अब साई का बदला जाएगा नाम, राज्यवर्धन राठौड़ ने किया इशारा

राज्यवर्धन सिंह ने कहा कि मौजूदा दौर में खेलों में ‘प्राधिकरण’ शब्द का कोई औचित्य नहीं.

अब साई का बदला जाएगा नाम, राज्यवर्धन राठौड़ ने किया इशारा
फाइल फोटो

नई दिल्ली : खेल एवं युवा मामलों के मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) का नाम बदलने की ओर इशारा करते हुये रविवार को कहा कि मौजूदा दौर में खेलों में ‘प्राधिकरण’ शब्द का कोई औचित्य नहीं. राठौड़ ने साइ में बदलाव की ओर इशारा करते हुये ट्वीट किया, बेहतर सेवाएं देने के लिये भारतीय खेल प्राधिकरण में आज के दौर में ‘प्राधिकरण’ का कोई मतलब नहीं है, इसलिये भारतीय खेलों और साइ में बदलाव किया जायेगा. उन्होंने देश के उन खिलाड़ियों को मदद का भी भरोसा दिया जो अपनी जीविका चलाने के लिये संघर्ष कर रहे हैं.

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, यह काफी दुखद है कि खेलों के हमारे नायकों को उनका सर्वश्रेष्ठ समय गुजरने के बाद जीविका चलाने के लिये भी संघर्ष करना पड़ता है. हमारे खिलाड़ियों की मदद के बारे में आप क्या सोचते हैं हमें लिखे. उन्होंने कहा कि उनका मंत्रालय खिलाड़ियों को सम्मान और सुविधा देने के अपने लक्ष्य से नहीं भटकेगा.

 

यहां के जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में बीएसएफ हाफ मैराथन में पहुंचे राठौड़ ने कहा, हमारा मंत्र है सम्मान और सुविधा, जिसमें खिलाड़ियों, कोचों और प्रशंसकों को सबसे ऊपर रखा जाता है. खेल संस्थाओं का काम भी दिखना चाहिए. पिछले महीने खेल मंत्री बनने वाले राठौड़ ने 2004 एथेंस ओलंपिक में निशानेबाजी में रजत पदक जीता है.

 

इससे पहले उन्होंने कहा था, 'उनका मंत्रालय चौबीस घंटे का मंत्रालय होगा, क्योंकि टूर्नामेंटों की तैयारियों में जुटे खिलाड़ियों को कभी भी हमारी जरूरत पड़ सकती है. हमें खिलाड़ियों के लिये हम तक पहुंचना आसान बनाना होगा. हम खिलाड़ियों की सेवा के लिये ही यहां हैं.' भारत के लिए ओलंपिक में व्यक्तिगत स्पर्धा का पहला रजत पदक जीतने वाले राठौड़ ने कहा कि उनका फोकस खिलाड़ियों को सम्मान और सुविधा दिलाना होगा.

उन्होंने कहा, 'हर खिलाड़ी को सम्मान और देश का प्रतिनिधित्व करने वालों को सुविधायें मुहैया कराना हमारा लक्ष्य होगा. खेल सिर्फ मनोरंजन का साधन नहीं बल्कि युवाओं के लिये बहुत बड़ा मंच है. भारतीय युवाओं में अपार क्षमता है और उन्हें तलाशकर हमें खेलों और खिलाड़ियों का विकास करना है.'