close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जब भारत विश्व कप में पाकिस्तान को पीट रहा था, तब यह दिव्यांग नॉर्वे में गोल्ड बरसा रहा था...

कर्नाटक के निरंजन मुकुंदन (Niranjan Mukandan) ने नॉर्वे स्विमिंग चैंपियनशिप (Norwegian Swimming Championships 2019) में पांच गोल्ड मेडल जीते. 

जब भारत विश्व कप में पाकिस्तान को पीट रहा था, तब यह दिव्यांग नॉर्वे में गोल्ड बरसा रहा था...
निरंजन मुकुंदन जूनियर वर्ल्ड चैंपियन रह चुके हैं. (फोटो साभार: @SwimmerNiranjan)

नई दिल्ली: भारत में इस समय क्रिकेट विश्व कप (ICC World Cup 2019) का बुखार चढ़ा हुआ है. इसी कारण अन्य खेलों की उपलब्धियां छिप गई हैं. ऐसी ही एक उपलब्धि निरंजन मुकुंदन (Niranjan Mukandan) की है, जिन्होंने नॉर्वे में एक-दो बार नहीं, पूरे पांच बार तिरंगा लहराया. कर्नाटक के इस खिलाड़ी ने नॉर्वे स्विमिंग चैंपियनशिप (Norwegian Swimming Championships 2019) में पांच गोल्ड मेडल जीते. उन्होंने ये मेडल उन दिनों में ही जीते, जब भारतीय टीम विश्व कप में पाकिस्तान को हरा रही थी. 

24 साल के निरंजन पैरा स्वीमर हैं. वे जन्म से ही स्पाइना बाइफिडा के शिकार थे. उनके दोनों पैर जुड़े हुए थे. अगले कुछ सालों में उनकी 17 बार सर्जरी हुई, जिसकी बदौलत वे चलने फिरने में कामयाब रहे. निरंजन के पिता ने इसके बाद उन्हें स्वीमिंग कराने लगे. वे कुछ सालों बाद जूनियर वर्ल्ड चैंपियन बने और अब अलग-अलग चैंपियनशिप में भारत के लिए सोना जीत रहे हैं. 

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: ऋषभ पंत के लिए लकी है इंग्लैंड, टीम इंडिया के लिए साबित हो सकते हैं ट्रंप कार्ड

उन्होंने नॉर्वे में हुई स्वीमिंग चैंपियनशिप में तीन दिन में पांच गोल्ड मेडल जीते. उन्होंने 14 जून को गोल्ड मेडल जीता. हालांकि, वे टोक्यो पैरालंपिक के लिए क्वालिफाई करने से चूक गए. चूंकि उनके गोल्ड जीतने की खबर सुर्खियां नहीं बनी, इसलिए उन्होंने खुद ही ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. निरंजन ने अगले दिन यानी 15 जून को और अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जताई. 
 

 

 

निरंजन मुकुंदन इस उम्मीद पर खरे भी उतरे और 15 जून को तीन और गोल्ड मेडल जीत लाए. वे यहीं नहीं रुके और अगले दिन यानी 16 जून को एक और गोल्ड अपने नाम कर लिया. दिलचस्प बात यह है कि उन्होंने अपना पांचवां गोल्ड मेडल लगभग उसी वक्त जीता, जब भारत और पाकिस्तान विश्व कप में मैच खेल रहे थे. भारत ने यह मैच 89 रन से जीता था.