close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सचिन का पहला इंटरव्यू लेने वाले टॉम ऑल्टर ने कहा, 25 साल वे हमारे लिए खेलते रहे

क्रिकेट के बेताज बादशाह सचिन तेंदुलकर आज 44 बरस के हो गए और दुनिया भर से आज उन्हें बधाई का सिलसिला जारी रहा. अपने 24 साल के कैरियर में तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 34357 रन बनाए. उनके नाम टेस्ट और वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक रन का रिकॉर्ड भी हैं. उन्होंने वनडे में 18426 और टेस्ट में 15921 रन बनाए. 

सचिन का पहला इंटरव्यू लेने वाले टॉम ऑल्टर ने कहा, 25 साल वे हमारे लिए खेलते रहे
टॉम ऑल्टर ने सचिन तेंदुलकर को उनके जन्मदिन पर ऐसे याद किया

नई दिल्ली : क्रिकेट के बेताज बादशाह सचिन तेंदुलकर आज 44 बरस के हो गए और दुनिया भर से आज उन्हें बधाई का सिलसिला जारी रहा. अपने 24 साल के कैरियर में तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 34357 रन बनाए. उनके नाम टेस्ट और वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक रन का रिकॉर्ड भी हैं. उन्होंने वनडे में 18426 और टेस्ट में 15921 रन बनाए. 

सचिन को उनके जन्मदिन पर पूरा देश याद कर रहा है. ऐसे में अभिनेता-लेखक पद्मश्री टॉम ऑल्टर ने उन्हें अपने ही अंदाज में याद किया है. बता दें कि टॉम ऑल्टर ही वो शख्स हैं, जिन्होंने सचिन का पहला टीवी इंटरव्यू किया था. टॉम ऑल्टर सचिन के बारे में कुछ इस तरह से लिखते हैं- 

अब और क्या लिख सकते हैं सचिन के बारे में? क्या सूरज को आईना दिखाया जा सकता है? क्या चांद के हुस्न का बयां किया जा सकता है?

हां, इतना जरूर है कि हमें अपने आपको एक चीज से बचाना होगा. और वो ये है कि हम भूल जाएं कि सचिन इंसान हैं और वो हम करोड़ों की तरह सोते हैं, खाना खाते हैं, नाराज हो जाते हैं, रोते हैं, हंसते हैं, गलतियां कर बैठते हैं, पछताते हैं और हां बैट उठाते हैं. बॉल को मारते हैं, आउट हो जाते हैं, हारते हैं, जीतते हैं और सब से ज्यादा वो एक खिलाड़ी थे, हैं और हमेशा रहेंगे. भारत रत्न, आइकॉन, करोड़पति, राज्यसभा सदस्य, मॉडल, अब सिंगर. वो सब सिर्फ इसलिए कि सचिन एक कमाल के खिलाड़ी थे, हैं और हमेशा रहेंगे.

एक बारह साल की उम्र से लेकर और 25 साल तक वो इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते रहे. वही क्रिकेट जिसे खेलने की कोशिश हम सब करते हैं. जिस से हम सबको मोहब्बत है. वही 22 गज, वही लाल रंग की गेंद, वही तीन स्टम्प, वही बैट, वही धूप, वही घास, वही पसीना, वही मजा. सचिन 25 साल तक हमारा क्रिकेट खेलते रहे. हमारे लिए खेलते रहे.

और आज, जब उनका एक और जन्मदिन, उनको और हम सबको, याद दिला रहा है कि एक वक्त के सामने सचिन भी नॉट आउट नहीं रह सकते. तो हमें इस बात का शुक्रिया अदा करना चाहिए कि हम इस देश के रहने वाले हैं, जहां सचिन क्रिकेट खेला करते थे. सचिन जन्मदिन बहुत, बहुत मुबारक हो.