खेलो इंडिया में भविष्य में महिलाओं के लिए अलग चैम्पियनशिप: राज्यवर्धन सिंह राठौड़

राठौड़ ने कहा, ‘‘महिला खेलों को प्रोत्साहन देने की योजना के तहत खेलो इंडिया में एक अलग चैंपियनशिप होगी. फिलहाल ‘खेलो इंडिया स्कूल खेल’ में 16 खेल हैं लेकिन अगले साल खेलों की संख्या में इजाफा किया जाएगा.’’ 

खेलो इंडिया में भविष्य में महिलाओं के लिए अलग चैम्पियनशिप: राज्यवर्धन सिंह राठौड़
महिला खेलों को प्रोत्साहन देने की योजना के तहत खेलो इंडिया में एक अलग चैंपियनशिप होगी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि सरकार की महत्वाकांक्षी पहल खेलो इंडिया का अगले कुछ वर्षों में और विस्तार होगा जिसमें महिलाओं के लिए अलग से चैम्पियनशिप भी शामिल है.  खेलो इंडिया स्कूल खेल से इतर संवाददाता सम्मेलन में राठौड़ ने कहा कि फिलहाल इसमें 16 खेल शामिल हैं भविष्य में जिसे बढ़ाया जाएगा. स्कूल खेलों के बाद कॉलेज खेल का आयोजन किया जायेगा. 

राठौड़ ने कहा, ‘‘महिला खेलों को प्रोत्साहन देने की योजना के तहत खेलो इंडिया में एक अलग चैंपियनशिप होगी. फिलहाल ‘खेलो इंडिया स्कूल खेल’ में 16 खेल हैं लेकिन अगले साल खेलों की संख्या में इजाफा किया जाएगा.’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘जब तक हम इन खेलों का में ऊंचे मानदंड कायम नहीं करते, तब तक हम भारतीय खेलों को आगे नहीं ले सकते.किसी भी स्कूल का कोई भी छात्र इन खेलों में अच्छा प्रदर्शन कर हीरो बन सकता है.’’  खेल मंत्री ने इस प्रतियोगिता के स्तर पर खुशी जताते हुए उम्मीद जतायी की इसमें और सुधार होगा. 

उन्होंने कहा, ‘‘हम कालेज गेम्स ऑफ अमेरिका की तर्ज पर कुछ नया करना चाहते थे. हमने खेलों इंडिया में जो मानक बनाया है उस पर हमे फक्र है. भविष्य में हर खेलों इंडिया खेल में इसका अनुसरण किया जाएगा. मैं खुश हूं की जैसा मानक मैंने सोचा था यह उससे बेहतर है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘आज, प्रदर्शन का स्तर शायद अंतरराष्ट्रीय स्तर के अनुरूप नहीं हो लेकिन मैं आश्वस्त हूं कि तीन से चार साल में प्रतियोगिता अंतरराष्ट्रीय स्तर की होगी.''