ईडन की पिच पर घास देख न्यूजीलैंड की टीम भी हैरान थी : रोंची

न्यूजीलैंड के मध्यक्रम के बल्लेबाज ल्यूक रोंची ने आज स्वीकार किया कि भारत के निचले क्रम ने वापसी करके दूसरे क्रिकेट टेस्ट में अंतर पैदा किया। उन्होंने कहा कि उनकी टीम को मैच में बने रहने के लिए घरेलू टीम के बल्लेबाजों से यह कला सीखनी होगी।

ईडन की पिच पर घास देख न्यूजीलैंड की टीम भी हैरान थी : रोंची

कोलकाता : न्यूजीलैंड के मध्यक्रम के बल्लेबाज ल्यूक रोंची ने आज स्वीकार किया कि भारत के निचले क्रम ने वापसी करके दूसरे क्रिकेट टेस्ट में अंतर पैदा किया। उन्होंने कहा कि उनकी टीम को मैच में बने रहने के लिए घरेलू टीम के बल्लेबाजों से यह कला सीखनी होगी।

भारत के पहली पारी के 316 रन के जवाब में न्यूजीलैंड की टीम ने पहली पारी में सात विकेट 128 रन पर गंवा दिए हैं और उस पर हार का खतरा मंडराने लगा है। दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद न्यूजीलैंड की टीम अब भी 188 रन से पीछे है जिसके बाद रोंची ने कहा, ‘वे (भारत) पारी के अंत में रन बना रहे हैं जो अंतर पैदा कर रहा है। आज उन्होंने दिन की शुरूआत सात विकेट पर 239 रन से की और इसके बाद 300 से अधिक का स्कोर बनाया जो अंतिम तीन विकेट के लिए काफी रन हैं।’ 

उन्होंने कहा, ‘इस मैच या श्रृंखला में बने रहने के लिए हमें भी इस पर सुधार करना होगा उम्मीद करते हैं कि कल अपने पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ हम भी ऐसा कर पाएंगे, रन बनाएंगे और यह मौजूदा स्थिति को देखते हुए बहुमूल्य रन होंगे।’ ईडन की पिच पर घास देखकर न्यूजीलैंड की टीम भी हैरान थी। रोंची ने कहा, ‘जब हमने विकेट पर घास देखी तो हमारे में से कई हैरान थे। स्पिनरों को उतना टर्न नहीं मिल रहा जितना हमने सोचा था। जडेजा स्टंप पर गेंदबाजी कर रहा था और गेंद को तेजी से निकाल रहा था लेकिन मुझे लगता है कि किसी ने तेज गेंदबाजों से टेस्ट में उतने विकेट की उम्मीद नहीं की होगी जितने उन्हें मिले।’ 

रोंची ने हालांकि यह मानने से इनकार किया कि 300 से अधिक के स्कोर ने भारत को मनोवैज्ञानिक लाभ पहुंचाया। उन्होंने इसे प्रतिस्पर्धी स्कोर करार देते हुए कहा, ‘मुझे लगता है कि वे इससे अधिक रन चाहते थे। दुर्भाग्य से हम उतना अच्छा नहीं खेले जितना हमें खेलना चाहिए था। बेशक भारत ने अच्छी गेंदबाजी की लेकिन हमारे नजरिये से हमें अधिक रन बनाने चाहिए थे या इतने विकेट नहीं गंवाने चाहिए थे।’