Badminton: पीवी सिंधु को हराकर साइना बनीं नेशनल चैंपियन, सौरभ वर्मा की खिताबी हैट्रिक

साइना नेहवाल ने 83वीं सीनियर नेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में पीवी सिंधु को हराया. सौरभ वर्मा ने लक्ष्य सेन को मात दी.

Badminton: पीवी सिंधु को हराकर साइना बनीं नेशनल चैंपियन, सौरभ वर्मा की खिताबी हैट्रिक
साइना नेहवाल ने लगातार दूसरे साल नेशनल चैंपियनशिप का खिताब जीता है. (फोटो: PTI)

गुवाहाटी: साइना नेहवाल ने पीवी सिंधु पर अपनी श्रेष्ठता कायम रखते हुए लगातार दूसरे साल नेशनल चैंपियनशिप जीत ली है. गत चैंपियन साइना ने शनिवार को ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधु (PV Sindhu) को हराकर 83वीं सीनियर नेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप (83rd National Badminton Championship) का महिला सिंगल्स खिताब अपने नाम किया. पिछले साल नागपुर में भी इन दोनों के बीच खिताबी मुकाबला हुआ था. तब भी साइना नेहवाल ही चैंपियन बनी थीं. साइना ने पिछले साल कॉमनवेल्थ गेम्स के गोल्ड मेडल के मुकाबले में भी सिंधु को हराया था. इससे पहले सौरभ वर्मा (Saurabh Verma) ने पुरुष सिंगल्स खिताब जीत लिया. 

दूसरी वरीयता प्राप्त साइना नेहवाल (Saina Nehwal) ने पीवी सिंधु को फाइनल में 21-18, 21-15 से मात दी. उन्होंने 44 मिनट में सिंधु को पराजित किया. साइना ने नागपुर की वैष्णवी भाले को 21-15, 21-14 से हराकर फाइनल में जगह बनाई थी. सिंधु ने सेमीफाइनल में असम की 19 वर्षीय अश्मिता चालिहा को 21-10, 22-20 से हराया. 
 

Saina Nehwal PTI
साइना नेहवाल ने फाइनल मुकाबला महज 44 मिनट में जीत लिया. (फोटो: PTI)

इससे पहले पुरुष सिंगल्स में सौरभ वर्मा ने 17 साल के लक्ष्य सेन (Lakshya Sen) को 21-18, 21-13 से हराकर खिताब जीता. सौरभ ने भी 44 मिनट में यह मुकाबला जीता. सौरभ वर्मा इससे पहले 2011 और 2017 में भी खिताब यह खिताब जीत चुके हैं. लक्ष्य सेन एशियन जूनियर चैंपियन हैं. सौरभ वर्मा ने सीनियर टूर्नामेंट में 2017 में भी लक्ष्य सेन को हराया था. पूर्व चैंपियन सौरभ वर्मा ने मुंबई के कौशल धर्मामर को 21-14, 21-17 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया था.  

यह भी पढ़ें: VIDEO: ईरानी कप की जीत से मिली प्राइजमनी शहीदों के परिवारों को दान करेगी विदर्भ की टीम: फैज फजल

पुरुष सिंगल्स फाइनल में मुकाबला बराबरी का था. दोनों खिलाड़ी काफी आक्रामक खेले. पहले 12 अंक तक स्कोर बराबर रहा. लक्ष्य ने बाद में पांच अंक लेकर स्कोर 11- 6 कर दिया. ब्रेक के बाद सौरभ ने वापसी करते हुए अंतर 11-12 का किया और फिर बढ़त बना ली. लक्ष्य के कमजोर रिटर्न का फायदा उठाकर सौरभ ने पहला गेम अपने नाम किया. दूसरे गेम में सौरभ ने 3-0 की बढ़त बना ली, लेकिन उसकी सहज गलतियों के दम पर लक्ष्य ने वापसी करके स्कोर 4-4 कर लिया. ब्रेक तक सौरभ ने फिर वापसी करके 11-7 की बढ़त बनाई, जब लक्ष्य का स्मैश नेट के भीतर चला गया. 

पुरुष डबल्स का खिताब प्रणव जैरी चोपड़ा और चिराग सेट्टी की जोड़ी के नाम रहा. प्रणव-चिराग ने अर्जुन एमआर और श्लोक रामचंद्रन की जोड़ी को 21-13, 22-20 से हराया. यह मुकाबला 33 मिनट में खत्म हुआ. प्रणाव का यह तीसरा राष्ट्रीय खिताब है.

(इनपुट: आईएएनएस/भाषा)