close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'बेपरवाह क्रिकेट खेले टीम इंडिया, मैदान पर उतरते ही खिलाड़ियों के हाथों में होगी कमान'

मुख्य कोच के रूप में फिर से टीम में वापसी करने वाले रवि शास्त्री ने गुरुवार (20 जुलाई) को साफ किया कि मैदान पर उतरते ही कमान खिलाड़ियों के हाथों में होगी और ऐसा होना भी चाहिए.

'बेपरवाह क्रिकेट खेले टीम इंडिया, मैदान पर उतरते ही खिलाड़ियों के हाथों में होगी कमान'
शास्त्री ने कहा कि श्रीलंका को उसकी सरजमीं पर हल्के से नहीं लिया जा सकता है. (फाइल फोटो)

कोलंबो: मुख्य कोच के रूप में फिर से टीम में वापसी करने वाले रवि शास्त्री ने गुरुवार (20 जुलाई) को साफ किया कि मैदान पर उतरते ही कमान खिलाड़ियों के हाथों में होगी और ऐसा होना भी चाहिए.

अनिल कुंबले के स्थान पर कोच पद संभालने वाले शास्त्री ने कहा, ‘वे अपना काम जानते हैं, वे पेशेवर क्रिकेटर हैं. मैदान पर उतरने के बाद कमान उनके हाथों में होगी. ऐसा होना भी चाहिए.’ शास्त्री का मानना है कि बेपरवाह क्रिकेट खेलना जरूरी है और वह इस टीम से ऐसा चाहते हैं.

उन्होंने कहा, ‘मेरा काम खिलाड़ियों की ऐसी मानसिकता तैयार करना है कि वे मैदान पर उतरकर अपना नैसर्गिक और बेपरवाह क्रिकेट खेलें.’ शास्त्री ने कहा कि श्रीलंका को उसकी सरजमीं पर हल्के से नहीं लिया जा सकता है.

उन्होंने कहा, ‘किसी भी अन्य टीम की तरह उसका घरेलू मैदानों पर रिकार्ड अच्छा है. हम इस श्रृंखला में सुधार करने पर ध्यान देंगे. ऐसा नहीं करने पर खेलने का मतलब नहीं बनता.’ शास्त्री ने कहा कि वह चार दशक पूर्व सबसे पहले उन्होंने श्रीलंका का ही दौरा किया था.

उन्होंने कहा, ‘मेरे पासपोर्ट पर पहली मुहर श्रीलंका की लगी है. मैं जब 18 साल का था तब पहली बार यहां आया था. इसके बाद 1994 में कमेंटेटर के रूप में मैं सबसे पहले श्रीलंका ही आया था और अब कोच के रूप में भी मैं सबसे पहले यहां आया हूं. मेरी यहां से काफी यादें जुड़ी हैं.’