close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्तान में खेलने को राजी नहीं भारतीय प्लेयर, दिग्गज खिलाड़ी भड़के

पाकिस्तान में खेलने से बचने के लिए भारतीय खिलाड़ियों की आलोचना हुई है.

पाकिस्तान में खेलने को राजी नहीं भारतीय प्लेयर, दिग्गज खिलाड़ी भड़के
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के दिग्गज टेनिस खिलाड़ी ऐसाम उल हक कुरैशी (Aisam-ul-Haq Qureshi) ने आगामी डेविस कप मुकाबले पाकिस्तान में खेलने से बचने के लिए भारतीय खिलाड़ियों की आलोचना की है. अखिल भारतीय टेनिस संघ (AITA) ने सुरक्षा कारणों का हवाला देकर अंतर्राष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) से यह मुकाबले को कहीं और स्थानांतरित करने का अनुरोध किया है.

कुरैशी इस समय अमेरिका में हैं जहां वह साल के अंतिम ग्रैंड स्लैम अमेरिकी ओपन की तैयारियों में व्यस्त हैं. कुरैशी ने अमेरिका से पाकिस्तानी अख्बार द नेशन को दिए इंटरव्यू में कहा कि ये खिलाड़ी कई बार पाकिस्तान का दौरा कर चुके हैं और उन्होंने पाकिस्तान टेनिस महासंघ (पीटीएफ) की ओर से अच्छी मेहमान नवाजी का आनंद उठाया है.

कुरैशी ने कहा, "आईटीएफ की सुरक्षा टीम पहले ही पाकिस्तान का दौरा कर चुकी है और उन्होंने यहां की सरकार द्वारा उठाए गए सुरक्षा प्रबंधों पर संतुष्टि जाहिर की है. पीटीएफ पहले ही यह आश्वासन दे चुकी हैं कि वे भारतीय दल को रेड बॉक्स सुरक्षा मुहैया कराएगी तो फिर वे लोग क्यों ऐसा बहाना बना रहे हैं."

पाकिस्तानी खिलाड़ी ने कहा कि भारत अगर ऐसे ही बहाना बनाता है तो आईटीएफ को उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए. उन्होंने भारतीय खिलाड़ियों से अनुरोध किया वे अपने दिमाग का इस्तेमाल करें और देखें कि वे लोग पहले भी पाकिस्तान का दौरा कर चुके हैं और वे यहां की परिस्थितियों से अच्छी तरह से अवगत हैं.

कुरैशी ने कहा, "भारतीय टीम पाकिस्तान से ज्यादा मजबूत और संतुलित टीम है और कागजों पर वे शतप्रतिशत जीत के दावेदार हैं. उनके पास ऐसे खिलाड़ी हैं , जो टॉप-100, टॉप-200 और टॉप-50 में हैं, जो बड़े टूर्नामेंटों में खेलते हैं."

पाकिस्तान की टीम को प्रतियोगिता के एशिया-ओसेनिया ग्रुप-आई के टाई में 14 और 15 सितंबर को इस्लामाबाद के पाकिस्तान स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में भारत का सामना करना है. उन्होंने कहा, "हमारी जीत की संभावना ना के बराबर हैं, लेकिन हम किसी भी विपक्षी टीम के खिलाफ खेलने से नहीं डर रहे हैं. अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को दिखाने का यह सबसे बड़ा अवसर है कि भारत-पाकिस्तान डेविस कप में खेल रहे हैं. यह टेनिस और दोनों देशों के लोगों के लिए बहुत अच्छा होगा."