ने कहा है कि मेरे खराब स्वास्थ्य के बावजूद कोरोना संक्रमण से मेरे उबर जाने के चांस हैं. देखते हैं कि मेरी किस्मत में क्या लिखा है.