close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सौरव गांगुली के बंगाल का ये क्रिकेटर रवि शास्त्री का बड़ा 'फैन'

श्रीलंका दौर पर रवाना होने से पहले विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा ने कहा, "वह बेहद सकारात्मक कोच हैं. जब वह टीम के निदेशक थे तभी वह खिलाड़ियों से कहा करते थे कि अपनी क्षमताओं पर विश्वास करो और रक्षात्मक मत बनो."

सौरव गांगुली के बंगाल का ये क्रिकेटर रवि शास्त्री का बड़ा 'फैन'
ऋद्धिमान साहा ने कहा, शास्त्री हमेशा से सकारात्मक रहे हैं

कोलकाता : भारतीय टेस्ट टीम का हिस्सा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा का मानना है कि नए कोच रवि शास्त्री जब टीम निदेशक थे तब हमेशा सकारात्मक रहते थे और अब मुख्य कोच के तौर पर भी वह इसी सकारात्मकता को जारी रखेंगे. 

साहा ने कहा कि वह एक बार फिर श्रीलंका दौर पर उनके साथ काम करने को तैयार हैं. शास्त्री को हाल ही में अनिल कुंबले की जगह टीम को नया मुख्य कोच बनाया गया है. यह उनका टीम के साथ तीसरा कार्यकाल होगा. 

इसस पहले शास्त्री 2007 में बांग्लादेश दौरे पर टीम के मैनेजर थे. फिर वह 2014 से 2016 तक टीम के निदेशक रहे. 

श्रीलंका दौर पर रवाना होने से पहले साहा ने कहा, "वह बेहद सकारात्मक कोच हैं. जब वह टीम के निदेशक थे तभी वह खिलाड़ियों से कहा करते थे कि अपनी क्षमताओं पर विश्वास करो और रक्षात्मक मत बनो."

साहा से जब पूछा गया कि क्या कोच के बदलने से फर्क पड़ेगा? इसके जवाब में उन्होंने कहा, "चाहे रवि भाई हों या अनिल भाई, दोनों टीमों को जीतते देखना चाहते हैं. हम एक खिलाड़ी के तौर पर भी यही चाहते हैं. हर कोच का काम करने का अपना तरीका होता है. यह देखना होगा."

बंगाल के इस खिलाड़ी ने कहा, "हमारा काम मैदान पर प्रदर्शन करना है. मुझे नहीं लगता कि कोच के बदलने से कोई फर्क पड़ेगा." साहा को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के बाद लंबा ब्रेक मिला है. अब वह लगभग तीन महीने के अंतराल के बाद मैदान पर दिखेंगे. 

साहा ने इस पर कहा, "मैं स्थानीय लीग (मोहन बागन) में खेल रहा था. मैं अभ्यास भी कर रहा था. बारिश ने हालांकि कुछ समय लिया अगर मैं वह कुछ अतिरिक्त सत्र कर पाता तो मैं श्रीलंका में कुछ अलग करता."

साहा के मुताबिक, "हम वहां अभ्यास मैच खेलेंगे और पहले टेस्ट से पहले वह कारगर साबित होंगे."

उन्होंने कहा, "हम काफी दिनों बाद टेस्ट खेल रहे हैं. हम उसी तरह खेलना चाहते हैं जिस तरह खेल रहे थे. मैं नहीं समझता की ब्रेक से दिक्कत आएगी. इस तरह के दौरे हमेशा से टीम और खिलाड़ी को बेहतर करने में मदद करते हैं. हमने टेस्ट में अच्छा किया है और मौजूदा फॉर्म को देखते हुए हम श्रीलंका में अच्छा करेंगे."