Breaking News
  • उत्तराखंड को पीएम नरेंद्र मोदी का तोहफा, 6 बड़े प्रोजेक्ट का उद्घाटन
  • IPL 2020: SRH vs DC Live Score Update: सनराइजर्स ने दिल्ली को 15 रनों से दी मात

विश्व कप टीम में जगह बनाने से चूके उथप्पा शानदार फॉर्म से दावा करेंगे मजबूत!

रोबिन उथप्पा और केदार जाधव जैसे खिलाड़ी रणजी ट्रॉफी चैंपियन कर्नाटक और शेष भारत के बीच कल से यहां होने वाले ईरानी कप मैच में प्रभावशाली प्रदर्शन करके राष्ट्रीय चयनकर्ताओं को प्रभावित करने की कोशिश करेंगे। कर्नाटक के उथप्पा घरेलू सत्र में ढेरों रन बनाने के बावजूद विश्व कप टीम में जगह बनाने से चूक गए। वह अपनी शानदार फॉर्म जारी रखकर अपना दावा मजबूत करना चाहेंगे। उथप्पा ने 19 पारियों में 50.66 की औसत से 912 रन बनाये और रणजी ट्राफी में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में शीर्ष पर हैं।

  विश्व कप टीम में जगह बनाने से चूके उथप्पा शानदार फॉर्म से दावा करेंगे मजबूत!

बेंगलुरु : रोबिन उथप्पा और केदार जाधव जैसे खिलाड़ी रणजी ट्रॉफी चैंपियन कर्नाटक और शेष भारत के बीच कल से यहां होने वाले ईरानी कप मैच में प्रभावशाली प्रदर्शन करके राष्ट्रीय चयनकर्ताओं को प्रभावित करने की कोशिश करेंगे। कर्नाटक के उथप्पा घरेलू सत्र में ढेरों रन बनाने के बावजूद विश्व कप टीम में जगह बनाने से चूक गए। वह अपनी शानदार फॉर्म जारी रखकर अपना दावा मजबूत करना चाहेंगे। उथप्पा ने 19 पारियों में 50.66 की औसत से 912 रन बनाये और रणजी ट्राफी में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में शीर्ष पर हैं।

शेष भारत के जाधव भी उनसे अधिक पीछे नहीं हैं और वह भी राष्ट्रीय चयनकर्ताओं को प्रभावित करने की कोशिश करेंगे। उथप्पा से अधिक महाराष्ट्र का यह बल्लेबाज बेहतर प्रदर्शन करने का इच्छुक होगा क्योंकि इस घरेलू सत्र में वह संतोषजनक प्रदर्शन नहीं कर पाये। पिछले सत्र में जाधव ने सर्वाधिक 1223 रन बनाये जिससे महाराष्ट्र फाइनल में पहुंचने में सफल रहा लेकिन इस साल वह अभी तक केवल एक शतक लगा पाये और उनकी टीम का सफर सेमीफाइनल में थम गया।

कर्नाटक की तेज गेंदबाजी की तिकड़ी अभिमन्यु मिथुन, आर विनयकुमार और एस अरविंद के सामने बड़ा स्कोर खड़ा करने से जाधव का आत्मविश्वास बढ़ेगा। हिमाचल प्रदेश के पारस डोगरा भी बल्लेबाजी में अच्छा प्रदर्शन जारी रखने की कोशिश करेंगे। उन्होंने इस 2011-12 से पांच दोहरे शतक लगाये हैं। इनमें से दो दोहरे शतक उन्होंने इस सत्र में बनाये। उन्होंने इस बार कुल 819 रन बनाये जिससे हिमाचल क्वार्टर फाइनल में पहुंचने में सफल रहा था।

इस बीच शेष भारत के कप्तान मनोज तिवारी फार्म में वापसी की कोशिश करेंगे। उन्होंने बंगाल की तरफ से इस बार केवल दो अर्धशतक लगाये। तिवारी ने कहा, मैं अपनी बल्लेबाजी पर कड़ी मेहनत कर रहा हूं और मुझे पूरा विश्वास है कि जल्द ही मैं बड़ी पारी खेलने में सफल रहूंगा।  

उन्मुक्त चंद, जीवनजोत सिंह और नमन ओझा अन्य खिलाड़ी हैं जो शेष भारत की बल्लेबाजी लाइनअप में शामिल हैं। विनय कुमार और शार्दुल ठाकुर जिन्होंने इस सत्र में अपनी टीमों कर्नाटक और मुंबई की तरफ से लगातार अच्छी गेंदबाजी की, लंबे सत्र को ध्यान में रखकर इस तरह का प्रदर्शन बरकरार रखने की कोशिश करेंगे। इन दोनों गेंदबाजों ने रणजी सत्र में सर्वाधिक 48-48 विकेट लिए। गुजरात के रस कलारिया भी चयनकर्ताओं का ध्यान खींचने की कोशिश करेंगे। उन्होंने आठ मैचों में 17.18 की औसत से 33 विकेट हासिल किये।

भारतीय टीम में वापसी की कवायद में लगे प्रज्ञान ओझा और हरियाणा के स्पिनर जयंत यादव पर भी निगाह टिकी रहेगी। रणजी ट्राफी चैंपियन कर्नाटक इस मैच में थोड़ा मजबूत दिख रहा है क्योंकि शेष भारत की टीम नयी और युवा है। कर्नाटक को हालंकि पांच मैचों में 93.11 की औसत से 838 रन बनाने वाले के एल राहुल और विकेटकीपर बल्लेबाज सीएम गौतम की सेवाएं नहीं मिल पाएंगी। ये दोनों चोटिल हैं। विनय कुमार ने पत्रकारों से कहा, गौतम और राहुल चोटिल हैं। इससे अभिषेक रेड्डी का अपना पहला मैच खेलना तय है।