close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पीएम मोदी ने पीवी सिंधु से की मुलाकात, वर्ल्ड चैंपियन को बताया भारत का गौरव

विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप जीतने के बाद पीवी सिंधु से पीएम मोदी और खेलमंत्री किरन रिजिजू ने मुलाकात की. 

पीएम मोदी ने पीवी सिंधु से की मुलाकात, वर्ल्ड चैंपियन को बताया भारत का गौरव
प्रधानमंत्री ने सिंधु को चैंपियन बताते हुए शुभकामनाएं दी. (फोटो: Twitter/@narendramodi)

नई दिल्ली: स्विट्जरलैंड के बासेल में बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप (BWF World Championships) जीतने के बाद भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय खेल मंत्री किरन रिजिजू से मुलाकात की. गोल्ड मेडल जीतने के बाद सिंधु मंगलवार सुबह अपने देश पहुंची जहां उन्होंने अपने फैंस को समर्थन देने के लिए धन्यवाद दिया. सिंधु ने कहा कि वे चाहती हैं कि वे देश के लिए और ज्यादा मेडल लाएं.

ओकुहारा को हराकर रचा इतिहास
चैम्पियनशिप के फाइनल में दुनिया की चौथे नंबर की खिलाड़ी जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर चैम्पियनशिप में पहली बार स्वर्ण पदक जीता है. उन्होंने ओकुहारा को 21-7, 21-7 से हराया. सिंधु ने ट्विटर पर अपने भाव व्यक्त कर कहा था कि वे अपने आंसू नहीं रोक पाईं थी जब उन्होंने अपने देश का तिरंगा राष्ट्रगान के साथ ऊपर जाते देखा था. इसके साथ ही सिंधु ने अपने माता पिता, कोच, और ट्रेनर को भी जीत के लिए शुक्रिया कहा था. 

यह भी पढ़ें: एंटिगा टेस्ट की ऐतिहासिक जीत में चमका विराट सेना का टीम वर्क, ये खिलाड़ी रहे हीरो

क्या कहा पीएम ने 
पीएम मोदी ने सिंधु से मुलाकात करने के बाद ट्वीट कर कहा, “भारत की गौरव, एक चैंपियन जो घर में गोल्ड और बहुत सा सम्मान लाईं. सिंधु से मिलकर खुशी हुई. उन्हें बधाई और भविष्य के लिए शुभकामनाएं.”

खेलमंत्री ने भी तारीफ के बांधे पुल
खेलमंत्री ने कहा कि सिंधु ने चैंपियनशिप में पहला भारतीय गोल्ड जीतकर देश का गौरव बढ़ाया है. रिजीजू ने ट्वीट में कहा , पीवी सिंधु ने इतिहास रचते हुए भारत के लिए वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप पहली बार जीतकर भारत का मान बढ़ाया है. वे आगे देश के लिए और सम्मान हासिल करें इसके लिए शुभकामनाएं.”

इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सिंधु ने कहा, “मैं चाहती हूं कि मैं देश के लिए और ज्यादा मेडल लाऊं. मैं अपने सभी फैंस को धन्यवाद देना चाहूंगी. मैं आज जहां हूं वह सब उन्हीं के प्यार और दुआओं की वजह से हूं.” सिंधु ने कहा, “यह मेरे लिए महान क्षण है. मुझे भारतीय होने पर बहुत गर्व है.”

बीडब्ल्यूएफ बैडमिंटन विश्व चैम्पियनशिप में सिंधु के अब पांच पदक हो गए हैं. इनमें एक स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य पदक शामिल हैं. भारत ने इस टूर्नामेंट में अब तक तीन रजत और छह कांस्य पदक जीते थे. सिंधु इससे पहले इस टूर्नामेंट में लगातार दो बार (2017 और 2018) फाइनल में हारी थीं. लेकिन, इस बार उन्होंने इस गतिरोध को तोड़ा और बैडमिंटन में पहली विश्व चैम्पियन भारतीय बन गईं.