फेडरर की उम्मीदों को एक और झटका, 3 महीने के लिए टेनिस कोर्ट से बाहर

रोजर फेडरर चोट की वजह से फ्रेंच ओपन से बाहर हो गए हैं. डॉक्टर ने उन्हें घुटने की सर्जरी के बाद आराम की सलाह दी है.

फेडरर की उम्मीदों को एक और झटका, 3 महीने के लिए टेनिस कोर्ट से बाहर
स्विस खिलाड़ी रोजर फेडरर ने सिर्फ एक बार फ्रेंच ओपन जीता है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: टेनिस स्टार रोजर फेडरर के चाहने वालों के लिए ये निराशा भरी खबर है. 20 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता ने फ्रेंच ओपन समेत कई दूसरे टूर्नामेंट से हटने का फैसला किया. पिछले कुछ वक्त से वो दाहिने घुटने की चोट का सामना कर रहे थे. 38 साल के इस खिलाड़ी ने ये जानकारी सोशल मीडिया साइट पर साझा की है. डॉक्टर्स ने उनकी ऑथ्रेस्कोपिक सर्जरी की है. जिसके बाद वो फ्रेंच ओपन समेत कई अन्य टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले पाएंगे. हांलाकि उन्होंने इशारों-इशारों में संकेत दिए हैं कि वो विम्बलडन टूर्नामेंट से वापसी करेंगे.

 रोजर फेडरर ने ट्विटर पर लिखा है, ‘पिछले कुछ वक्त से मेरा दाहिना घुटना मेरी फिक्र को बढ़ा रहा था. मुझे उम्मीद थी कि ये ठीक हो जाएगा, लेकिन कुछ जांच और अपनी टीम से बातचीत के बाद मैंने कल (बुधवार) स्विट्जरलैंड में ऑर्थोस्कोपिक सर्जरी कराने का फैसला किया, इस ऑपरेशन के बाद डॉक्टरों ने बताया कि ये सही फैसला था, जो जरूरी था. डॉक्टर को उम्मीद है कि इस परेशानी से जल्द निजात मिल जाएगी. इस सर्जरी की वजह से मैं दुबई, इंडियन वेल्स, बोगोटा, मियामी और फ्रेंच ओपन में हिस्सा नहीं ले पाऊंगा. मैं हर किसी के सहयोग के लिए शुक्रगुजार हूं. मैं दोबारा खेलने के लिए बेकरार हूं, मैं हरी घास पर मिलूंगा.’

5 साल में ये चौथा ऐसा मौका होगा जब फेडरर पेरिस में होने ग्रैंड स्लैम में हिस्सा नहीं ले पाएंगे. उन्होंने साल 2009 में फ्रेंच ओपन ट्रॉफी पर कब्जा जमाया था. इस स्विस खिलाड़ी ने अब तक 20 बार ग्रैंड स्लैम खिताब जीता है. उनसे पीछे हैं स्पेन के राफेल नडाल जिन्होंने 19 बार ये कारनामा किया है. नडाल 12 बार फ्रेंच ओपन जीत चुके हैं. इस साल भी वो पेरिस में ट्रॉफी जीतने के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. अगर नडाल फ्रांस में विजेता बनते हैं, तो वो ग्रैंड स्लैम जीतने के मामले में रोजर फेडरर की बराबरी कर लेंगे. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.